Shivsanker Shukla Nov 26, 2021

+80 प्रतिक्रिया 23 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Shivsanker Shukla Nov 25, 2021

शुभ गुरुवार की शुभ दोपहर में मंदिर परिवार के सभी आदरणीय भगवत प्रेमी भाई बहन आप सभी को दोपहर की राम राम इस धरती में 8400000 योनियों में मानव शरीर की प्राप्ति परम सौभाग्य का प्रतीक है उस्मान और शरीर के द्वारा परलोक की प्राप्ति संभव है आवागमन के बंधन से मुक्ति का मार्ग प्रशस्त होगा इसे साधन धाम कहा गया है मेरे भाई बहन हाथ और पैर दिन भर संसारी कार्यों में व्यस्त रहते हैं मुख और अंता करण परमात्मा के लिए समर्पित रखिए भगवान श्री कृष्ण जी ने गीता में कहा है जो अंतिम समय मेरा नाम लेकर शरीर त्याग ता है उसे मेरे परम धाम की प्राप्ति होती है इस साधन प्रक्रिया को डालने का प्रयास न करें क्योंकि सांसो का कोई भरोसा नहीं कब रुक जाए मौत बिना बुलाया मेहमान है इस अटल सत्य को झुठला या नहीं जा सकता

+170 प्रतिक्रिया 88 कॉमेंट्स • 66 शेयर