vinod s k 1
vinod s k 1 Nov 26, 2021

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 21 शेयर

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 3 शेयर
AJAY Nov 29, 2021

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🙏 ज़िनके ️हृदय में प्रभु श्रीहरि का वास होता है 🌹 🌹 उन्हे हर घडी आनंद का ही आभास होता है 🌹 👉 भगवान श्रीहरि की कृपा हम सबके ऊपर है और अनंत है । यदि न होती तो ये देव दुर्लभ मनुष्य जन्म हमें प्राप्त ही न होता। "मुझ पर भगवान की कृपा कम है" , ऐसा मानने वाले भूल करते है । हम चाहे कैसे भी क्यों न हो, भगवान की कृपा हम पर है, हमें छोड़ ही नहीं सकती । जैसे माता अपने बच्चे के कल्याण के लिए, रोग मिटाने के लिए कड़वी दवा देती है, वैसे ही भगवान हमारे कल्याण के लिए हमें कष्ट , दारिद्र्य , अपमान ,रोग आदि भेजते हैं। वे देखने में कठोर होते हैं पर वे हमें शुद्ध करने के लिए , निर्मल बनाने के लिए, या हमारे प्रारब्ध के कारण ही आते हैं। इसलिए हे जीव.... ! स्वयं को सुधार और प्रेम भाव से, शुद्ध मन से प्रभु से प्रार्थना कर, प्रभु श्रीकृष्ण का नाम स्मरण कर ले और जितना हो सके नेकी कर, सतकर्म कर l 🌹 हम सभी जानते हैं कि जगत के कल्याण हेतु कार्य करते रहेगे तो प्रभु कृष्ण आपका कल्याण स्वयं कर देंगे । *यदि किसी गिरे को उठाओगे तो कृष्ण आपको गिरने नहीं देंगे l *रोते को हँसाओगे तो कृष्ण आपको रोने नहीं देंगे l *चिंतित की चिंता दूर करोगे तो कृष्ण आपको निश्चिंत कर देंगे l *किसी की पीड़ा को दूर करोगे तो कृष्ण आपको दुख दर्द से मुक्त रखेंगे l दूसरे की सफलता में सहायक बनोगे तो कृष्ण आपको कभी असफल नहीं होने देंगे l इसलिए आप दान तो ज़रूर करो, लेकिन दान ऐसा हो कि जिससे दूसरे का मंगल-ही-मंगल हो। क्योंकि जितना आप मंगल की भावना से दान करते हो उतना ही दान लेने वाले का भला होता है, साथ में आपका भी इहलोक और परलोक सुधर जाता है। दान श्रद्धा, प्रेम, सहानुभूति एवं नम्रतापूर्वक दो, कुढ़कर, जलकर, खीजकर मत दो। अहं सजाने की गलती नहीं करो, अहं को विसर्जित करके विशेष नम्रता से दो और सामने वाले के अंतरात्मा का आशीष पाओ l दान करते समय यह भावना नहीं होनी चाहिए कि लोग मेरी प्रशंसा करें, वाहवाही करें। दान इतना गुप्त हो कि देते समय आपके दूसरे हाथ को भी पता न चले। असल में दाता तो कोई दूसरा है, जो दिन-रात दे रहा है, हम को व्यर्थ ही भ्रम होता है कि हम दाता हैं l 🌹 🙏 जय श्रीकृष्ण, श्री कृष्ण शरणम् , प्रेम से बोलो... राधे राधे 🌹🌹🌹🌹ਜੈ ਮਾਤਾ ਦੀ 🌹🌹🌹"ॐ जयंती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तु‍ते।।" || ओम ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै: || 🙏🌺#_जय_श्री_महाकाली_माँ सेवक भरत व्यास बांगा हिसार हरिद्वार वान_प्रस्थ ऋषिकेश,हरिद्वार ।#माला की तारीफ तो सब करते है, क्योंकि मोती सबको दिखाई देते हैं लेकिन तारीफ में काबिल तो #धागा है... जिसने सब को जोड़ रखा है* 🏵️ *श्री राधे राधे जी*🏵️

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 29 शेयर
SnehLata Mishra Nov 29, 2021

+16 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 43 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB