madan pal 🌷🙏🏼
madan pal 🌷🙏🏼 Oct 24, 2021

🌹🕉️🙏🏼 जय श्री राधे कृष्णा जी 🙏🏼🕉️🌹👏🌹🕉️🙏🏼 शूभ प्रभात वंदन जी 🙏🏼🕉️🌹👏🌹🕉️🙏🏼 सभी भाई बहनों को करवा चौथ व्रत की हार्दिक शुभकामनाएं जी 🙏🏼🕉️🌹👏🌷🧡🧡🧡🧡🧡🧡🧡🧡🧡🧡🧡🧡🧡🧡🧡🧡

+222 प्रतिक्रिया 33 कॉमेंट्स • 135 शेयर

कामेंट्स

Vijay Pandey Oct 24, 2021
जय सियाराम जी ‌🚩🌷💓🙏 शुभ प्रभात की शुभ मंगल कामनाएं भाई ईश्वर आपका सदा मंगल करें, करवा चौथ पर ढेरों सारी हार्दिक शुभकामनाएं ‌💓🙌

🌹Radha Sharma 🌹 Oct 24, 2021
जय सूर्य देव भगवान की🙏 सादर स्नेह वंदन जी🙏 आप का हर पल मंगलमय हो🙏 भगवान आपकी सदैव रक्षा करें🙏 राधे राधे जय श्री कृष्णा🙏🌹

Manoj Gupta AGRA Oct 24, 2021
jai shree radhe krishna ji 🙏🙏🌷🌸💐 shubh prabhat vandan ji 🙏🙏🌷🌸

kamala Maheshwari Oct 24, 2021
happy sunday। karva chauth ki 🚩 hardik shubhkamnaye jisurya dav maharaj ki kripa aap par sada bani rahe jai shree krishna ji 💠♦️💠♦️

योगेश जानी Oct 24, 2021
जयश्री हनुमानजी जयश्री शनीदेव शुभ शनिवार आप का दिन शुभहो नमस्ते

Vineeta Tripathi Oct 24, 2021
Happy krwachoth 🌹🌹 Have a great day ☘️☘️ Gad bless you and your family 👍

🌹Radha Sharma 🌹 Oct 24, 2021
जय सूर्य भगवान की🙏 सादर स्नेह वंदन जी🙏 करवा चौथ के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं🙏 भगवान गौरी शंकर सभी को दीर्घायु प्रदान करें🙏🌹

Bindu Singh Oct 24, 2021
Jai shree krishna ji Radhe Radhe ji good af very nice post Radhe Radhe ji 🌷🙏🏼👌

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Oct 24, 2021
Good Afternoon My Bhai ji 🙏🕉️ Aapko Happy Karva Chauth Ki Hardik Shubhkamnaye ji 🙏🙏🌹🌹 Jay Shree Radhe Radhe Radhe 🙏🙏🌹🌹 God Bless You And Your Family Always Be Happy My Bhai ji 🙏 Aapka Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

Ansouya Mundram 🍁 Oct 24, 2021
जय श्री राधे कृष्ण 🙏🙏🕉 सस्नेह शुभ दोपहर भईया जी 🙏 शुभ करवा चौथ की हार्दिक शुभकामनाएं भाई जी 🙏 ॐ घृणी सुर्याय नमः 🌹🙏 सुर्य देव जी की कृपा आप और आपके परिवार पर हमेशा बना रहे भाई जी 🙏 आप सदा स्वस्थ और खुश रहें जी 🌷🙏🌷🙏 राधे राधे भाई जी 🙏

dhruvwadhwani Oct 24, 2021
जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे जय श्री राधे राधे

dhruvwadhwani Oct 24, 2021
जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा जय श्री कृष्णा

dhruvwadhwani Oct 24, 2021
जय श्री राधे कृष्णा जय श्री राधे कृष्णा जय श्री राधे कृष्णा जय श्री राधे कृष्णा जय श्री राधे कृष्णा जय श्री राधे कृष्णा जय श्री राधे कृष्णा जय श्री राधे कृष्णा जय श्री राधे कृष्णा जय श्री राधे कृष्णा जय श्री राधे कृष्णा

Runa Sinha Oct 24, 2021
🌿🙏Jai Shri Krishna🙏🌿 🌿🌿Radhe🌿💕Radhe🌿💕 💕🌿Good 💕🌿night 💕🌿

Golu Rathor Jan 26, 2022

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 11 शेयर
smt neelam sharma Jan 25, 2022

*गणतंत्र दिवस है आज गोविन्द राधे।* *सर्वतंत्र स्वतंत्र हरि यंत्र बना दे।।* *जय हिंद मंत्र जनतंत्र में गुंजा दे।* *वीर सुपूतों को सुनमन करा दे।।* *गणतंत्र दिवस पर हे गोविन्द राधे।* *स्वतंत्र भारत का उत्थान करा दे।।* *देशतंत्र संविधान गोविन्द राधे।* *मेरा सर्वतंत्र गुरु विधान से चला दे।।* *सर्वतंत्र मंत्र एक गोविन्द राधे।* *जग से हटा के मन हरि में लगा दे।।* *सर्वतंत्र मंत्र यंत्र गोविन्द राधे।* *हरि गुरु प्रित्यार्थ ही हो बता दे।।* *गणतंत्र दिवस पर है गोविन्द राधे।* *यत्र तत्र सर्वत्र जय हिन्द सुना दे।।* *सर्वतंत्र मंत्र एक गोविन्द राधे।* *गणतंत्र को माया से स्वतंत्र करा दे।।* *गणतंत्र दिवस पर हे गोविन्द राधे।* *स्वतंत्र मन को स्वयंत्र बना दे।।* *-जगद्गुरूत्तम श्री कृपालु जी महाराज*

+49 प्रतिक्रिया 12 कॉमेंट्स • 33 शेयर

जय श्री राधे 🌹🙏🏻🌹 🙏🏻🙏🏻माघ माह महात्यम अध्याय 6🙏🏻🙏🏻 🦚🦚🦚🦚🦚🌹🌹🌹🌹🌹🌹🦚🦚🦚🦚🦚 पूर्व समय में सतयुग के उत्तम निषेध नामक नगर में हेमकुंडल नाम वाला कुबेर के सदृश धनी वैश्य रहता था. जो कुलीन, अच्छे काम करने वाला, देवता, अग्नि और ब्राह्मण की पूजा करने वाला, खेती का काम करता था. वह गौ, घोड़े, भैंस आदि का पालन करता था. दूध, दही, छाछ, गोबर, घास, गुड़, चीनी आदि अनेक वस्तु बेचा करता था जिससे उसने बहुत सा धन इकठ्ठा कर लिया था. जब वह बूढ़ा हो गया तो मृत्यु को निकट समझकर उसने धर्म के कार्य करने प्रारंभ कर दिए. भगवान विष्णु का मंदिर बनवाया. कुंआ, तालाब, बावड़ी, आम, पीपल आदि वृक्ष के तथा सुंदर बाग-बगीचे लगवाए. सूर्योदय से सूर्यास्त तक वह दान करता, गाँव के चारों तरफ जल की प्याऊ लगवाई. उसने सारे जन्म भर जितने भी पाप किए थे उनका प्रायश्चित करता था. इस प्रकार उसके दो पुत्र उत्पन्न हुए जिनका नाम उसने कुंडल और विकुंडल रखा. जब दोनों लड़के युवावस्था के हुए तो हेमकुंडल वैश्य गृहस्थी का सब कार्य सौंपकर तपस्या के निमित्त वन में चला गया और वहाँ विष्णु की आराधना में शरीर को सुखाकर अंत में विष्णु लोक को प्राप्त हुआ. उसके दोनों पुत्र लक्ष्मी के मद को प्राप्त होकर बुरे कर्मों में लग गए. वेश्यागामी वीणा और बाजे लेकर वेश्याओं के साथ गाते-फिरते थे. अच्छे सुंदर वस्त्र पहनकर सुगंधित तेल आदि लगाकर, भांड और खुशामदियों से घिरे हुए हाथी की सवारी और सुंदर घरों में रहते थे. इस प्रकार ऊपर बोए बीज के सदृश वह अपने धन को बुरे कामों में नष्ट करते थे. कभी किसी सत पात्र को दान आदि नहीं करते थे न ही कभी हवन, देवता या ब्रह्माजी की सेवा तथा विष्णु का पूजन ही करते थे. थोड़े दिनों में उनका सब धन नष्ट हो गया और वह दरिद्रता को प्राप्त होकर अत्यंत दुखी हो गए. भाई, जन, सेवक, उपजीवी सब इनको छोड़कर चले गए तब इन्होंने चोरी आदि करना आरंभ कर दिया और राजा के भय से नगर को छोड़कर डाकुओं के साथ वन में रहने लगे और वहाँ अपने तीक्ष्ण बाणों से वन के पक्षी, हिरण आदि पशु तथा हिंसक जीवों को मारकर खाने लगे. एक समय इनमें से एक पर्वत पर गाय जिसको सिंह मारकर खा गया और दूसरा वन को गया जो काले सर्प के डसने से मर गया तब यमराज के दूत उन दोनों को बाँधकर यम के पास लाए और कहने लगे कि महाराज इन दोनों पापियों के लिए क्या आज्ञा है?

+17 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 34 शेयर

+88 प्रतिक्रिया 24 कॉमेंट्स • 96 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB