Nupur Bala Sharma
Nupur Bala Sharma Nov 24, 2021

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 12 शेयर

कामेंट्स

Ravi Kumar Taneja Nov 24, 2021
🌲|| ॐ गं गणपतये नमो नमः ||🌲 🌻 || वक्रतुंड महाकाय सुर्य कोटी समप्रभ || || निर्विघ्नं कुरुमदेवं सर्व कार्येशु सर्वदा ||🌻 *🌹आपका दिन मंगलमय हो*🌹 *स्नेहिल शुभ दोपहर वंदना* 🙏🌺🙏 🌼| |ॐ श्री सिद्धिविनायकाय नमो नमः ||🌼 *꧁🌹!! ॐ गं गणपतये नमो: नमः!!🌹꧂* ()(. = .)() <>’ ) )’<> (,,,)’ ‘(,,,) रिद्धि सिद्धि के दाता श्री गणपति महाराज आपकी हर मनोकामना पूरी करें आपका दिन शुभ हो 🙏 🕉🦋🙏🌲🙏🌲🙏🦋🕉

+5 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 19 शेयर
Neha Sharma Nov 25, 2021

*सुविचार...*सत्य, विनय, शास्त्रज्ञान, विद्या, कुलीनता, शील, बल, धन, शूरता और वाक्पटुता ये दस लक्षण स्वर्ग के कारण हैं।*जय श्री राधेकृष्णा*🙏 *शुभ रात्रि नमन*🙏 *एक औरत को आखिर क्या चाहिए होता है?..... *एक बार जरुर पढें ये छोटी सी कहानी.....✍️ *राजा हर्षवर्धन युद्ध में हार गए। *हथकड़ियों में जीते हुए पड़ोसी राजा के सम्मुख पेश किए गए। पड़ोसी देश का राजा अपनी जीत से प्रसन्न था और उसने हर्षवर्धन के सम्मुख एक प्रस्ताव रखा... *यदि तुम एक प्रश्न का जवाब हमें लाकर दे दोगे तो हम तुम्हारा राज्य लौटा देंगे, अन्यथा उम्र कैद के लिए तैयार रहें। *प्रश्न है.. एक स्त्री को सचमुच क्या चाहिए होता है ? *इसके लिए तुम्हारे पास एक महीने का समय है हर्षवर्धन ने यह प्रस्ताव स्वीकार कर लिया.. *वे जगह जगह जाकर विदुषियों, विद्वानों और तमाम घरेलू स्त्रियों से लेकर नृत्यांगनाओं, वेश्याओं, दासियों और रानियों, साध्वी सब से मिले और जानना चाहा कि एक स्त्री को सचमुच क्या चाहिए होता है ? किसी ने सोना, किसी ने चाँदी, किसी ने हीरे जवाहरात, किसी ने प्रेम-प्यार, किसी ने बेटा-पति-पिता और परिवार तो किसी ने राजपाट और संन्यास की बातें कीं, मगर हर्षवर्धन को सन्तोष न हुआ। *महीना बीतने को आया और हर्षवर्धन को कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला.. *किसी ने सुझाया कि दूर देश में एक जादूगरनी रहती है, उसके पास हर चीज का जवाब होता है शायद उसके पास इस प्रश्न का भी जवाब हो.. *हर्षवर्धन अपने मित्र सिद्धराज के साथ जादूगरनी के पास गए और अपना प्रश्न दोहराया। *जादूगरनी ने हर्षवर्धन के मित्र की ओर देखते हुए कहा.. मैं आपको सही उत्तर बताऊंगी परंतु इसके एवज में आपके मित्र को मुझसे शादी करनी होगी । *जादूगरनी बुढ़िया तो थी ही, बेहद बदसूरत थी, उसके बदबूदार पोपले मुंह से एक सड़ा दाँत झलका जब उसने अपनी कुटिल मुस्कुराहट हर्षवर्धन की ओर फेंकी । *हर्षवर्धन ने अपने मित्र को परेशानी में नहीं डालने की खातिर मना कर दिया, सिद्धराज ने एक बात नहीं सुनी और अपने मित्र के जीवन की खातिर जादूगरनी से विवाह को तैयार हो गया *तब जादूगरनी ने उत्तर बताया.. "स्त्रियाँ, स्वयं निर्णय लेने में आत्मनिर्भर बनना चाहती हैं | " *यह उत्तर हर्षवर्धन को कुछ जमा, पड़ोसी राज्य के राजा ने भी इसे स्वीकार कर लिया और उसने हर्षवर्धन को उसका राज्य लौटा दिया *इधर जादूगरनी से सिद्धराज का विवाह हो गया, जादूगरनी ने मधुरात्रि को अपने पति से कहा.. *चूंकि तुम्हारा हृदय पवित्र है और अपने मित्र के लिए तुमने कुरबानी दी है अतः मैं चौबीस घंटों में बारह घंटे तो रूपसी के रूप में रहूंगी और बाकी के बारह घंटे अपने सही रूप में, बताओ तुम्हें क्या पसंद है ? *सिद्धराज ने कहा.. प्रिये, यह निर्णय तुम्हें ही करना है, मैंने तुम्हें पत्नी के रूप में स्वीकार किया है, और तुम्हारा हर रूप मुझे पसंद है । *जादूगरनी यह सुनते ही रूपसी बन गई, उसने कहा.. चूंकि तुमने निर्णय मुझ पर छोड़ दिया है तो मैं अब हमेशा इसी रूप में रहूंगी, दरअसल मेरा असली रूप ही यही है। *बदसूरत बुढ़िया का रूप तो मैंने अपने आसपास से दुनिया के कुटिल लोगों को दूर करने के लिए धरा हुआ था । *अर्थात्, सामाजिक व्यवस्था ने औरत को परतंत्र बना दिया है, पर मानसिक रूप से कोई भी महिला परतंत्र नहीं है। *इसीलिए जो लोग पत्नी को घर की मालकिन बना देते हैं, वे अक्सर सुखी देखे जाते हैं। आप उसे मालकिन भले ही न बनाएं, पर उसकी ज़िन्दगी के एक हिस्से को मुक्त कर दें। उसे उस हिस्से से जुड़े निर्णय स्वयं लेने दें।

+155 प्रतिक्रिया 66 कॉमेंट्स • 158 शेयर
SUREKHA RANA Nov 25, 2021

+178 प्रतिक्रिया 20 कॉमेंट्स • 134 शेयर

+7 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 26 शेयर
ANITA THAKUR Nov 25, 2021

+178 प्रतिक्रिया 26 कॉमेंट्स • 134 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 5 शेयर

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 36 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB