Rama Devi Sahu
Rama Devi Sahu Nov 25, 2021

🌹🙏 Subha Ratri Jii 🙏🌹 🌿🌹🌹🌿🌹🌹🌿🌹🌹🌿

🌹🙏 Subha Ratri Jii 🙏🌹
🌿🌹🌹🌿🌹🌹🌿🌹🌹🌿

+69 प्रतिक्रिया 25 कॉमेंट्स • 79 शेयर

कामेंट्स

R.K.SONI (Ganesh Mandir) Nov 25, 2021
Good night ji🌹 Radhe Radhe ji🙏🙏 V. beautiful post ji👌👌🌹🌹🌹🌹🌹🌹🍄🍄🍄🙏🙏

Neha Sharma Nov 25, 2021
🙏शुभ रात्रि नमन🙏 ईश्वर की असीम कृपा आप और आपके परिवार पर सदैव बनी रहे जी। आपका हर पल शुभ व मंगलमय हो बहनाजी🙏🌺 🙇जय-जय श्री राधेकृष्णा🙇

Dhiraj. Dharu. Nov 25, 2021
ramaji. jivan. me. aek. dost. hona. jaruri. he. aap. post. me. dost. ke. liye. jo. likha. he. vi. sahi. he. very. very. nice. post. sada. sukhi. or. khush. raho. majese. jio. or. maja. karo. jay. shri. ganesh. by.

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Nov 25, 2021
Good Night My Sister ji 🙏🙏 Jay Shree Radhe Radhe Radhe 🙏🙏🌹🌹 God Bless You And Your Family Always Be Happy My Sister ji 🙏 Aapka Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹.

संजीव 9779584243 Nov 25, 2021
नाम की वाणी डरो मत! रो रो कर हरि का नाम लो। बिना एक क्षण रुके राम का नाम रटो। बस फिर हरि तुम्हारी सारी जिम्मेदारी ले लेंगे।

laltesh kumar sharma Nov 25, 2021
🌹🌿🌹 jai shree radhey krishan ji 🌹🌿🌹 Subh ratri vandan ji 🌹🌿🌹🙏🙏

Anilkumar Marathe Nov 25, 2021
जय श्री कृष्णा नमस्कार खुशियोकी सदाबहार आदरणीय प्यारी रामादेवी जी !! 🌹भगवान हर बुरी नज़र से बचाये आपको, दुनिया की तमाम खुशियों से सजाये आपको, दुःख क्या होता है यह कभी पता न चले, कदम कदम पर मिले ख़ुशीयो की बहार आपको, गम और परेशानी आपको छू भी ना सके और हर तरफ आपका आदर सन्मान हो !! 🙏शुभरात्री स्नेह वदंन जी !!

Kailash Prasad Nov 25, 2021
* 🌹 त्याग गुरुवार* *अज़ीब पहेली है, ये जिंदगी भी...* *कहीं पर रिश्तों के, नाम ही नहीं होते..*. *और कहीं पर, सिर्फ नाम के ही रिश्ते होते है l* *🌹 शुभ रात्रि🌹*

Mamta Chauhan Nov 25, 2021
Jai shri hari🌹🙏 Shubh ratri vandan pyari bahanji hari ki kripa sda aap or aapke priwar pr bni rhe aapka har pal mangalmay ho aapki sbhi manokamna puri ho radhe radhe 🌹🙏🌹🙏🌹🙏

Mamta Soni Nov 25, 2021
🙏🌹jai shree krishna🌹🙏 🌺Radhe Radhe🌺 good night ji 🌹🌹

🌹Radha Sharma 🌹 Nov 25, 2021
राधे राधे जय श्री कृष्ण🙏🌹 शुभ रात्रि वंदन जी 🙏🌹आप का हर पल मंगलमय हो🙏🌹 जय माता दी🙏🌹

dhruvwadhwani Nov 25, 2021
om Bhagwate vasudevay namah om bhagwate vasudevay namah om bhagwate vasudevay namah om bhagwate vasudevay namah om bhagwate vasudevay namah om bhagwate vasudevay namah om bhagwate

dhruvwadhwani Nov 25, 2021
jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai maa luxmi jai

dhruvwadhwani Nov 25, 2021
om sai ram om sai ram om sai ram om sai ram om sai ram om sai ram om sai ram om sai ram om sai ram om sai ram

dhruvwadhwani Nov 25, 2021
jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi jaimatadi

+133 प्रतिक्रिया 59 कॉमेंट्स • 133 शेयर
Malti Bansal Jan 26, 2022

+14 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 102 शेयर
Archana Singh Jan 26, 2022

+91 प्रतिक्रिया 32 कॉमेंट्स • 87 शेयर

🙏🌹 आज की अमृत कथा🌹🙏 *🔱भगवान को भोग लगाने का फल🔱* **एक सेठजी बड़े कंजूस थे। एक दिन दुकान पर् बेटे को बैठा दिया और बोले कि बिना पैसा लिए किसी को कुछ मत देना, मैं अभी आया। अकस्मात एक संत आये जो अलग अलग जगह से एक समय की भोजन सामग्री लेते थे, लड़के से कहा बेटा जरा नमक दे दो।* *लड़के ने सन्त को डिब्बा खोल कर एक चम्मच नमक दिया। सेठजी आये तो देखा कि एक डिब्बा खुला पड़ा था, सेठजी ने कहा कि क्या बेचा, बेटा बोला एक सन्त जो तालाब पर् रहते हैं उनको एक चम्मच नमक दिया था। सेठ का माथा ठनका अरे मूर्ख इसमें तो जहरीला पदार्थ है। अब सेठजी भाग कर संतजी के पास गए, सन्तजी भगवान के भोग लगाकर थाली लिए भोजन करने बैठे ही थे सेठजी दूर से ही बोले महाराजजी रुकिए आप जो नमक लाये थे वो जहरीला पदार्थ था।आप भोजन नहीं करें।_* *_संतजी बोले भाई हम तो प्रसाद लेंगे ही क्योंकि भोग लगा दिया है और भोग लगा भोजन छोड़ नहीं सकते हाँ अगर भोग नहीं लगता तो भोजन नही करते और शुरू कर दिया भोजन।* *सेठजी के होश उड़ गए, बैठ गए वहीं पर्। रात पड़ गई सेठजी वहीं सो गए कि कहीं संतजी की तबियत बिगड़ गई तो कम से कम बैद्यजी को दिखा देंगे तो बदनामी से बचेंगे।* *सोचते सोचते नींद आ गई। सुबल जल्दी ही सन्त उठ गए और नदी में स्नान करके स्वस्थ दशा में आ रहे हैं। सेठजी ने कहा महाराज तबियत तो ठीक है। सन्त बोले भी भगवान की कृपा है, कह कर मन्दिर खोला तो देखते हैं कि भगवान का श्री विग्रह के दो भाग हो गए शरीर कला पड़ गया। अब तो सेठजी सारा मामला समझ गए कि अटल विश्वास से भगवान ने भोजन का जहर भोग के रूप में स्वयं ने ग्रहण कर लिया और भक्त को प्रसाद का ग्रहण कराया। ' सेठजी ने आज घर आकर बेटे को घर दुकान सम्भला दी और स्वयं भक्ति करने सन्त शरण चले गए। '* *शिक्षा :- भगवान को निवेदन करके भोग लगा कर ही भोजन करें, भोजन अमृत बन जाता है। आइये आज से ही नियम लें कि भोजन बिना भोग लगाएं नहीं करेंगे। 🌹🌹🌹🌹🌹🙏🏼ऊँ गं गणपतये नम:🙏🏼🌹🌹🌹🌹🌹

+26 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 93 शेयर
Gopal Jalan Jan 26, 2022

+12 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 49 शेयर
hanumandas Jan 26, 2022

+5 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 111 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB