gajrajg
gajrajg Dec 23, 2021

💐💐जय श्री साईं राम💐💐

💐💐जय श्री साईं राम💐💐

+72 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 297 शेयर

कामेंट्स

Madhu Hans Dec 23, 2021
Om Sai Ram. 🌹🌹🙏🏻🙏🏻🌹🌹

ब्रह्म वत्स Dec 23, 2021
सबसे बड़ा पाखंड साँई कटोरे व चढावे वाले बाबा मित्रो साईं भक्त ही साईं पाखंडी का सबसे ज्यादा अपमान करते है…. क्युकी वो साईं के एक भी कर्म का पालन नहीं करते है…. देखिये किस प्रकार कब्र में सड़ चुकी उसकी लाश को कितना दुःख होगा ….  हर भगवान् को उनके पसंदीदा भोज से भोग लगाया जाता है,फिर साईं भक्त साईं को बिरियानी, मछली, बकरे का भोग क्यों नहीं लगाते…? (अध्याय 7,11) साईं कभी भगवा वस्त्र नहीं पहनता था,हफ्तों नहीं नहाता था ।फिर साईं की फोटो भगवा वस्त्रो में क्यों बनाते है साईं भक्त…? (अध्याय-6,7) साईं ही खुद को सृष्टिकर्ता, इश्वर कहता था, कभी राम जी को महान नहीं कहा, फिर उसे राम जी के नाम के साथ क्यों फेमस किया जा रहा है,,,, (अध्याय-3से लेकर सभी देख लो) हिन्दुओ से कहता था की मै ही इश्वर हु। पर मुसलमानों से (और सभी से) अल्लाह को मालिक क्यों कहता था…? मतलब हिन्दुओ के लिए खुद पर मुसलमानों के लिए वो भगवान् क्यों नहीं था…?  साईं किसी को भी कही भी तीर्थ (किसी भी धार्मिक स्थल ) पर नहीं जाने देता था। फिर साईं भक्त क्यों विष्णु,शिव,किसी अन्य के मंदिर और तीर्थ जाते है…?(अध्याय-3,5,6) घोर अपमान -पूरी सत्चारित में साईं ने कही भी साईं ने ॐ नहीं कहा। फिर उसके साथ ॐ लगाकर क्यों इसकी लाश को दुःख पहुचाते है…?

ब्रह्म वत्स Dec 23, 2021
@ushasharma4 मित्रो साईं भक्त ही साईं पाखंडी का सबसे ज्यादा अपमान करते है…. क्युकी वो साईं के एक भी कर्म का पालन नहीं करते है…. देखिये किस प्रकार कब्र में सड़ चुकी उसकी लाश को कितना दुःख होगा ….  हर भगवान् को उनके पसंदीदा भोज से भोग लगाया जाता है,फिर साईं भक्त साईं को बिरियानी, मछली, बकरे का भोग क्यों नहीं लगाते…? (अध्याय 7,11) साईं कभी भगवा वस्त्र नहीं पहनता था,हफ्तों नहीं नहाता था ।फिर साईं की फोटो भगवा वस्त्रो में क्यों बनाते है साईं भक्त…? (अध्याय-6,7) साईं ही खुद को सृष्टिकर्ता, इश्वर कहता था, कभी राम जी को महान नहीं कहा, फिर उसे राम जी के नाम के साथ क्यों फेमस किया जा रहा है,,,, (अध्याय-3से लेकर सभी देख लो) हिन्दुओ से कहता था की मै ही इश्वर हु। पर मुसलमानों से (और सभी से) अल्लाह को मालिक क्यों कहता था…? मतलब हिन्दुओ के लिए खुद पर मुसलमानों के लिए वो भगवान् क्यों नहीं था…?  साईं किसी को भी कही भी तीर्थ (किसी भी धार्मिक स्थल ) पर नहीं जाने देता था। फिर साईं भक्त क्यों विष्णु,शिव,किसी अन्य के मंदिर और तीर्थ जाते है…?(अध्याय-3,5,6) घोर अपमान -पूरी सत्चारित में साईं ने कही भी साईं ने ॐ नहीं कहा। फिर उसके साथ ॐ लगाकर क्यों इसकी लाश को दुःख पहुचाते है…?

+20 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 124 शेयर
RANJNA Jan 25, 2022

+199 प्रतिक्रिया 22 कॉमेंट्स • 157 शेयर
Dilip Giri Jan 25, 2022

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 35 शेयर
Meena Sharma Jan 25, 2022

+29 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 122 शेयर
अरूण झा Jan 25, 2022

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 28 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB