*🔥 #मां_स्कंदमाता_मंत्र:-🙏* *🍁#बीज_मंत्र -: ह्रीं क्लीं स्वमिन्यै नम:* *🍁#ध्यान_मंत्र -: सिंहासना गता नित्यं पद्माश्रि तकरद्वया। शुभदास्तु सदा देवी स्कन्दमाता यशस्विनी।।* *🍁#पूजा_मंत्र -: या देवी सर्वभू‍तेषु मां स्कंदमाता रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।* *🌺सर्वमंगल मांग्लये शिवे सर्वार्थ साधिके। शरण्ये त्र्यम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुति।।जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कृपालिनि। दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोस्तुते।। या देवि सर्वभूतेषु मातृ रूपेण संस्थिता ,नमस्तस्ये नमस्तस्ये, नमस्तस्ये नमो नमः।।* 🔥🍀🔥🍀🔥🍀🔥🍀🔥🍀🔥🍀🔥🍀🔥🍀🔥🍀 *एहि बिधि निज गुन दोष कहि सबहि बहुरि सिरु नाइ। बरनउँ रघुबर बिसद जसु सुनि कलि कलुष नसाइ॥* *#भावार्थ :-* इस प्रकार अपने गुण-दोषों को कहकर और सबको फिर सिर नवाकर मैं श्री रघुनाथजी का निर्मल यश वर्णन करता हूँ, जिसके सुनने से कलियुग के पाप नष्ट हो जाते हैं॥ *🔥#जय_जय_श्रीराम!!🔥* *🙏 #सुप्रभात् 🙏* *🌹#जय_माता_जगदम्बे🌹* *#आपका_दिन_शुक्रवार_मंगलमय_हो🙏* 🙏🌞☕🌞🙏🔱🔱🦚🔱🦚🔱🦚

+10 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 14 शेयर

*❤️शान्ताकारं भुजगशयनं पद्यनाभं सुरेशं विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्णं शुभाङ्गम्।लक्ष्मीकान्तं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यं ,वन्दे विष्णु भवभयहरं सर्वलोकैकनाथम्।।* *#भावार्थ* :- जिनकी आकृति अतिशय शांत है, जो शेषनाग की शैया पर शयन किए हुए हैं, जिनकी नाभि में कमल है, जो ‍देवताओं के भी ईश्वर और संपूर्ण जगत के आधार हैं, जो आकाश के सदृश सर्वत्र व्याप्त हैं, नीलमेघ के समान जिनका वर्ण है, अतिशय सुंदर जिनके संपूर्ण अंग हैं, जो योगियों द्वारा ध्यान करके प्राप्त किए जाते हैं, जो संपूर्ण लोकों के स्वामी हैं, जो जन्म-मरण रूप भय का नाश करने वाले हैं, ऐसे लक्ष्मीपति, कमलनेत्र भगवान-श्रीविष्णु को मैं प्रणाम करता हूँ। ॐ॥ 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 *#चाणक्य_नीति :-* न्यायार्जितस्य द्रव्यस्य बोद्धव्यौ द्वावतिक्रमौ, अपात्रे प्रतिपत्तिश्च पात्रे चाप्रतिपादनम् ॥ *#भावार्थ :-* न्याय और परिश्रम से अर्जित किये गए धन के ये दो दुरूपयोग कहे गए हैं- एक... कुपात्र को दान देना और दूसरा... सुपात्र को आवश्यकता पड़ने पर भी दान न देना।। *🌐 #जंय_श्रीविष्णु 🙏* *🌹🙏🏻 शुभ प्रभात🙏🏻🌹* *☘️#आपका_दिन_गुरुवार_मंगलमय_हो☘️* 🙏🕉️☕☕🕉️🙏

