sn vyas
sn vyas Nov 25, 2021

सुप्रभात आदित्य चन्द्रावनि लोऽनलश्च द्यौर्भूमिरापो हृदयं यमश्च !! अहश्च रात्रिश्च उभे च सन्ध्ये धर्मश्च जानाति नरस्य वृत्तम् !! भावार्थ:- शास्त्र कहते हैं कि अगर मनुष्य यह सोच रहा है कि उसके कर्मो को कोई नहीं देख रहा है तो यह उसका भ्रम है, सूर्यदेव, चन्द्रदेव, वायुदेव, अग्निदेव, धरती, आकाश, जल, एवं मनुष्य का ह्रदय, कालदेवता, प्रातःकाल, सायंकाल, धर्म और श्रुतिमाता मनुष्य के समस्त कर्म - विकर्म के साक्षी है !!

सुप्रभात
आदित्य चन्द्रावनि लोऽनलश्च द्यौर्भूमिरापो हृदयं यमश्च !!
अहश्च रात्रिश्च उभे च सन्ध्ये धर्मश्च जानाति नरस्य वृत्तम् !!

भावार्थ:- शास्त्र कहते हैं कि अगर मनुष्य यह सोच रहा है कि उसके कर्मो को कोई नहीं देख रहा है तो यह उसका भ्रम है, सूर्यदेव, चन्द्रदेव, वायुदेव, अग्निदेव, धरती, आकाश, जल, एवं मनुष्य का ह्रदय, कालदेवता, प्रातःकाल, सायंकाल, धर्म और श्रुतिमाता मनुष्य के समस्त कर्म - विकर्म के साक्षी है !!

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 13 शेयर

+7 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 4 शेयर

+12 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 75 शेयर

+63 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 331 शेयर
Babbu Bhai Jan 19, 2022

+25 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 24 शेयर

+10 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 52 शेयर
Babbu Bhai Jan 19, 2022

+31 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 14 शेयर
Neetu Bhati Jan 19, 2022

+11 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 14 शेयर
gajrajg Jan 19, 2022

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB