Kailash Pandey
Kailash Pandey Oct 26, 2021

🌹🌹🙏🙏🚩Om Shri ganeshay Namah🌹🌹🙏🙏🌹🌹 Shubh Budhwar 🌹🌹🙏🙏🚩🚩🌹🌹🙏🙏Shubh Prabhat Vandan🌹🌹🙏🙏🚩

+148 प्रतिक्रिया 32 कॉमेंट्स • 172 शेयर

कामेंट्स

ILA SINHA Oct 27, 2021
🌿💞 Jai Shree Ganesh 💞🌿 🌿💞 Good morning uncle💞🌿 🌿💞 Happy Wednesday 💞🌿

Renu Singh Oct 27, 2021
Jai Shree Ganesh Ji 🙏🌹 Shubh Prabhat Vandan Bhai Ji Ganesh Ji Ka Aashirwad Aap Sapriwar Pr Sadaiv Bana Rahe Aàpka Din Shubh Avam Mangalmay ho Bhai Ji 🙏🌹

Renu Singh Oct 27, 2021
Bahut Sundar Prastuti Bhai Ji 👌👌👌👌👌👌👌🌹🌹🙏🙏

Vijay Sharma_9737329188 Oct 27, 2021
@kailashpandey11 जय श्रीगणेश जी🌹⚜️🙏 सुप्रभात🌺स्नेहवन्दन जी🌹☘️🌿🌞 आपका दिन शुभ-मंगल एवम कल्याणकारी हो🌸🌼🍀 श्री गणपति महाराज जी की कृपादृष्टि एवं आशीर्वाद सदा ही आप व आपके परिवार पर बना रहे🌺🌸🙏 आप स्वस्थ, सुखी एवं मस्त रहें😊😇🤗 आपके जीवन की हर मनोकामना पूर्ण हो और हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त करें🌿☘️🌼🙏

SANTOSH YADAV Oct 27, 2021
जय श्री गणेश शुभ बुधवार वंदन जी

Manoj Gupta AGRA Oct 27, 2021
jai shree radhe krishna ji 🙏🙏🌷🌸💐🌀 shubh dophar vandan ji 🙏🙏🌷🌸

🇮🇳🇮🇳GEETA DEVI 🇮🇳🇮🇳 Oct 27, 2021
🏵🙏OM SHREE GANESHAYE NAMAH🙏🏵 SUBH SANDHAYA... 🔔🔔🎉 🤗🤗🥀🍫🍫🥀🤗🤗 🌷🌷🙏GANPATI BAPPA APKO DHIRGHAYU PARDAN KARE OR APKA JIVAN SADA BHAKTIMAYE OR ANANDMAYE BANAYE RAKHE MERE PYARE BADE AADARNIYE BHAIYA JI🙏🌷🌷 💐💐🏵🌸🙏🌸🏵💐💐

Anup Kumar Sinha Oct 27, 2021
जय श्री गणेश 🙏🏻🙏🏻 शुभ संध्या वंंदन, भाई जी । गौरीनंदन भगवान गणेश की कृपा से आपके सभी कार्य निर्विघ्न सम्पन्न हों ।आपका हर दिन, हर पल शुभ हो 🙏🏻🍁

