umesh sharma
umesh sharma Sep 19, 2021

+70 प्रतिक्रिया 12 कॉमेंट्स • 273 शेयर

कामेंट्स

Mamta Chauhan Sep 19, 2021
Jai shri ganesh ji 🌹🙏 Om suryay namah 🙏🌹 Shubh prabhat vandan bhai ji Anant Chaturdashi ki hardik shubhkamnaye 🙏🌹surya bhagwan ki kripa sda aap or aapke priwar pr bni rhe aapka har pal mangalmay ho khushion bhra ho 🌹 Radhe radhe 🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹

Radhe Krishna Sep 19, 2021
ओम सूर्य देवाय नमः 🙏🏻🏵️🏵️ सुप्रभात वंदन जी 🌸🌸🙏🏻 आपको अनंत चतुर्दशी की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏🏻🌹

Neeta Trivedi Sep 19, 2021
ऊं सूर्य देवाय नमः शुभ प्रभात वंदन जी आप का हर एक पल शुभ और मंगलमय हो 🙏🌹🙏

Seemma Valluvar Sep 19, 2021
सुप्रभात भाई जी 🙏, अनंत चतुर्दशी की हार्दिक शुभकामनाएं जी, भगवान श्री हरि विष्णु जी और गणेश जी की अनंत कृपा सदा आप पर बना रहे जी, जय श्री गणेश 🙏🌺🌺🌺🌺🌺🚩

Deepak Mehta Sep 19, 2021
Om Soorydev Namah 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

🏝️kavita sharma🏝️ Sep 19, 2021
🕉️🌻☘️☘️🐚🐚☘️☘️🌻🕉️ ANNANT CHATURTHI KI HARDIK SHUBHKAMNAYE GANPATI BAPPA MOREYA 🕉️🌻☘️☘️☘️☘️☘️🌻🕉️ ✨✨🔔🔔🔔🔔🔔✨✨

R.K.SONI (Ganesh Mandir Sep 19, 2021
ॐ नमो नारायणा जी🙏अनन्त चुर्तदशीं व गणेश विसर्जन की आपको हार्दिक शुभकामनाए👌💐💐🙏

SANTOSH YADAV Sep 19, 2021
जय श्री गणेश ओम नमो भगवते सुर्य देवाय नमः शुभ रविवार वंदन जी

ILA SINHA❤️ Oct 21, 2021

+19 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Poonam Aggarwal Oct 21, 2021

🌹🪔🌹 जय श्री हरि नारायण 🌹🪔🌹 🌹🪔🌹🪔🌹🪔🌹🪔🌹 🌸🦚🌸🦚🌸🦚🌸🦚🌸 अनमोल वचन जब हम कोई पौष्टिक चीजें लेते हैं जैसे दूधदही दाल आदि तो हम ध्यान रखते हैं कि बर्तन गंदा ना हो क्योंकि इससे हमें पूरा पोषण नहीं मिलता । उसी तरह बुद्धि रूपी बर्तन को हमें साफ रखना है ताकि हमारे मन को भी संपूर्ण ताकत मिलती रहे और इसमें अच्छे विचार और सच्चा ज्ञान धारण हो सके। इसलिए किसी के प्रति बुरी भावनाघृणानफरतबदले की भावना रख के अपने बुद्धि रूपी बर्तन को गंदा ना करें । 🙏ओम् शांति 🙏 🎈आपका दिन शुभ हो🎈 🌸🦚🌸🦚🌸🦚🌸🦚🌸 *क्या है कृष्ण होने के मायने * ♦️पहली गाली पर सर काटने की शक्ति होने बाद भी यदि 99 और गाली सुनने का सामर्थ्य है तो वो कृष्ण है। ♦️सुदर्शन जैसा शस्त्र होने के बाद भी यदि हाथ में हमेशा मुरली है तो वो कृष्ण है। ♦️द्वारिका का वैभव होने के बाद भी यदि सुदामा मित्र है तो वो कृष्ण है। ♦️मृत्यु के फन पर मौजूद होने पर भी यदि नृत्य है तो वो कृष्ण है। ♦️सर्वसामर्थ्य होने पर भी यदि सारथी है तो वो कृष्ण है। 🌷🙏🏻 *जय श्री कृष्ण*🙏🏻🌷 🌷🐚🌷🐚🌷🐚🌷

+91 प्रतिक्रिया 28 कॉमेंट्स • 297 शेयर
R S RAJPUT Oct 21, 2021

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 11 शेयर

+7 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 29 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Annu💕💕 Oct 21, 2021

भगवान श्री कृष्ण और रुक्मिणी की भक्ति -महान धार्मिक प्रसंग , भगवान श्री कृष्ण और उनकी पत्नियों, सत्यभामा एवं रुक्मिणी, से जुड़ा एक बहुत ही सुन्दर प्रेरक प्रसंग है जो हमें भगवान की पूजा में भावना की महत्ता सोने-चांदी आदि से अधिक होती है, यह समझाता है। भगवान श्रीकृष्ण की पत्नी सत्यभामा के मन में एक दिन एक विचित्र विचार आया। उन्होंने तय किया कि वह भगवान श्रीकृष्ण को अपने गहनों से तौलेंगी। श्रीकृष्ण ने जब यह बात सुनी तो बस मुस्कुराए, बोले कुछ नहीं। सत्यभामा ने भगवान को तराजू के पलडे़ पर बिठा दिया। दूसरे पलड़े पर वह अपने गहने रखने लगीं।भला सत्यभामा के पास गहनों की क्या कमी थी। लेकिन श्रीकृष्ण का पलड़ा लगातार भारी ही रहा। अपने सारे गहने रखने के बाद भी भगवान का पलड़ा नहीं उठा तो वह हारकर बैठ गईं। तभी रुक्मिणी आ गईं। सत्यभामा ने उन्हें सारी बात बताई। रुक्मिणी तुरंत पूजा का सामान उठा लाईं। उन्होंने भगवान की पूजा की। जिस पात्र में भगवान का चरणोदक था, उसे उठाकर उन्होंने गहनों वाले पलड़ों पर रख दिया। देखते ही देखते भगवान का पलड़ा हल्का पड़ गया। ढेर सारे गहनों से जो बात नहीं बनी, वह चरणोदक के छोटे-से पात्र से बन गई। सत्यभामा यह सब आश्चर्य से देखती रहीं। उन्हें समझ में नहीं आ रहा था कि ऐसा कैसे हुआ। तभी वहां नारद मुनि आ पहुंचे। उन्होंने समझाया, ‘भगवान की पूजा में महत्व सोने- चांदी के गहनों का नहीं, भावना का होता है। रुक्मिणी की भक्ति और प्रेम की भावना भगवान के चरणोदक में समा गई। भक्ति और प्रेम से भारी दुनिया में कोई वस्तु नहीं है। भगवान की पूजा भक्ति-भाव से की जाती है, सोने-चांदी से नहीं। पूजा करने का ठीक ढंग भगवान से मिला देता है।’ सत्यभामा उनकी बात समझ गईं। शुभ प्रभात वंदन जी 🌹💕 आपका दिन शुभ मंगलमय हो 💐💐 शुभ गुरुवार🌹🌹🌹 भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की कृपा दृष्टि सदेव आप और आपके परिवार पर बनी रहे 💐💐💐💐💐 जय हो मां शेरावाली 🌹💕💕💕

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB