Manish Tiwari Oct 20, 2021

.★ ︵︷︵︷︵︷︵︷︵​︷︵ 🌞 भोर ~ विचार 🌞 ︶︸︶︸︶︸︶︸︶︸︶ ~ अक्सर लोग ~ अंधविश्वास या भ्रम में पड़कर उल्टा-सीधा करते रहते हैं, और सोचते हैं कि ~ इससे सारे पाप और . कुकर्म धुल जाएँगे ? •┈┈┈•✦✿✦•┈┈┈• 📍 यदि गंगा में नहाने भर से ही 📍 मुक्ति मिल जाती, तो ... सभी मछलियाँ या उसमें रहने वाले जीव जंतु . ★ मोक्ष प्राप्त कर चुके होते. ★ •┈┈┈•✦✿✦•┈┈┈• सत्गुरु .... मुस्कुरा कर जो लच्छेदार बोली की मीठी गोली देते रहते हैं, मधुर गीत और साज़ की थाप पर लोगों को नचाते फिरते हैं, उनमें से बहुतों को ★ जेल की हवा खाते ★ आप देख ही चुके हैं. माना कि ... सभी ऐसे नहीं हैं, लेकिन आज ऐसे लोगों की संख्या ज्यादा है, और अच्छे-बुरों की पहचान मुश्किल है. यदि हिन्दू धर्म की नींव ठोस न होती, तो ... ऐसे लोग न जाने कब का ... इसे रसातल में पहुँचा चुके होते. •┈┈┈•✦✿✦•┈┈┈• ~ आज के दौर में ~ आर्थिक परेशानियों से जूझते हुए जीविकोपार्जन में खटते हुए लोगों से ❗ निवेदन है कि ❗ गृहस्थ जीवन में रहते हुए आप ऐसे पंडितों और संतो के चक्कर में न पड़कर इतना जानिए कि ~ 📍 ~ आज आप जो हैं ~ 📍 ★ वह आपके ही कर्मो की देन है, ★ और आगे जो बनेंगे उसमें भी 👉 आप के पुरुषार्थ और ईश्वरीय कृपा का महत्व होगा. 👈 .•┄┅═══❁✿❁❁✿❁═══┅┄• ╲\╭┓ ╭ 🌸 ╯ ┗╯\╲☆ ● ════════❥ ❥ ❥

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Manish Tiwari Oct 20, 2021

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Manish Tiwari Oct 20, 2021

(¯`•☆•´¯).`•.¸¸.☆•*´¯`.`•.¸¸.☆•*´¯` ❀‼🌋🇮🇳 सुप्रभातम् स्नेह वंदनम् 🇮🇳🌋‼️❀ 🌺🍂☀‼ ૐ जय श्री हरि विष्णु जी ૐ ‼☀🍂🌺 🌺🔔🌺❣ जय मां लक्ष्मी ❣🌺🔔🌺 🙏🌹मधुर❣️नमन❣️वन्दन❣️ ❣️अभिनंदन❣️सादर❣️प्रणाम🌹🙏 ⊰❉⊱•═•⊰❉⊱•═•⊰❉⊱•═•⊰❉⊱•═•⊰❉⊱ ‼❣ कार्तिक : दान-पुण्य का महीना ❣‼ ✤🙏┈┈┈••✦🙏✦••┈┈┈┈┈🙏✤ कार्तिक महीना शरद पूर्णिमा से आरंभ हो जाता है और भगवान कृष्ण के लिए इस महीने का सबसे ज्यादा महत्व है। उन्होंने इस महीने में सबसे ज्यादा लीलाएं इस धराधाम पर कीं, भगवान विष्णु और राधारानी को भी यह महीना सबसे अधिक पसंद है। भगवान विष्णु ने इसमें मस्य अवतार लिया था और राधारानी को यह महीना इसलिए पसंद है क्योंकि इसमें भगवान कृष्ण ने विलक्षण लीलाएं की हैं। तुलसी महारानी के लिए भी यह महीना बेहद महत्व रखता है। तुलसी महारानी का प्राकट्य धराधाम पर कार्तिक की शरद पूर्णिमा के दिन ही हुआ था। कार्तिक की शरद पूर्णिमा सबसे अधिक महत्व इसलिए है क्योंकि इस पावन दिवस पर भगवान कृष्ण ने महारास रचाया था। इस दिन वैसे भी चांद की किरणों की शोभा निराली होती है। चांद का यौवन और शीतलता अद्भुत होती है। इस रात्रि वैष्णव भक्त खीर बनाकर उसे चंद्रमा की किरणों से आपुरित करके अगले दिन यह अमृत प्रसाद पाते हैं। कार्तिक पूर्णिमा के दिवस पर स्वयं भगवान श्रीकृष्ण तुलसी महारानी की पूजा निम्नलिखित मंत्र से करते हैं :- वृंदावनी, वृंदा, विश्वपूजिता, पुष्पसार। नंदिनी, कृष्णजीवनी, विश्वपावनी, तुलसी। इस मंत्र से पूर्णिमा के दिन जो भी श्रद्धालु तुलसी महारानी की पूजा करता है वह जन्म-मृत्यु के चक्र से मुक्त होकर गोलोक वृंदावन जाने का अधिकारी बनता है। पद्म पुराण के अनुसार कार्तिक महीने में कई कल्पों को एकत्रित करते हुए पाप दामोदर कृष्ण को दीपदान करने से समाप्त हो जाते हैं। पद्म पुराण में कृष्ण और सत्यभामा के बीच संवाद से कार्तिक महीने में दीपदान के अद्भुत फलों का रहस्य खुलता है। पूरे कार्तिक महीने भगवान कृष्ण को (जो कि दामोदार भाव में होने चाहिए) दीया दिखाने से अश्वमेघ यज्ञ के फल से भी अधिक लाभ मिलता है। दामोदर भाव वाले कृष्ण यशोदा के द्वारा ऊखल से बांधे गए थे, लेकिन अपने भक्तों के दीपदान से वे उनको सांसारिक सभी बंधनों से छुटकारा दिला देते हैं। पद्म पुराण के अनुसार कार्तिक में दीपदान करने वाले श्रद्धालु के पितर और अन्य परिजन कभी नरक का मुंह नहीं देखते। पूरे महीने दीपदान करके कोई भी श्रद्धालु अपनी संपत्ति दान देने के बराबर फल प्राप्त कर सकता है। जो श्रद्धालु किसी अन्य व्यक्ति को दीपदान के लिए अगर प्रेरित करता है तो उसे अग्निस्तोम यज्ञ का फल मिलता है। गंगा या पुष्कर में स्नान करने के भी कार्तिक में बहुमूल्य लाभ हैं। इस स्थानों में स्नान करने से श्रद्धालुओं को अनगिनत पुण्य की प्राप्ति होती है। स्कन्द पुराण में ब्रह्मा जी और नारद के बीच कार्तिक मास में दीपदान की महिमा को लेकर खासी चर्चा हुई है। उनके अनुसार ज्येष्ठ-आषाढ़ के जल दान या फिर पूरा अन्न दान के बराबर फल केवल दीपदान से मिल जाता है। इसके अतिरिक्त ब्रह्मा जी ने दीपदान को राजसुय यज्ञ और अश्वमेघ यज्ञ के समान बताया गया है। पूरे साल भर में तपस्या और भक्ति के लिए निर्दिष्ट चार महीनों यानी चातुर्मास के तीन महीनों का फल अकेले कार्तिक मास में भगवान की सेवा करके प्राप्त किया जा सकता है। विशेष कर कार्तिक माह के आखिरी पांच दिनों, जो कि भीष्म पंचक कहलाता है उसमें की गई तपस्या का फल पूरे साल की तपस्या के बराबर है। ‼❣ ૐ जय श्री हरिः ❣‼ ‼🌹‼🌹‼🌹‼🌹‼ 🌷❣ मंगलमय दिन की बधाई एवं शुभकामनाएँ ❣🌷 🌋🕉🌋🕉🌋🕉🌋🕉🌋

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Manish Tiwari Oct 12, 2021

(¯`•☆•´¯).`•.¸¸.☆•*´¯`.`•.¸¸.☆•*´¯` ‼🌋 सुप्रभातम् स्नेह वंदनम् 💥‼ ‼💥 शुभ मंगलवार 💥‼ 🌹 ●*.¸.*✻ღϠ₡ღ¸.✻´´¯`✻.¸¸ღ¸.✻´´¯`✻●🌹 ‼❣️ जय महाबली हनुमान ❣️‼❣️ जय श्री Զเम ❣️‼ ❣️🙏‼ Զเम Զเम ❣️‼❣️ Զเम Զเम ‼🙏❣️ ❣️‼❣️ प्रेम से बोलो जय श्री Զเम ❣️‼❣️ 💞💥🌹💞🌹💥🐍💥🌹💞🌹💥 पवन पुत्र जिनका नाम हैं, तिरुपति जिनका धाम हैं, स्वामी जिनके Զเम हैं, बड़े वो भक्त महान हैं..॥ ले दो अक्षर का नाम सफल तेरे काम भी होंगे, जहां #Զเम की चर्चा होगी वहां #हनुमान भी होंगे। संकट मोचन हनुमान जी का आशीर्वाद हमेशा बना रहे Զเम सिया Զเम सिया Զเम जय जय Զเम ‼ ❣️‼❣️ सियापति Զเम जय जय Զเम मेरे प्रभु Զเम जय जय Զเम ❣️‼❣️ ‼🌹‼🌹‼🌹‼🌹‼ 🌷❣️ मंगलमय दिन की बधाई एवं शुभकामनाएँ ❣️🌷 🌋🕉🌋🕉🌋🕉🌋🕉🌋🕉🌋

+5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Manish Tiwari Oct 12, 2021

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 3 शेयर