🔹🌼🇮🇳हरि प्रिय पाठक🇮🇳🌼🔹 Oct 27, 2021
❇️🍁।।श्री गणेशाय नमः🍁❇️ 💮शुभ संध्या वंदन💮 🥀🏵️स्प्रेम राम राम जी🏵️🥀 :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: 🌿भारतभूमि कई सिद्ध आत्माओं की जन्मभूमि रही है. इसे ऋषि मुनियों की कर्म भूमि होने का सौभाग्य प्राप्त रहा है. ऐसे ही एक महान संत हुए बाबा नीब करौरी महाराज जी, जिनकी दिव्यता के मुरीद भारतभूमि से लेकर पूरे विश्व के जनमानस रहे. एप्पल कंपनी के संस्थापक स्टीव जॉब्स और फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग, बाबा नीब करौरी महाराज को अपनी आध्यात्मिक चेतना का केंद्र बताते हुए आए हैं. नीब करौरी महाराज जी को उनके भक्त महाराज जी के नाम से संबोधित करते हैं. महाराज जी का जन्म सन 1900 में अकबरपुर गांव, फ़िरोज़ाबाद ज़िला, उत्तरप्रदेश के एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था. उनके पिताजी का नाम दुर्गा प्रसाद शर्मा था.परिवार वालों ने महाराज जी का नाम लक्ष्मण दास शर्मा रखा था. ग्यारह वर्ष की आयु में बालक लक्ष्मण दास का विवाह करा दिया गया. लेकिन उनका मन गृहस्थ जीवन में नहीं लगा और उन्होंने गृह त्याग दिया. कुछ वक़्त साधु की तरह भटकने के बाद, पिता दुर्गा प्रसाद शर्मा की विनती पर लक्ष्मण दास घर लौट आए और सांसारिक जीवन जीने लगे. मगर नियति में आध्यात्मिक संसार और जीवन लिखा था. सन 1958 में महाराज जी ने सांसारिक जीवन त्याग दिया.उन्होंने पूरे उत्तर भारत की यात्रा की। यहां एक रोचक प्रसंग मिलता है. जब महाराज जी अपने गांव से उत्तर भारत की यात्रा पर निकले तो टिकट कलेक्टर ने उन्हें फर्रुखाबाद जनपद के गांव नीब करौरी के निकट ट्रेन से उतार दिया. महाराज जी के पास ट्रेन का टिकट नहीं था। महाराज जी उतर गए. मगर फिर ट्रेन नहीं चल सकी. यात्रियों ने टीसी से कहा कि यह एक महान संत हैं और इनकी आज्ञा के बिना अब यह ट्रेन नहीं चलने वाली. टीसी ने तब महाराज जी से क्षमा याचना की और ट्रेन को चलने की आज्ञा देने की विनती की. इस पर महाराज जी ने दो शर्त रखी. पहली यह कि नीब करौरी को एक रेलवे स्टेशन घोषित किया जाए.और आगे से साधु महात्माओं से अच्छी तरह से पेश आया जाए. रेलवे अधिकारियों ने दोनों शर्त मान ली और फिर ट्रेन चल पड़ी. अपनी यात्राओं के दौरान महाराज जी अलग अलग स्थानों पर रुकते. उनके अलग अलग नाम रखे गए. भक्त अपनी श्रद्धा अनुसार उनको पुकारता.महाराज जी प्रभु श्री राम और हनुमान जी की भक्ति करते थे. अपने भक्तो को हनुमान चालीसा पढ़ने की सलाह देते थे.गुजरात में तपस्या करने के बाद महाराज जी ने अपने दो आश्रम स्थापित किए. फर्रुखाबाद और कैंची में.यह दोनों आश्रम विदेशियों के आकर्षण का केंद्र बने.हिप्पी आंदोलन के दौरान जो विदेशी भारत भूमि अाए, वह महाराज जी के संपर्क में आने पर उनके अनन्य भक्त बन गए.राम दास, कृष्ण दास उनके विदेशी भक्तो के नाम थे, जिनका नामकरण महाराज जी ने स्वयं किया. महाराज जी ने सन 1964 में कैंची, उत्तराखंड में अपने आध्यात्मिक धाम की स्थापना की. अपने जीवन के अंतिम दस वर्ष महाराज जी कैंची धाम में रहे.कैंची धाम विश्व विख्यात स्थल है. यहां हर वर्ष 15 जून को विशाल भंडारा होता है, जहां एक दिन में तक़रीबन एक साल से अधिक लोग प्रसाद ग्रहण करते हैं. महाराज जी की कुछ बहुत साफ़, सीधी, सटीक बातें थीं. सभी से प्रेम करो, ईश्वर का स्मरण करो, भूखों को भोजन कराओ, सभी के साथ सेवा भाव रखो. 11 सितंबर 1973 को वृंदावन के एक अस्पताल में महाराज जी ने अपने भौतिक शरीर का त्याग कर दिया. वृंदावन में ही उनका समाधि स्थल है. आज महाराज जी के करोड़ों भक्त पूरी दुनिया में सेवा और प्रेम का संदेश दे रहे हैं. यही सच्ची प्रार्थना है. 🕉️🌱जय बाबा निम करौरी🌱🕉️ 🌺बाबा जी का आशीर्वाद आप एवं आप के परिवार पर सदा बनी रहे जी🌺 🌼‼️🙏‼️🌼

Anil Oct 27, 2021
good night 🌹🙏🙏🙏🌹

Anup Kumar Sinha Oct 27, 2021
जय श्री राधे कृष्ण 🙏🏻🙏🏻 शुभ रात्रि वंंदन, भाई जी 🙏🏻🌹

Runa Sinha Oct 27, 2021
☘️💕Jai Shri ☘️💕Krishna 💕☘️ ☘️💕Radhe ☘️💕Radhe 💕☘️ ☘️💕Good ☘️💕Night 💕☘️

Bhagat ram Oct 27, 2021
🌹🌹🕉️ जय श्री गणेशाय नमः🙏🙏🌺💐🌿🌹 शुभ रात्रि वंदन जी 🙏🙏🌺💐🌿🌹💐🌿🌹🌹

Brajesh Sharma Oct 27, 2021
जय विघ्नहर्ता श्री गणेश जी ॐ नमःशिवाय जय श्री राम जी.. जय जय सियाराम

संतोषी ठाकुर Oct 27, 2021
Radhe Radhe bhai sab🙏🏵️ jai shree shyam jai shree mahakal 🏵️🙏🏵️aapka aane wala kal shubh ho har pal mangalmay ho 🪴🙏🪴 God bless you Good night sweet dreams 🏵️🙏🏵️

Rameshannd Guruji Nov 25, 2021

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 12 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB