S C TRIPATHI
S C TRIPATHI Aug 11, 2022

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🔱🤱Ⓜ️ 26 सितंबर 2022 शुभ सोमवार हर हर महादेव जय मां शैलपुत्री 🌺👣🌷🪷🥀 🌷🌺जय मांशैलपुत्री नवरात्रि के प्रथम दिवस की🥀🌷 हार्दिक शुभकामनाएं, प्रथम🥀 नवरात्र सोमवार व्रत शरद ऋतु अग्रसेन जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं🪷🌺🪷 🌺⚛️ आपका दिन मंगलमय हो/मां शैलपुत्री एवं भगवान भोलेनाथ जी की कृपा दृष्टि आप पर सदैव बनी रहे जी 🕉️ आप के सभी कार्य संपन्न हों।। 🥀🪷🌷 🙏 जय मां अंबे जय जगदंबे जय मां काली जय दुर्गा माता की सदा ही जय हो 🚩〽️🌷👣🌷 〽️🚩👣जय मां शेरावाली पहाड़ों वाली मैया शारदा!! भवानी,"और मां संतोषी जी की कृपा दृष्टि सदैव बनी रहे// ,⚜️🥀पग पग फूल खिले हर खुशी आपको मिले कभी ना *हो* दुखों का सामना यही है।। इस नवरात्रि की🪷🤱 शुभकामना 🔸हैप्पी _नवरात्रि माता रानी के प्रथम स्वरूप मां शैलपुत्री की कृपा आप और 🥀⚜️🥀⚜️🥀⚜️🥀⚜️🥀⚜️🥀⚜️🥀⚜️आपके परिवार पर बनी रहे जी ! 〽️🤱 आपका आने वाला पल खुशियों से भरा हो// इसी मनोकामना के साथ सितंबर महीने के चौथे एवं आखिरी// सोमवार की सुबह सुबह की राम राम जी//🥀⚜️🥀 🕉️🌷🕉️शुभ प्रभात शुभ सोमवार शुभकामनाएं जी 🏆 🎰👣🚩 जय माता दी स्पेशल नवरात्रि 🚩👣🎰 🚩🚩❇️❇️ देवी दर्शन शुभकामनाएं ❇️❇️🚩🚩 🏆🕉️🌷🕉️🌷🕉️🌷🕉️🌷🕉️🌷🕉️🌷🕉️🌷🏆

+22 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 52 शेयर

. नवरात्रि का पहला दिन माता का पहला स्वरूप "माँ शैलपुत्री" देवी शैल पुत्री का वर्णन हमें ब्रह्म पुराण में मिलता है। पुराण के अनुसार चैत्र प्रतिपदा के प्रथम सूर्योदय पर ब्रह्मा ने संसार की रचना की थी। माना जाता है कि इसी दिन श्रीराम का राज्याभिषेक हुआ था। नवरात्र की प्रथम देवी शैलुपुत्री मानव मन पर अपनी सत्ता रखती हैं। उनका चंद्रमा पर भी आधिपत्य माना जाता है। शैलपुत्री पार्वती का ही रूप हैं। पर्वतराज हिमालय के घर में जन्म लेने के कारण इन्हें शैलपुत्री कहा जाता है। कथा है कि देवी पार्वती शिव से विवाह के पश्चात हर साल नौ दिन अपने मायके यानी पृथ्वी पर आती थीं। नवरात्र के पहले दिन पर्वतराज अपनी पुत्री का स्वागत करके उनकी पूजा करते थे, इसलिए नवरात्र के पहले दिन मां के शैलपुत्री रुप की पूजा की जाती है। श्वेतवर्ण शैलपुत्री के सर पर सोने के मुकुट में त्रिशूल सुशोभित है। इनके दाएं हाथ में त्रिशूल, बाएं हाथ में कमल सुशोभित है। मान्यता है कि शैलपुत्री की पूजा से व्यक्ति को सुख, सुविधा, माता, घर, संपत्ति, में लाभ मिलता है। मनोविकार दूर होते हैं। इन्हें सफेद फूल चढ़ाएँ, गाय के घी का दीपक जलाएँ। दूध-शहद और खोए की मिठाई का भोग लगाएँ। "जय माता दी" ************************************************ "श्रीजी की चरण सेवा" की सभी धार्मिक, आध्यात्मिक एवं धारावाहिक पोस्टों के लिये हमारे पेज से जुड़े रहें तथा अपने सभी भगवत्प्रेमी मित्रों को भी आमंत्रित करें👇

+36 प्रतिक्रिया 21 कॉमेंट्स • 138 शेयर
Babulal Sep 26, 2022

+8 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 26 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB