parteek kaushik
parteek kaushik Sep 20, 2021

🙏*जय श्री राधेकृष्णा*🙏*शुभ संध्या नमन*🙏 *श्याम पिया मोरी रंग दे चुनरिया.... बहुत ही सुंदर भजन*👍 *(अकल्पनीय-अद्भुत)*.....*ऐसा मंदिर जहां भूख से दुबले हो जाते हैं श्रीकृष्ण*...... –----------------------------------------- *यह विश्व का ऐसा अनोखा मंदिर है जो 24 घंटे में मात्र दो मिनट के लिए बंद होता है। यहां तक कि ग्रहण काल में भी मंदिर बंद नहीं किया जाता है।* *कारण यह कि यहां विराजमान भगवान कृष्ण को हमेशा तीव्र भूख लगती है। भोग नहीं लगाया जाए तो उनका शरीर सूख जाता है। अतः उन्हें हमेशा भोग लगाया जाता है, ताकि उन्हें निरंतर भोजन मिलता रहे। साथ ही यहां आने वाले हर भक्त को भी प्रसादम् (प्रसाद) दिया जाता है। बिना प्रसाद लिये भक्त को यहां से जाने की अनुमति नहीं है। मान्यता है कि जो व्यक्ति इसका प्रसाद जीभ पर रख लेता है, उसे जीवन भर भूखा नहीं रहना पड़ता है। श्रीकृष्ण हमेशा उसकी देखरेख करते हैं।* *डेढ़ हजार वर्ष पुराना मंदिर* *केरल के कोट्टायम जिले के तिरुवरप्पु में स्थित यह मंदिर लगभग डेढ़ हजार साल पुराना है।* *लोक मान्यता के अनुसार कंस वध के बाद भगवान श्रीकृष्ण बुरी तरह से थक गए थे। भूख भी बहुत अधिक लगी हुई थी। उनका वही विग्रह इस मंदिर में है। इसलिए मंदिर सालों भर हर दिन मात्र खुला रहता है।* *मंदिर बंद करने का समय दिन में 11.58 बजे है। उसे दो मिनट बाद ही ठीक 12 बजे खोल दिया जाता है। पुजारी को मंदिर के ताले की चाबी के साथ कुल्हाड़ी भी दी गई है। उसे निर्देश है कि ताला खुलने में विलंब हो तो उसे कुल्हाड़ी से तोड़ दिया जाए। ताकि भगवान को भोग लगने में तनिक भी विलंब न हो।* *चूंकि यहां मौजूद भगवान के विग्रह को भूख बर्दाश्त नहीं है, इसलिए उनके भोग की विशेष व्यवस्था की गई है। उनको 10 बार नैवेद्यम (प्रसाद) अर्पित किया जाता है।* *मंदिर खोले रखने की व्यवस्था आदि शंकराचार्य की* *ऐसा मंदिर जहां श्रीकृष्ण से भूख बर्दाश्त नहीं होता है। पहले यह आम मंदिरों की तरह बंद होता था। विशेष रूप से ग्रहण काल में इसे बंद रखा जाता था। तब ग्रहण खत्म होते-होते भूख से उनका विग्रह रूप पूरी तरह सूख जाता था। कमर की पट्टी नीचे खिसक जाती थी।* *एक बार उसी दौरान आदि शंकराचार्य मंदिर आए। उन्होंने भी यह स्थिति देखी। तब उन्होंने व्यवस्था दी कि ग्रहण काल में भी मंदिर को बंद नहीं किया जाए। तब से मंदिर बंद करने की परंपरा समाप्त हो गई।* *भूख और भगवान के विग्रह के संबंध को हर दिन अभिषेकम के दौरान देखा जा सकता है। अभिषेकम में थोड़ा समय लगता है। उस दौरान उन्हें नैवेद्य नहीं चढ़ाया जा सकता है। अतः नित्य उस समय विग्रह का पहले सिर और फिर पूरा शरीर सूख जाता है। यह दृश्य अद्भुत और अकल्पनीय सा प्रतीत होता है लेकिन है पूर्णतः सत्य।* *प्रसादम् लेने वाले के भोजन की श्रीकृष्ण करते हैं चिंता* *इस मंदिर के साथ एक और मान्यता जुड़ी हुई है कि जो भक्त यहां पर प्रसादम चख लेता है, फिर जीवन भर श्रीकृष्ण उसके भोजन की चिंता करते हैं। यही नहीं उसकी अन्य आवश्यकताओं का भी ध्यान रखते हैं।* *प्राचीन शैली के इस मंदिर के बंद होने से ठीक पहले 11.57 बजे प्रसादम् के लिए पुजारी जोर से आवाज लगाते हैं। इसका कारण मात्र यही है कि यहां आने वाला कोई भक्त प्रसाद से वंचित न हो जाए। यह अत्यंत रोचक है कि भूख से विह्वल भगवान अपने भक्तों के भोजन की जीवन भर चिंता करते हैं।* *उनके अपनी भूख की यह हालत है कि उसे देखते हुए मंदिर को नित्य दो मिनट बंद रखा जाता है। इसका कारण भगवान को सोने का समय देना है। अर्थात इस मंदिर में वे मात्र दो मिनट सोते हैं।* *ठाकुर बांके बिहारी लाल की जय !!* 🌺🙏*जय-जय श्री राधेकृष्णा*🙏🌺

+86 प्रतिक्रिया 27 कॉमेंट्स • 42 शेयर

कामेंट्स

GOVIND CHOUHAN Sep 20, 2021
Jai Shree Radhe Radhe Krishan Mohan Murari Jiii 🌺🙏🌺🙏🌺🙏🌺🙏🙏 Shubh Sandhiya Vandan Pranaam Jiii Didi 👏👏

M. K. MALHOTRA Sep 20, 2021
Radhey Krishna Ji. Good Evening My Dear Sweet Sister. God Bless You And Your Family

Shyam Pandit0174gmailcom Sep 20, 2021
ओम नम शिवाय राम राम ज़ी ईश्वर आप सभी को खुश रेख जी

B L Yadav.(CMO) Sep 20, 2021
JAI SHRI RADHE RADHE 🙏🙏 Shubh Sandhya Vandan 🙏🙏

Shivsanker Shukla Sep 20, 2021
शुभ संध्या आदरणीय बहन राधे-राधे

Shivsanker Shukla Sep 20, 2021
पित्र पक्ष के प्रथम दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं बहन

R C GARG Sep 20, 2021
जय श्री कृष्णा !! शुभ संध्या वंदन जी !! 🙏🌷👍🌷👍🙏🌷🙏🌷🙏🌷🙏

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Sep 20, 2021
Good Morning My Sister ji 🙏🙏 Jay Shree Radhe Radhe Radhe 🙏🙏🌹🌹 God Bless you and your Family Always Be Happy My Sister ji 🙏 Aapka Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹💐💐💐🥀🥀🥀🌷🌷🌷🌹🌹.

PAWAN GUPTA Sep 20, 2021
जय श्री राधे कृष्णा🌹🙏 शुभ संध्या वन्दन जी🌹🙏

ILA SINHA❤️ Sep 20, 2021
🌿🌺Om Namah Shivay 🌺🌿 🌿🌺 Har har Mahadev 🌺🌿 🌿🌺 Good evening🌺🌿

कुसुम Sep 20, 2021
राधे राधे गुड नाइट शुभ रात्रि मंगलमय हो जी

madan pal 🌷🙏🏼 Sep 21, 2021
जय श्री राधे कृष्णा जी शूभ प्रभात वंदन जी 🌹🌹🌹🌹🙏🏼🙏🏼🙏🏼

Sudhir Sharma Oct 25, 2021

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 30 शेयर
sanjay Awasthi Oct 25, 2021

+76 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 18 शेयर
Saroj Kumari singh Oct 25, 2021

*_भारतीय संस्कृति के संस्मरण सुमन_* *कस्तूरी कुण्डल बसे, मृग ढूँढे बन माँहि !!* एक बार भगवान दुविधा में पड़ गए। लोगों की बढ़ती साधना वृत्ति से वह प्रसन्न तो थे पर इससे उन्हें व्यावहारिक मुश्किलें आ रही थीं। कोई भी मनुष्य जब मुसीबत में पड़ता,तो भगवान के पास भागा-भागा आता और उन्हें अपनी परेशानियां बताता। उनसे कुछ न कुछ मांगने लगता। भगवान इससे दुखी हो गए थे। अंतत: उन्होंने इस समस्या के निराकरण के लिए देवताओं की बैठक बुलाई और बोले- देवताओं !! मैं मनुष्य की रचना करके कष्ट में पड़ गया हूं। कोई न कोई मनुष्य हर समय शिकायत ही करता रहता है, जिससे न तो मैं कहीं शांति पूर्वक रह सकता हूं,न ही तपस्या कर सकता हूं। आप लोग मुझे कृपया ऐसा स्थान बताएं जहां मनुष्य नाम का प्राणी कदापि न पहुंच सके। प्रभू के विचारों का आदर करते हुए देवताओं ने अपने-अपने विचार प्रकट किए। गणेश जी बोले- आप हिमालय पर्वत की चोटी पर चले जाएं। भगवान ने कहा- यह स्थान तो मनुष्य की पहुंच में है। उसे वहां पहुंचने में अधिक समय नहीं लगेगा। इंद्रदेव ने सलाह दी कि वह किसी महासागर में चले जाएं।" वरुण देव बोले आप अंतरिक्ष में चले जाइए। भगवान ने कहा- एक दिन मनुष्य वहां भी अवश्य पहुंच जाएगा। भगवान निराश होने लगे थे। वह मन ही मन सोचने लगे- क्या मेरे लिए कोई भी ऐसा गुप्त स्थान नहीं है, जहां मैं शांतिपूर्वक रह सकूं ? अंत में सूर्य देव बोले- प्रभू !! आप ऐसा करें कि मनुष्य के हृदय में बैठ जाएं। मनुष्य अनेक स्थान पर आपको ढूंढने में सदा उलझा रहेगा। पर वह यहाँ आपको कदापि न तलाश करेगा। ईश्वर को सूर्य देव की बात पसंद आ गई। उन्होंने ऐसा ही किया। वह मनुष्य के हृदय में जाकर बैठ गए। उस दिन से मनुष्य अपना दुख व्यक्त करने के लिए ईश्वर को ऊपर, नीचे, दाएं,बाएं,आकाश, पाताल में ढूंढ रहा है पर वह मिल नहीं रहे। मनुष्य अपने भीतर बैठे हुए ईश्वर को नहीं देख पा रहा है। *_प्रस्तुति - गौरवशाली गुरुकुल* चलिये थोड़ा हवाईजहाज की सैर कर लें🙏🙏 .

+9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 56 शेयर
Shuchi Oct 25, 2021

+21 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 19 शेयर
sanjay Awasthi Oct 24, 2021

+100 प्रतिक्रिया 25 कॉमेंट्स • 34 शेयर

+29 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 87 शेयर
kamlesh goyal Oct 24, 2021

+45 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 21 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB