Poonam Aggarwal
Poonam Aggarwal Sep 16, 2021

🎪🎪* ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः*🎪🎪🙏 🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪 *ऐसा मंदिर जहां भूख से दुबले हो जाते हैं श्रीकृष्ण* –----------------------------------------- यह विश्व का ऐसा अनोखा मंदिर है जो 24 घंटे में मात्र दो मिनट के लिए बंद होता है। यहां तक कि ग्रहण काल में भी मंदिर बंद नहीं किया जाता है। कारण यह कि यहां विराजमान भगवान कृष्ण को हमेशा तीव्र भूख लगती है। भोग नहीं लगाया जाए तो उनका शरीर सूख जाता है। अतः उन्हें हमेशा भोग लगाया जाता है, ताकि उन्हें निरंतर भोजन मिलता रहे। साथ ही यहां आने वाले हर भक्त को भी प्रसादम् (प्रसाद) दिया जाता है। बिना प्रसाद लिये भक्त को यहां से जाने की अनुमति नहीं है। मान्यता है कि जो व्यक्ति इसका प्रसाद जीभ पर रख लेता है, उसे जीवन भर भूखा नहीं रहना पड़ता है। श्रीकृष्ण हमेशा उसकी देखरेख करते हैं। डेढ़ हजार वर्ष पुराना मंदिर केरल के कोट्टायम जिले के तिरुवरप्पु में स्थित यह मंदिर लगभग डेढ़ हजार साल पुराना है। लोक मान्यता के अनुसार कंस वध के बाद भगवान श्रीकृष्ण बुरी तरह से थक गए थे। भूख भी बहुत अधिक लगी हुई थी। उनका वही विग्रह इस मंदिर में है। इसलिए मंदिर सालों भर हर दिन मात्र खुला रहता है। मंदिर बंद करने का समय दिन में 11.58 बजे है। उसे दो मिनट बाद ही ठीक 12 बजे खोल दिया जाता है। पुजारी को मंदिर के ताले की चाबी के साथ कुल्हाड़ी भी दी गई है। उसे निर्देश है कि ताला खुलने में विलंब हो तो उसे कुल्हाड़ी से तोड़ दिया जाए। ताकि भगवान को भोग लगने में तनिक भी विलंब न हो। चूंकि यहां मौजूद भगवान के विग्रह को भूख बर्दाश्त नहीं है, इसलिए उनके भोग की विशेष व्यवस्था की गई है। उनको 10 बार नैवेद्यम (प्रसाद) अर्पित किया जाता है। मंदिर खोले रखने की व्यवस्था आदि शंकराचार्य की ऐसा मंदिर जहां श्रीकृष्ण से भूख बर्दाश्त नहीं होता है। पहले यह आम मंदिरों की तरह बंद होता था। विशेष रूप से ग्रहण काल में इसे बंद रखा जाता था। तब ग्रहण खत्म होते-होते भूख से उनका विग्रह रूप पूरी तरह सूख जाता था। कमर की पट्टी नीचे खिसक जाती थी। एक बार उसी दौरान आदि शंकराचार्य मंदिर आए। उन्होंने भी यह स्थिति देखी। तब उन्होंने व्यवस्था दी कि ग्रहण काल में भी मंदिर को बंद नहीं किया जाए। तब से मंदिर बंद करने की परंपरा समाप्त हो गई। भूख और भगवान के विग्रह के संबंध को हर दिन अभिषेकम के दौरान देखा जा सकता है। अभिषेकम में थोड़ा समय लगता है। उस दौरान उन्हें नैवेद्य नहीं चढ़ाया जा सकता है। अतः नित्य उस समय विग्रह का पहले सिर और फिर पूरा शरीर सूख जाता है। यह दृश्य अद्भुत और अकल्पनीय सा प्रतीत होता है लेकिन है पूर्णतः सत्य। प्रसादम् लेने वाले के भोजन की श्रीकृष्ण करते हैं चिंता इस मंदिर के साथ एक और मान्यता जुड़ी हुई है कि जो भक्त यहां पर प्रसादम चख लेता है, फिर जीवन भर श्रीकृष्ण उसके भोजन की चिंता करते हैं। यही नहीं उसकी अन्य आवश्यकताओं का भी ध्यान रखते हैं। प्राचीन शैली के इस मंदिर के बंद होने से ठीक पहले 11.57 बजे प्रसादम् के लिए पुजारी जोर से आवाज लगाते हैं। इसका कारण मात्र यही है कि यहां आने वाला कोई भक्त प्रसाद से वंचित न हो जाए। यह अत्यंत रोचक है कि भूख से विह्वल भगवान अपने भक्तों के भोजन की जीवन भर चिंता करते हैं। उनके अपनी भूख की यह हालत है कि उसे देखते हुए मंदिर को नित्य दो मिनट बंद रखा जाता है। इसका कारण भगवान को सोने का समय देना है। अर्थात इस मंदिर में वे मात्र दो मिनट सोते हैं। ‼️‼️ जय श्री कृष्णा जय श्री हरि नारायण ‼️‼️ ‼️🪔‼️🪔‼️🪔‼️🪔‼️🪔‼️

🎪🎪* ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः*🎪🎪🙏
      🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪
       *ऐसा मंदिर जहां भूख से दुबले हो जाते हैं श्रीकृष्ण*
–-----------------------------------------

यह विश्व का ऐसा अनोखा मंदिर है जो 24 घंटे में मात्र दो मिनट के लिए बंद होता है। यहां तक कि ग्रहण काल में भी मंदिर बंद नहीं किया जाता है। कारण यह कि यहां विराजमान भगवान कृष्ण को हमेशा तीव्र भूख लगती है। भोग नहीं लगाया जाए तो उनका शरीर सूख जाता है। अतः उन्हें हमेशा भोग लगाया जाता है, ताकि उन्हें निरंतर भोजन मिलता रहे। साथ ही यहां आने वाले हर भक्त को भी प्रसादम् (प्रसाद) दिया जाता है। बिना प्रसाद लिये भक्त को यहां से जाने की अनुमति नहीं है। मान्यता है कि जो व्यक्ति इसका प्रसाद जीभ पर रख लेता है, उसे जीवन भर भूखा नहीं रहना पड़ता है। श्रीकृष्ण हमेशा उसकी देखरेख करते हैं।

डेढ़ हजार वर्ष पुराना मंदिर

केरल के कोट्टायम जिले के तिरुवरप्पु में स्थित यह मंदिर लगभग डेढ़ हजार साल पुराना है। लोक मान्यता के अनुसार कंस वध के बाद भगवान श्रीकृष्ण बुरी तरह से थक गए थे। भूख भी बहुत अधिक लगी हुई थी। उनका वही विग्रह इस मंदिर में है। इसलिए मंदिर सालों भर हर दिन मात्र खुला रहता है। मंदिर बंद करने का समय दिन में 11.58 बजे है। उसे दो मिनट बाद ही ठीक 12 बजे खोल दिया जाता है। पुजारी को मंदिर के ताले की चाबी के साथ कुल्हाड़ी भी दी गई है। उसे निर्देश है कि ताला खुलने में विलंब हो तो उसे कुल्हाड़ी से तोड़ दिया जाए। ताकि भगवान को भोग लगने में तनिक भी विलंब न हो। चूंकि यहां मौजूद भगवान के विग्रह को भूख बर्दाश्त नहीं है, इसलिए उनके भोग की विशेष व्यवस्था की गई है। उनको 10 बार नैवेद्यम (प्रसाद) अर्पित किया जाता है।

मंदिर खोले रखने की व्यवस्था आदि शंकराचार्य की

ऐसा मंदिर जहां श्रीकृष्ण से भूख बर्दाश्त नहीं होता है। पहले यह आम मंदिरों की तरह बंद होता था। विशेष रूप से ग्रहण काल में इसे बंद रखा जाता था। तब ग्रहण खत्म होते-होते भूख से उनका विग्रह रूप पूरी तरह सूख जाता था। कमर की पट्टी नीचे खिसक जाती थी। एक बार उसी दौरान आदि शंकराचार्य मंदिर आए। उन्होंने भी यह स्थिति देखी। तब उन्होंने व्यवस्था दी कि ग्रहण काल में भी मंदिर को बंद नहीं किया जाए। तब से मंदिर बंद करने की परंपरा समाप्त हो गई। भूख और भगवान के विग्रह के संबंध को हर दिन अभिषेकम के दौरान देखा जा सकता है। अभिषेकम में थोड़ा समय लगता है। उस दौरान उन्हें नैवेद्य नहीं चढ़ाया जा सकता है। अतः नित्य उस समय विग्रह का पहले सिर और फिर पूरा शरीर सूख जाता है। यह दृश्य अद्भुत और अकल्पनीय सा प्रतीत होता है लेकिन है पूर्णतः सत्य।

प्रसादम् लेने वाले के भोजन की श्रीकृष्ण करते हैं चिंता

इस मंदिर के साथ एक और मान्यता जुड़ी हुई है कि जो भक्त यहां पर प्रसादम चख लेता है, फिर जीवन भर श्रीकृष्ण उसके भोजन की चिंता करते हैं। यही नहीं उसकी अन्य आवश्यकताओं का भी ध्यान रखते हैं। प्राचीन शैली के इस मंदिर के बंद होने से ठीक पहले 11.57 बजे प्रसादम् के लिए पुजारी जोर से आवाज लगाते हैं। इसका कारण मात्र यही है कि यहां आने वाला कोई भक्त प्रसाद से वंचित न हो जाए। यह अत्यंत रोचक है कि भूख से विह्वल भगवान अपने भक्तों के भोजन की जीवन भर चिंता करते हैं। उनके अपनी भूख की यह हालत है कि उसे देखते हुए मंदिर को नित्य दो मिनट बंद रखा जाता है। इसका कारण भगवान को सोने का समय देना है। अर्थात इस मंदिर में वे मात्र दो मिनट सोते हैं।
   ‼️‼️ जय श्री कृष्णा जय श्री हरि नारायण ‼️‼️
          ‼️🪔‼️🪔‼️🪔‼️🪔‼️🪔‼️

+468 प्रतिक्रिया 198 कॉमेंट्स • 456 शेयर

कामेंट्स

manish...Soni... Sep 18, 2021
*✍️निंदा करने वालों से घबराकर* *लक्ष्य को नहीं छोड़े* *क्योंकि* *सफलता मिलते ही* *लोगों की राय बदल जाती है ।।* *🌹जय श्री कृष्णा🌹* ✍️,, *“हृदय से जो दिया जा सकता है* *वो हाथ से नहीं..* *और मौन से जो कहा जा सकता है* *वो शब्द से नहीं..”* *संबंधों को सिर्फ* *समय की ही नहीं* *समझ की भी जरूरत* *होती है* जय श्री राम जय बालाजी 🙏🌹🙏 जय राधे कृष्णा जी 🙏🌹🙏 जय सिद्धिविनायक की 🙏🌹🙏 जय भोलेनाथ 🙏🌹🙏

SANTOSH YADAV Sep 18, 2021
जय श्री गणेश शुभ शनिवार वंदन जी

kishan tiwari Sep 18, 2021
🌹🙏🏼🌹सूर्य कुलभूषण श्री रामचंद्र नमस्तुभ्यं🌷ॐ श्री आञ्जनेय नमः🌹🌹🙏🏼🌹🌷 🌷ॐ सिद्धिविनायक नमो नमः🌹🌷राम राम बहन, जय श्री माता की बहन🌹जय श्री शनिदेव जी  की बहन🌹सादर सस्नेह चरण🌹 स्पर्श कर प्रणाम करता हूँ मेरी प्यारी प्यारी स्वीट सी रानी बहना🤗💖🤗श्रीमाता की कृपा तुम पर हमेशा बनी रहे बहना🌹माँ जगतजननी तुम्हें सदा स्वस्थ और खूबसूरत बनाये रखें🌹हे माता मेरी बहन पर अपनी कृपा बनाये रखना, हे गजानन मेरी प्यारी बहन को सारे संकट से दूर रखना🌹🙏🏼🌹हवाओं सी झूमती रहो फ़िज़ाओं सी महकती रहो दुल्हन की तरह सजती रहो मेरी मेरी बहना🌹💖हो अखण्डसोभाग्यवती मेरी प्यारी बहना माँथे पे बिंदिया सिर पे चुनरी पाओं में हो पैजनियाँ🤗हाँथों में सजती रहें रंग विरंगी चूड़ियाँ💙🌹जुग जुग जियो मेरी प्यारी बहना🌹🙏🏼हर पल हर घड़ी तुम्हें प्रभात ही प्रभात बहन🌹शनिदेव अपनी शीतलता प्रदान करें श्रीराम भक्त महावीर हनुमानजी सारे संकट दूर करें🌹🙏🏼🌹शनि प्रदोष की मंगलशुभकामनाएँ🌹🙏🏼🌹🤗शुभसंध्या वन्दन बहन🌹🙏🏼

kishan tiwari Sep 18, 2021
1 मिनट लगेगा जरूर पढेँ.. अच्छा लगे तो SHARE करना अपना फर्ज समझेँ.?? एक बालक अपने माँ-बाप की खूब सेवा किया करता ! उसके दोस्त उससे कहते कि अगर इतनी सेवा तुमने भगवान की की होती तो तुम्हे भगवान मिल जाते ! लेकिन इन सब चीजो से अनजान वो अपने माता पिता की सेवा करता रहा ! एक दिन उसकी माँ बाप की सेवा-भक्ति से खुश होकर भगवान धरती पर आ गये !उस वक्त वो बालक अपनी माँ के पाँव दबा रहा था !भगवान दरवाजे के बाहर से बोले -दरवाजा खोलो बेटा मैं तुम्हारी माता-पिता की सेवा से प्रसन्न होकर तुम्हे वरदान देने आया हूँ ! बालक ने कहा -इंतजार करो प्रभु मैं माँ की सेवा मे लगा हूँ !भगवान बोले -देखो मैं वापस चला जाऊँगा !बालक ने कहा -आप जा सकते है भगवान मैं सेवा बीच मे नही छोड़ सकता ! कुछ देर बाद उसने दरवाजा खोला तो क्या देखता है भगवान बाहर खड़े थे !भगवान बोले -लोग मुझे पाने के लिये कठोर तपस्या करते है पर मैं तुम्हे सहज ही मे मिल गया पर तुमने मुझसे प्रतीक्षा करवाई ! बालक ने जवाब दिया -हे ईश्वर जिस माँ बाप की सेवा ने आपको मेरे पास आने को मजबूर कर दिया उन माँ बाप की सेवा बीच मे छोड़कर मैं दरवाजा खोलने कैसे आता? यही इस जिंदगी का सार है !जिंदगी मे हमारे माँ-बाप से बढ़कर कुछ नही है !हमारे माँ-बाप ही हमे ये जिंदगी देते है !यही माँ-बाप अपना पेट काटकर बच्चो के लिये अपना भविष्य खराब कर देते है इसके बदले हमारा भी ये फर्ज बनता है कि हम कभी उन्हे दुःख ना दे !उनकी आँखो मे आँसू कभी ना आये चाहे परिस्थिति जो भी हो ;प्रयत्न कीजियेगा ! वैद्य विजय लुथरा 7668324741 7248369088

Runa Sinha Sep 18, 2021
Jai Shri Ram 🌹🙏🌹 Good evening. Pawanputra Hanuman ji aur Suryaputra Shanidev ki kripa aap par sadaiv bani rahe,bahan 🙏

Anup Kumar Sep 18, 2021
जय श्री राम🙏🏻🙏🏻शुभ संध्या वंंदन, बहना । सूर्यपुत्र और न्याय के देवता शनि महाराज एवं पवनपुत्र हनुमानजी की कृपा आपके ऊपर सदैव बरसती रहे 🙏🏻🌹

N K Pandey Sep 18, 2021
Om Namo Bhagwate Vasudevay Namah Subh Sandhya Vandan Bahen

Ashwinrchauhan Sep 18, 2021
ॐ शः शनेश्चराय नमः शुभ शनिवार सूर्य पुत्र शनिदेव और राम भक्त हनुमान जी की कृपा आप पर आप के पुरे परिवार पर सदेव बनी रहे मेरी आदरणीय बहना जी आप का हर पल मंगल एवं शुभ रहे न्याय के देवता शनिदेव महाराज आप की हर मनोकामना पूरी करे आप का आने वाला दिन शुभ रहे गुड नाईट बहना जी

rakesh dubey Sep 18, 2021
Jai shri ram🚩🚩 Jai shri radhe krishna ji🌷 GOOD night ji💐💐💐

,,, Sep 19, 2021
🚩 ॐ जय श्री गणेशय नमः 🙏 सुप्रभात सादर वंदन बहना जी 🙏 अनन्त चतुर्दशी की बहुत बहुत बधाई हो 🪴 ऋद्धि सिद्धि के स्वामी गजानंद भगवान आपको और आपके परिवार को सदा सुखी रखें खुश रखें 🌹बाप्पा जी आपकी हर मनोकामना पूरी करे बहना जी 🙏🌹

kishan tiwari Sep 19, 2021
🌹🙏🏼🌹अनन्त चतुर्दशी श्रीगणेश विसर्जन की शुभकामनाएं🌹🙏🏼🌹 🌹🌼🌷ॐ सिद्धिविनायक नमो नमः🌷🌹🌷राम राम बहन, जय श्री माता की बहन🌹सादर सस्नेह चरण🌹 स्पर्श कर प्रणाम करता हूँ मेरी प्यारी प्यारी स्वीट सी रानी बहना🤗💖🤗श्रीमाता की कृपा तुम पर हमेशा बनी रहे बहना🌹माँ जगतजननी तुम्हें सदा स्वस्थ और खूबसूरत बनाये रखें🌹हे माता मेरी बहन पर अपनी कृपा बनाये रखना, हे गजानन मेरी प्यारी बहन को सारे संकट से दूर रखना🌹🙏🏼🌹हवाओं सी झूमती रहे फ़िज़ाओं सी महकती रहे दुल्हन की तरह वो सजती रहे💙💝💜 हो अखण्ड सोभाग्यवती मेरी प्यारी बहना माँथे पे बिंदिया सिर पे लाल चुनरिया आँखों में काजल हाँथों में चूड़ियां और होंठों पर हो हँसी की लाली पाओं में हो पैजनियाँ🤗💙🌹जुग जुग जियो मेरी प्यारी बहना🌹🙏🏼हर पल हर घड़ी तुम्हें प्रभात ही प्रभात बहन🌹🙏🏼🌹शुभ प्रभात वन्दन बहन🌹🙏🏼🌹हे जगतजननी जगदम्बा कुछ ऐसे भी पल मेरी प्यारी बहना के लिए हों,""💙💜सबेरा💜💙""हर पल हो इसे सबेरा🍵 पता चले ना कब हुआ अँधेरा 💝बीत जाए जिंदगानी 💜 तो ! यूँ लगे जैसे साल गुजरा 😊पता चले ना कब हुआ अँधेरा🌹 हर पल उसको रहे सबेरा🤗🤗🤗

Kailash Chandra Vyas Sep 19, 2021
सुनंदर जानकारी ,पर आप अनुपस्थिति। सुप्रभात वंदन पूनम जी।

charu sharma Sep 19, 2021
jai shree krishna ji 🙏🌹 shubh sandhya my dear sister 🌹🙏 ganpati ji aapki sab manokamnayen poori karen 🌹🙏

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Sep 19, 2021
Good Evening My Sister ji 🙏🙏 Aapko Happy Ganesh Chaturdashi Ki Hardik Shubhkamnaye ji 🙏🙏🌹🌹 Om Shree Ganeshay Namah 🙏🙏🌹🌹 Ganpati Bappa Morya Ki Kripa Dristi Aap Our Aapke Priwar Per Hamesha Sada Bhni Rahe ji 🙏 Aapka Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌷🌷🌷🥀🥀🥀🥀🌹🌹🌹.

Ramesh agrawal Oct 14, 2021

+9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 32 शेयर
Adhikari Molay Oct 13, 2021

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 8 शेयर

+15 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Runa Sinha Oct 14, 2021

+257 प्रतिक्रिया 76 कॉमेंट्स • 245 शेयर

+16 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 48 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB