Manju sharma singh
Manju sharma singh Oct 9, 2021

🌷🌷💕💕💕🙏🙏🙏💕💕💕🌹🌹🌹Jai Mata di🌹🌹🌹🌹💕💕💕💕🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 SUBHPRABHAT ji My Mandir ke Sabhi Sadasiyoo Ko ji 🌹🌹🌹🌹🌹🙏🙏🙏🙏🌹🌹🌹🌹

+27 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 118 शेयर

कामेंट्स

Manju sharma singh Oct 9, 2021
Jai Mata di ji have nice day ji sabhi ko ji Good morning ji 🌹🌹🌹🌹🌹🙏🙏🙏🙏🌹🌹🌹🌹🍫🍫🍫🍫🍫🍫🍫

Ravi Kumar Taneja Oct 9, 2021
🕉तीसरी माता चंद्रघंटा नमः 🕉 *🌹ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चंद्रघंटाये नम:🌹* 🌈प्रेम से बोलो :- 🌷👣जय माता दी 👣🌷 🌷👣जय माँ चंद्रघंटा👣🌷 🙏🌹🙏 🕉परम कृपालु माता चंद्रघंटा जी की असीम कृपा दृष्टि आप पर सदैव बनी रहे 🙏🌹🙏 🕉माँ चंद्रघंटा आपकी सभी विपत्ति:, विघ्न: और दुख: हर लेवे... 🙏🌻🙏 🕉माँ चंद्रघंटा की कृपा से आप हमेशा स्वस्थ रहे,मस्त रहे तथा मुस्कुराते रहे!!!🙏🌹🙏 🕉👣🔱🙏🌷🙏🔱👣🕉

संजीव शर्मा Oct 9, 2021
जब आपस में विश्वास होता है तो बिना कुछ कहे भी सारी बात समझ आ जाती है. अगर विश्वास न हो तो कितना भी कहते रहें, कोई बात समझ में नहीं आती. विश्वास रिश्तों की आत्मा होती है.’

💞 santoshi thakur 💞 Oct 9, 2021
GOOD MORNING SISTER JI,, JAI MATA DI 🙏 🚩JAI SHREE RAM 💐 JAI SHREE SHANIDEV 🙏 🚩AAPKA DIN SUBH HO✨GOD BLESS YOU AND YOUR FAMILY 🙏🎄🎄🎄🎄🎄🎄🎄🎄

keerti Ballabh Nov 26, 2021

+16 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 24 शेयर
Mukesh Janyani Nov 25, 2021

+18 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 76 शेयर
Mukesh Janyani Nov 25, 2021

+12 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 58 शेयर
Krishna Mishra Nov 25, 2021

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 25 शेयर
Sudha Mishra Nov 26, 2021

+6 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 8 शेयर
Mukesh Janyani Nov 25, 2021

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 17 शेयर

आज शुक्रवार है माता दुर्गा माता लक्ष्मी माता सरस्वती माता संतोषी का शुभ वार है जो भी सच्चे मन से ध्यावे उसका बेड़ा पार है ब्रह्मदत्त त्यागी हापुड़.... सभी संतोषी माता भक्तों को जय संतोषी माता..... जय संतोषी माता..... ब्रह्मदत्त त्यागी हापुड़ एवं सभी दोस्तों मित्रों साथियों की तरफ से शुभ शुक्रवार की हार्दिक शुभकामनाएं एवं बधाई जय संतोषी माता ➖➖➖शुक्रवार व्रत ➖➖➖ सृष्टि के सभी प्राणियों का कल्याण करने वाले भगवान शंकर के पुत्र श्री गणेश महाराज और माता ऋद्धि-सिद्धि की पुत्री संतोषी माता विश्व के सभी उपासक स्त्री-पुरुषों का कल्याण करती है। अपना व्रत करने तथा कथा सुनने वाले स्त्री-पुरुषों के धन-सम्पत्ति से भण्डार भरकर संतोषी माता उन्हें पृथ्वीलोक के सबसे बड़े सुख यानी "संतोष" धन से आनंदित करती हैं । व्यवसाय में दिन दूना और रात चौगुना लाभ होता है। शोक-विपत्ति नष्ट होती है और मनुष्य चिंता मुक्त होकर जीवन-यापन करता है। संतोषी माता का विधिवत् व्रत करने, गुड़ और चने का प्रसाद ग्रहण करने से कन्याओं को सुयोग्य वर मिलता है। स्त्रियाँ सदा सुहागन रहती हैं। नि:संतानों को पुत्र की प्राप्ति होती है। जीवन में सभी मनोकामनाएँ संतोषी माता के व्रत से पूरी होती है।➖ प्रस्तुतीकरण ➖ ब्रह्मदत्त त्यागी हापुड़ -

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB