मात पिता की सेवा कीन्ही सबको यही शिक्षा दीन्ही भगवान गजानन आप सभी को स्वस्थ एवं संपन्न रखे आपका दिन शुभ एवं मंगलमय हो शुभ प्रभात

+10 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 66 शेयर

कामेंट्स

जितेन्द्र दुबे Sep 14, 2021
🚩🌹🥀जय श्री मंगलमूर्ति गणेशाय नमः 🌺🌹💐🚩🌹🌺 शभु रात्रि वंदन🌺🌹 राम राम जी 🌺🚩🌹मंदिर के सभी भाई बहनों को राम राम जी परब्रह्म परमात्मा आप सभी की मनोकामना पूर्ण करें 🙏 🚩🔱🚩प्रभु भक्तो को सादर प्रणाम 🙏 🚩🔱 🕉 🌺श्री सीतारामचंद्राय नमः🌺🙏 राम दूत अतुलित बल धामा🌹 अंजनि पुत्र पवनसुत नामा🌺 जय सियाराम जय जय हनुमान संकट मोचन तुम्हें प्रणाम🌹🌺👏 ॐ हं हनुमते नमः 🌻ॐ हं हनुमते नमः🌹ॐ शं शनिश्चराय नमः 🚩जय शनिदेव🌹🚩ऊँ नमःशिवाय 🌹जय श्री राधे कृष्णा जी 🌹 श्री सीताराम जी के परम भक्त श्री हनुमान जी महाराज की कृपा दृष्टि आप सभी पर हमेशा बनी रहे 🌹 आप का हर पल मंगलमय हो 🚩🌺हर हर महादेव🚩राम राम जी 🥀शुभ रात्रि स्नेह वंदन🌺शुभ मंगलवार🌺 हर हर महादेव 🔱🚩🔱🚩जय-जय श्रीराम 🚩जय माता दी जय श्री राम 👏 🚩हर हर नर्मदे हर हर नर्मदे 🌺 🙏🌻🙏🌻🥀🌹🚩🚩🚩

Panji Panchal Sep 14, 2021
जय जय श्री गौरी पुत्र शिवदुलारे गणेश गजानंद जी महाराज नमो नमः

Madhuben patel Sep 22, 2021

शुभ बुधवार सुबह की सुमधुर बेला का प्रभात पुष्प 💢🌴💢 ॐ श्री गणेशाय नमः 💢🌴💢 वक्रतुंड महाकाय सुर्यकोटि संप्रभम निर्विघ्नं कुरुमदेव सर्वकार्य सुसर्वदा लाभस्टेस्या जयतेस्या कृतस्तेस्या पराजय पेसाविन्दी वरश्याम ह्र्दयस्थो जनार्दम 📿🌵📿🌵📿 शुभ बुधवार सुबह की सुंदर शुरुआत प्रथम पूज्य श्री गौरीनंदन गणेशजी के दर्शन के साथ 📿🌵📿🌵📿🌵📿🌵📿 💦💦💦 माय मंदिर के सभी आदरणीय भाईयों और बहेनो पर श्री रिद्धि सिद्धि के देवता गणेशजी का आशीर्वाद बनी रहेव जी 💦💦 🥀🥀🥀 ॐ श्री गणेशाय नमः🥀🥀🥀 🌵🌵🌵ॐ श्री विघ्नेश्वराय नमः 🌵🌵🌵 ‼️‼️‼️ ॐ श्री म्यूरेश्वराय नमः ‼️‼️‼️ 🎑🎑🎑 ॐ श्री एकदंत नमः 🎑🎑🎑

+179 प्रतिक्रिया 96 कॉमेंट्स • 396 शेयर
Poonam Aggarwal Sep 22, 2021

🎪🎪* जय श्री गणेशा जय श्री कृष्णा*🎪🎪🙏 🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪 * भगवान गणेश को दूर्वा * *क्यों अर्पित की जाती है * *आपने कई बार देखा होगा कि गणेश जी की पूजा करते समय दूर्वा का इस्तेमाल किया जाता है। दूर्वा एक प्रकार की घास होती है जिसे कलावे यानी लाल धागे के साथ बांधकर गणेश जी को चढ़ाया जाता है। दरअसल गणेश जी को दूर्वा चढ़ाने के पीछे एक रोचक कहानी है।* *तो कहानी ऐसे है कि प्राचीन काल में हर जगह राक्षसों का आतंक फैला हुआ था। राक्षस देवताओं और ऋषि मुनियों को बहुत परेशान किया करते थे। ऐसा ही एक राक्षस था अनलासुर। अनलासुर ने हर जगह हाहाकार मचा रखा था। सभी देवतागण उससे बहुत डरते थे। जब अनलासुर के पाप बहुत बढ़ गए तब सभी देवतागण भगवान शिव के पास पहुंचे। शिव जी ने कहा कि अनलासुर का विनाश सिर्फ गणेश जी कर सकते हैं।* *शिव भगवान की यह बात सुनकर सभी देवतागण श्री गणेश जी के पास पहुंचे। गणेश जी के सामने सभी हाथ जोड़कर खड़े हो गए और बोले हे प्रभु हमें इस निर्दयी राक्षस से बचा लो। देवताओं की ऐसी दैन्य स्थिति को देखकर श्रीगणेश उनकी मदद के लिए तैयार हो गए।* *इस घटना के बाद अनलासुर और श्री गणेश जी के बीच भयानक युद्ध होता है। क्रोध में आकर श्री गणेश अनलासुर को निगल जाते हैं। अनलासुर का अंत हो जाता है लेकिन गणेश जी के पेट में बहुत जलन होने लगती है। इस जलन को ठीक करने के लिए सभी देवता और ऋषिमुनि उपचार खोजने में लग जाते हैं लेकिन किसी भी उपचार से श्री गणेश जी के पेट की जलन कम नहीं होती।* *तब कश्यप ऋषि दूर्वा की 21 गांठ खाने के लिए गणेश जी को देते हैं। गणेश जी को दूर्वा के सेवन से आराम मिलता है और उनके पेट की जलन शांत हो जाती है। इससे खुश होकर गणेश जी कहते हैं कि आज के बाद जो कोई भी मुझे दूर्वा चढ़ाएगा मैं उसकी सारी मनोकामनाएं पूरी करूंगा।* ‼️ जय श्री राम जय राधे श्याम ‼️🙏 ‼️🎪‼️🎪‼️🎪‼️🎪‼️

+77 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 260 शेयर
dhruvwadhwani Sep 21, 2021

+101 प्रतिक्रिया 24 कॉमेंट्स • 181 शेयर
Neeta Trivedi Sep 22, 2021

+103 प्रतिक्रिया 25 कॉमेंट्स • 57 शेयर
Gopal Jalan Sep 21, 2021

+6 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 46 शेयर
R S RAJPUT Sep 21, 2021

+134 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 115 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB