शनिदेवजी

Sharda Dubey Sep 23, 2022

+18 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 26 शेयर
Prabhat Kumar Sep 23, 2022

🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 🚩🚩🚩🚩🚩 *#ऊँ_शं_शनैश्चराय_नमः* 🚩🚩🚩🚩🚩 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 *🌜मधुर सपनों के साथ शुभ रात्रि प्रिय आदरणीय साथियों 🌛* 🌠🌘🌠🌘🌠🌘🌠🌘🌠🌘🌠🌘🌠🌘🌠🌘🌠🌘🌠 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 *#पुराणों_अनुसार :#शनिदेव के सिर पर स्वर्णमुकुट, गले में माला तथा शरीर पर नीले रंग के वस्त्र और शरीर भी इंद्रनीलमणि के समान। यह गिद्ध पर सवार रहते हैं। इनके हाथों में धनुष, बाण, त्रिशूल रहते हैं। #शनि को 33 देवताओं में से एक #भगवान_सूर्य का पुत्र माना गया है। उनकी बहन का नाम #देवी_यमुना है। #यमुना के नाम पर ही एक नदी का नाम #यमुना रखा गया है।* 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 *पुराणों में वैसे तो #शनि के संबंध में कई विरोधाभासिक कथाएं मिलती है। ब्रह्मपुराण के अनुसार इनके पिता ने चित्ररथ की कन्या से इनका विवाह कर दिया। इनकी पत्नी परम तेजस्विनी थी। एक रात वे पुत्र-प्राप्ति की इच्छा से इनके पास पहुंचीं, पर ये #विष्णु के ध्यान में निमग्न थे। पत्नी प्रतीक्षा करके थक गई। उनका ऋतुकाल निष्फल हो गया।* 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 *इसलिए पत्नी ने क्रुद्ध होकर #शनिदेव को शाप दे दिया कि आज से जिसे तुम देख लोगे, वह नष्ट हो जाएगा। लेकिन बाद में पत्नी को अपनी भूल पर पश्चाताप हुआ, किंतु शाप के प्रतीकार की शक्ति उसमें न थी, तभी से #शनि_देवता अपना सिर नीचा करके रहने लगे। क्योंकि ये नहीं चाहते थे कि इनके द्वारा किसी का अनिष्ट हो।* 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 *हालांकि #शनि की दृष्टी एक बार #शिव पर पड़ी तो उनको बैल बनकर जंगल-जंगल भटकना पड़ा। #रावण पर पड़ी तो उनको भी असहाय बनकर मौत की शरण में जाना पड़ा। यदि #भगवान_शनि किसी को क्रुध होकर देख लें तो समझों उसका बंटा ढाल। मात्र #हनुमानजी ही एक ऐसे देवता हैं जिन पर #शनि का कोई असर नहीं होता और वे अपने भक्तों को भी उनके असर से बचा लेते हैं।* 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 *#नोट : उक्त जानकारी सोशल मीडिया से प्राप्त किया गया है।* 📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰 *( इस आलेख में दी गई जानकारियाँ धार्मिक आस्था और लौकिक मान्यताओं पर आधारित है जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है। )* 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩

+7 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 5 शेयर