+6 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 15 शेयर

*🌺गजाननं भूतगणादिसेवितं कपित्थजंबूफलचारुभक्षणम्‌।उमासुतं शोकविनाशकारकं नमामि विघ्नेश्वरपादपङ्कजम्‌॥* *☘️ #सुप्रभातम्_मित्रों!☘️* *🌻भगवान गणेश आपकी हर मनोकामना पूर्ण करें!🌻* *#ॐ_गं_गणपतयै_नमः🚩* *#ॐ_गणेशाय्_नमः🚩* ☘️🔥☘️🔥☘️🔥☘️☘️🔥 *#मानस_से :- सो जल सुकृत सालि हित होई। राम भगत जन जीवन सोई॥ मेधा महि गत सो जल पावन। सकिलि श्रवन मग चलेउ सुहावन॥ भरेउ सुमानस सुथल थिराना। सुखद सीत रुचि चारु चिराना॥* *#भवार्थ :-* वह (राम सुयश रूपी) जल सत्कर्म रूपी धान के लिए हितकर है और श्री रामजी के भक्तों का तो जीवन ही है। वह पवित्र जल बुद्धि रूपी पृथ्वी पर गिरा और सिमटकर सुहावने कान रूपी मार्ग से चला और मानस (हृदय) रूपी श्रेष्ठ स्थान में भरकर वहीं स्थिर हो गया। वही पुराना होकर सुंदर, रुचिकर, शीतल और सुखदाई हो गया॥ *#जय_जय_श्रीराम!!* *🌻🌻#जंयश्रीराम🌻🌻* *#आज_बुधवार_का_दिन_मंगलमय_हो* 🕉️🙏🌞☕🌞🙏🕉️

+16 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 16 शेयर

*❤️अतुलितबलधामं हैमशैलाभदेहमं दनुजवनकृषानुं *ज्ञानिनामग्रगण्यम्!* *सकलगुणनिधानं *वानराणामधीशं रघुपति *प्रियभक्तं वातजातं नमामि!* 🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻 *श्रीहनुमान मन्त्र* *मनोजवंमारुततुल्यवेगं,* *जितेन्द्रियं बुद्धिमतांवरिष्ठम् |* *वातात्मजंवानरयुथमुख्यं,* *श्रीरामदुतंशरणमप्रपद्धे" ||* 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 *क्षुध् र्तृट् आशाः कुटुम्बन्य मयि जीवति न अन्यगाः।* *तासां आशा महासाध्वी कदाचित् मां न मुञ्चति॥* *#भावार्थ* :-भूख, प्यास और आशा मनुष्य की पत्नियाँ हैं जो जीवनपर्यन्त मनुष्य का साथ निभाती हैं। इन तीनों में आशा महासाध्वी है क्योंकि वह क्षणभर भी मनुष्य का साथ नहीं छोड़ती, जबकि भूख और प्यास कुछ कुछ समय के लिए मनुष्य का साथ छोड़ देते हैं। *🙏🌻⛳सुप्रभातम्⛳🌻🙏* *🌷आज मंगलवार का दिन मंगलमय हो🌷* *आप सभी भक्तों पर श्री राम जी की कृप्या दृष्टि हमेशा बनी रहे* *🌹#जय_श्री_राम🌹*🏹⛳🏹⛳ *🌻#जय_वीर_हनुमान🌻*

+6 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 1 शेयर

*🌺कर्पूरगौरं करुणावतारं संसारसारं भुजगेन्द्रहारं।सदा वसन्तं हृदयारविन्दे भवं भवानी सहितं नमामि।।* *🙏🏻#जय_बम_बम_भोले....🚩* *🔱#महामृत्युंजय_मंत्र🔱* ऊँ ञयंबकं यजामहे सुगंधिम् पुष्टिवर्धनं ,उर्वारूकमिवबंधनान्,मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्। ☘️☘️☘️☘️☘️☘️☘️☘️ *🌹#मानस_दर्शन :-* *लोकनीति न चातिप्रणयः* *कार्यः कर्त्तव्योप्रणयश्च ते,* *उभयं हि महान् दो* *सस्त स्मादन्तर दृग्भव।।* *🔥#भावार्थ :-* मृत्यु-पूर्व बालि ने अपने पुत्र अंगद को यह अन्तिम उपदेश दिया था कि तुम किसी से भी सीमा से अधिक प्रेम या अधिक वैर न करना... क्योंकि दोनों ही अत्यन्त अनिष्टकारक होते हैं, सदा मध्यम मार्ग का ही अवलम्बन करना। *🔥जंय श्रीराम🙏🔥* *#🔥 आपको_मंगलमय_सोमवार_की_शुभकामनाएं🔥* *#हर_हर_महादेव🙏* 🕉️🙏🌞☕🌞🙏🕉️

+14 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 9 शेयर