devilakshmi
devilakshmi Nov 26, 2021

*अजीनोमोटो* "दिमाग़ को पागल करने का मसाला" *शादी-ब्याह* *दावतों* में भूल कर भी हलवाई को ना देवें ! आजकल व्यंजनों में, खासकर चायनीज वैरायटी में, एक सफेद पाउडर या क्रिस्टल के रूप में *मोनो सोडियम ग्लुटामेट* (M.S.G.) नामक रसायन जिसे दुनिया *अजीनोमोटो* के नाम से जानती है, का प्रयोग बहुत बढ़ गया है, बिना यह जाने कि यह वास्तव में क्या है? *अजीनोमोटो* नाम तो असल में इसे बनाने वाली मूल चायनीज कम्पनी का है ! यह एक ऐसा रसायन है, जिसके जीभ पर स्पर्श के बाद जीभ भ्रमित हो जाती है और मस्तिष्क को झूठे संदेश भेजने लगती है। जिस सें *सड़ा-गला* या *बेस्वाद* खाना भी अच्छा महसूस होता है। इस रसायन के प्रयोग से शरीर के अंगों-उपांगों और मस्तिष्क के बीच *न्यूरोंस* का नैटवर्क बाधित हो जाता है, जिसके दूरगामी दुष्परिणाम होते हैं। चिकित्सकों के अनुसार *अजीनोमोटो* के प्रयोग से 1-एलर्जी, 2-पेट में अफारा, 3-सिरदर्द, 4-सीने में जलन, 5-बाॅडीे टिश्यूज में सूजन, 6-माइग्रेन आदि हो सकते है। *अजीनोमोटो* से होने वाले रोग इतने व्यापक हो गये हैं कि अब इन्हें ‘*चाइनीज रेस्टोरेंट सिंड्रोम* कहा जाता है। दीर्घकाल में *मस्तिष्काघात* (Brain Hemorrhage) हो सकता है जिसकी वजह से *लकवा* होता है। अमेरिका आदि बहुत से देशों में *अजीनोमोटो* पर प्रतिबंध है। न जाने *फूड सेफ्टी एण्ड स्टैन्डर्ड अथाॅरिटी आॅफ इंडिया’* ने भारत में *अजीनोमोटो* को प्रतिबंधित क्यों नहीं किया है? *सुरक्षित खाद्य अभियान* ("Safe Food Abhiyan") की पाठकों से जोरदार अपील है कि दावतों में हलवाई द्वारा मंगाये जाने पर उसे *अजीनोमोटो* लाकर ना देवें। हलवाई कहेगा कि चाट में मजा नहीं आयेगा, फिर भी इसका पूर्ण बहिष्कार करें। कुछ भी हो (AFTER ALL) दावत खाने वाले आपके *प्रियजन* हैं, आपके यहां दावत खाकर वे बीमार नही पड़ने चाहिए ! जब आपने बाकि सारा बढ़िया सामान लाकर दिया है तो लोगों को *अजीनोमोटो* के बिना भी खाने में, चाट में पूरा मजा आयेगा, आप निश्चिंत रहें। *अजीनोमोटो* तो *हलवाई की अयोग्यता* को छिपाने व होटलों, ढाबों, कैटरर्स, स्ट्रीट फूड वैंडर्स द्वारा सड़े-गले सामान को आपके *दिमाग* को पागल बनाकर स्वादिष्ट महसूस कराने के लिए डाला जाता है। क्या *हलवाई की अयोग्यता* का दंड अपने *प्रियजनों* को देंगे ???? *सुरक्षित खाद्य अभियान*(Safe Food Abhiyan)द्वारा "विज्ञान प्रगति’ मई-2017"में छपी सामग्री पर आधारित।

*अजीनोमोटो* 
"दिमाग़ को पागल करने का मसाला"
*शादी-ब्याह* *दावतों* में भूल कर भी हलवाई को ना देवें !

आजकल व्यंजनों में, खासकर चायनीज वैरायटी में, 
एक सफेद पाउडर या क्रिस्टल के रूप में 
*मोनो सोडियम ग्लुटामेट* (M.S.G.) नामक रसायन
जिसे दुनिया *अजीनोमोटो* के नाम से जानती है, 
का प्रयोग बहुत बढ़ गया है,
बिना यह जाने कि यह वास्तव में क्या है? 
*अजीनोमोटो* नाम तो असल में इसे बनाने वाली मूल चायनीज कम्पनी का है !
यह एक ऐसा रसायन है, जिसके जीभ पर स्पर्श के बाद जीभ भ्रमित हो जाती है और मस्तिष्क को झूठे संदेश भेजने लगती है। 
जिस सें *सड़ा-गला* या *बेस्वाद* खाना भी अच्छा महसूस होता है। 
इस रसायन के प्रयोग से शरीर के अंगों-उपांगों और मस्तिष्क के बीच *न्यूरोंस* का नैटवर्क बाधित हो जाता है, जिसके दूरगामी दुष्परिणाम होते हैं। 

चिकित्सकों के अनुसार *अजीनोमोटो* के प्रयोग से 
1-एलर्जी, 
2-पेट में अफारा, 
3-सिरदर्द, 
4-सीने में जलन, 
5-बाॅडीे टिश्यूज में सूजन, 
6-माइग्रेन आदि हो सकते है। 
*अजीनोमोटो* से होने वाले रोग इतने व्यापक हो गये हैं कि अब इन्हें ‘*चाइनीज रेस्टोरेंट सिंड्रोम* कहा जाता है। दीर्घकाल में *मस्तिष्काघात* (Brain Hemorrhage)
हो सकता है जिसकी वजह से *लकवा* होता है।
अमेरिका आदि बहुत से देशों में *अजीनोमोटो* पर प्रतिबंध है। 
न जाने 
*फूड सेफ्टी एण्ड स्टैन्डर्ड अथाॅरिटी आॅफ इंडिया’* ने भारत में *अजीनोमोटो* को प्रतिबंधित क्यों नहीं किया है? 

*सुरक्षित खाद्य अभियान* ("Safe Food Abhiyan")
की पाठकों से जोरदार अपील है कि दावतों में हलवाई द्वारा मंगाये जाने पर उसे *अजीनोमोटो* लाकर ना देवें। हलवाई कहेगा कि चाट में मजा नहीं आयेगा, 
फिर भी इसका पूर्ण बहिष्कार करें। 
कुछ भी हो (AFTER ALL) दावत खाने वाले आपके *प्रियजन* हैं, आपके यहां दावत खाकर वे बीमार नही पड़ने चाहिए ! 
जब आपने बाकि सारा बढ़िया सामान लाकर दिया है तो लोगों को *अजीनोमोटो* के बिना भी खाने में, चाट में पूरा मजा आयेगा, आप निश्चिंत रहें। 
*अजीनोमोटो* तो *हलवाई की अयोग्यता* को छिपाने व होटलों, ढाबों, कैटरर्स, स्ट्रीट फूड वैंडर्स द्वारा सड़े-गले सामान को आपके *दिमाग* को पागल बनाकर स्वादिष्ट महसूस कराने के लिए डाला जाता है।
क्या *हलवाई की अयोग्यता* का दंड अपने *प्रियजनों*
को देंगे  ????
*सुरक्षित खाद्य अभियान*(Safe Food Abhiyan)द्वारा 
"विज्ञान प्रगति’ मई-2017"में छपी सामग्री पर आधारित।

+9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 15 शेयर

कामेंट्स

Bindu Singh Jan 26, 2022

+74 प्रतिक्रिया 25 कॉमेंट्स • 47 शेयर
विनोद Jan 26, 2022

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Meena Sharma Jan 26, 2022

+10 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 52 शेयर
sushma Jan 26, 2022

+5 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 10 शेयर

+10 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 14 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB