Daksha Vaishya Nov 27, 2021

गुजराती लेवा पटेल कड़वा पटेल हवेली पंथ वाले घनश्याम महाराज भगवान को मानते हे वोह लोग को वैशनव कंठि वाले भि कहते हे राम भक्त जय श्री कृष्णा को घनश्याम का रूप समझते हे हवेली में बाकि बहुत-बहुत देवता ओ कि मूर्ति होति हे लेवा पटेल मतलब राम के दोनों बेटा लेवा लव और कड़वा मतलब कुश लव कुश लव ओरीजनल राम का बेटा सिता जी नदि पर कपड़ा धोने ग्रे तब एक बंदरिया अपने गले चिपकेगा बचा को लेके पानि पी रही दि सिता ने कहा तू पानि पी के अपनी प्यास पूरी करति हे तेरा बचा पानी में गिर जायेगा बंदरिया बोलि गिरेगा तो मेरे सामने पर तु तो अंधा रूसि के भरोसे जोली में सुलाके आती हे जंगल का प्राणी उठाके लेके जायेगा तो तुझे देखने भि नहीं मिलेगा फिर सियाजी लोड के अपना बेटा लव को ले के आगयि उधर कुटिया से निकल अंधा रूसि ने जोलि में बचा नहीं था अब क्या करें देवी सिता को क्या जवाब दुंगा अंधा रूसि ने सुखा कास्ट जमीन से उठाया और उसने भगवान को ना डाली कि जो में पवित्र राम भक्त हूं तो प्रभु ऐ कास्ट बचा बन जाते कचरा कास्ट जोली में डाला अंधे रूसि ने कास्ट डाला जोली में बचे कि आवाज आई मने सांस हूई उधर से सिता आई सब बात बंदरिया कि बताई अब क्या करें देवि आप अपना बचा समजके उसे संभालो पालो ऐ तो लव नाम से पर ऐ कास्ट कचरे का बना उत्पन किया बचा हे नाम क्या देंगे रूसि ने कहा ऐ कास्ट से हुआ ईसलीये उसका नाम कुंश सिता को दो लड़के लव कूश बस आगे रामायण में पढ़ो ईसलीये लेवा पटेल कड़वा पटेल जाता भाई भाई कहलाते हे ऐ पटेल अपनी अपनि जाता में लड़का लडकि की सादी करते थे अब जमाना बदल गया बस अपना पटेल हे चलती का नाम गाड़ी समाचार पत्र समापत हुआ गुड आफटरनुन ज जेम रामदेवजी रणुजा वाला जेय द्वारका धिस ओरेंज ध्वजा वाला सुनने पढ़ने वाले कि सहायता करे मनोकामना पूर्ण करे दक्षा बेन किर्ति कुमार वैश्य मुंबई बेंगलूर से

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर