💢🎆🚩जय हो विश्वकर्मा भगवान की 🚩🎆💢 ✍️🌼🌷शुभ प्रभात स्नेह वंदन जी 🌷🌼✍️ विश्वकर्मा पूजा का पावन पर्व हर साल उस दिन मनाया जाता है जब सूर्यदेव सिंह राशि से कन्या राशि मंक प्रवेश करते हैं. भगवान विश्वकर्मा का जिक्र 12 आदित्यों और लोकपालों के साथ ऋग्वेद में होता है. इस तरह भगवान विश्वकर्मा की मान्यता पौराणिक काल से भी पहले मानी जाती है. विश्वकर्मा पूजा का पावन पर्व हर साल उस दिन मनाया जाता है जब सूर्यदेव सिंह राशि से कन्या राशि मंक प्रवेश करते हैं. पौराणिक कथाओं के अनुसार, आज ही के दिन भगवान विश्वकर्मा का जन्म हुआ था. इस ​दिन भगवान विश्वकर्मा की पूजा करने का विधान है. उनकी कृपा से बिगड़े काम बन जाते हैं, बिजनेस और रोजगार में सफलता प्राप्त होती है. दुनिया ​के पहले वास्तुकार एवं इंजीनियर कहे जाने वाले विश्वकर्मा जी ने इस सृष्टि की रचना करने में परम पिता ब्रह्मा जी की सहायता की थी. उन्होंने सबसे पहले इस संसार का मानचित्र तैयार किया था. प्राचीन काल में जितनी भी राजधानियां थी। उन सभी का निर्माण विश्वकर्मा जी के द्वारा ही किया गया था।यहां तक की सतयुग का स्वर्ग लोक, त्रेतायुग की लंका, द्वापर की द्वारिका और कलियुग का हस्तिनापुर सभी विश्वकर्मा जी के द्वारा ही रचित थे।सुदामापुरी की रचना के बारे में भी यह कहा जाता है कि उसके निर्माता भी विश्वकर्मा जी ही थे. इससे यह पता चलता है कि धन धान्य की अभिलाषा करने वालों को भगवान विश्वकर्मा की पूजा अवश्य करनी चाहिए. विश्वकर्मा जी को देवताओं के शिल्पी के रूप में विशिष्ट स्थान प्राप्त है। भगवान विश्वकर्मा की एक पौराणिक कथा के अनुसार प्राचीन काल में काशी में रहने वाला एक रथकार अपनी पत्नी के साथ रहता था. वह अपने कार्य में निपुण तो था लेकिन स्थान- स्थान पर घूमने पर भी वह भोजन से अधिक धन प्राप्त नहीं कर पाता था. उसके जीविकापर्जन का साधन निश्चित नहीं था. इतना ही नहीं उस रथकार की पत्नी भी पुत्र न होने के कारण चिंतित रहा करती थी. पुत्र प्राप्ति के लिए दोनों साधु और संतों के पास जाते थे. लेकिन उनकी यह इच्छा पूरी न हो सकी. तब एक पड़ोसी ब्राह्मण ने रथकार से कहा तुम दोनों भगवान विश्वकर्मा की शरण में जाओ. तुम्हारी सभी इच्छाएं अवश्य ही पूरी होंगी और अमावस्या तिथि को व्रत कर भगवान विश्वकर्मा का महत्व सुनों. इसके बाद अमावस्या को रथकार की पत्नी ने भगवान विश्वकर्मा की पूजा की जिससे उसे धन धान्य और पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई और वह सुखी जीवन व्यतीत करने लगे. विश्विकर्मा पूजा विधि सुबह उठकर स्नानादि कर पवित्र हो जाएं। फिर पूजन स्थल को साफ कर गंगाजल छिड़क कर उस स्थान को पवित्र करें एक चौकी लेकर उस पर पीले रंग का कपड़ा बिछाएं. पीले कपड़े पर लाल रंग के कुमकुम से स्वास्तिक बनाएं. भगवान गणेश का ध्यान करते हुए उन्हें प्रणाम करें. इसके बाद स्वास्तिक पर चावल और फूल अर्पित करें। फिर चौकी पर भगवान विष्णु और ऋषि विश्वकर्मा जी की प्रतिमा या फोटो लगाएं एक दीपक जलाकर चौकी पर रखें. भगवान विष्णु और ऋषि विश्वकर्मा जी के मस्तक पर तिलक लगाएं. विश्वकर्मा जी और विष्णु जी को प्रणाम करते हुए उनका स्मरण करें. साथ ही प्रार्थना करें कि वे आपके नौकरी-व्यापार में तरक्की करवाएं. विश्वकर्मा जी के मंत्र का 108 बार जप करें. फिर श्रद्धा से भगवान विष्णु की आरती करने के बाद विश्वकर्मा जी की आरती करें.आरती के बाद उन्हें फल-मिठाई का भोग लगाएं. इस भोग को सभी लोगों में बांटें.

💢🎆🚩जय हो विश्वकर्मा भगवान की 🚩🎆💢
✍️🌼🌷शुभ   प्रभात  स्नेह   वंदन जी 🌷🌼✍️
विश्वकर्मा पूजा का पावन पर्व हर साल उस दिन मनाया जाता है जब सूर्यदेव सिंह राशि से कन्या राशि मंक प्रवेश करते हैं. भगवान विश्वकर्मा का जिक्र 12 आदित्यों और लोकपालों के साथ ऋग्वेद में होता है. इस तरह भगवान विश्वकर्मा की मान्यता पौराणिक काल से भी पहले मानी जाती है.
विश्वकर्मा पूजा का पावन पर्व हर साल उस दिन मनाया जाता है जब सूर्यदेव सिंह राशि से कन्या राशि मंक प्रवेश करते हैं. पौराणिक कथाओं के अनुसार, आज ही के दिन भगवान विश्वकर्मा का जन्म हुआ था. इस ​दिन भगवान विश्वकर्मा की पूजा करने का विधान है. उनकी कृपा से बिगड़े काम बन जाते हैं, बिजनेस और रोजगार में सफलता प्राप्त होती है. दुनिया ​के पहले वास्तुकार एवं इंजीनियर कहे जाने वाले विश्वकर्मा जी ने इस सृष्टि की रचना करने में परम पिता ब्रह्मा जी की सहायता की थी. उन्होंने सबसे पहले इस संसार का मानचित्र तैयार किया था.

प्राचीन काल में जितनी भी राजधानियां थी। उन सभी का निर्माण विश्वकर्मा जी के द्वारा ही किया गया था।यहां तक की सतयुग का स्वर्ग लोक, त्रेतायुग की लंका, द्वापर की द्वारिका और कलियुग का हस्तिनापुर सभी विश्वकर्मा जी के द्वारा ही रचित थे।सुदामापुरी की रचना के बारे में भी यह कहा जाता है कि उसके निर्माता भी विश्वकर्मा जी ही थे. इससे यह पता चलता है कि धन धान्य की अभिलाषा करने वालों को भगवान विश्वकर्मा की पूजा अवश्य करनी चाहिए.

विश्वकर्मा जी को देवताओं के शिल्पी के रूप में विशिष्ट स्थान प्राप्त है। भगवान विश्वकर्मा की एक पौराणिक कथा के अनुसार प्राचीन काल में काशी में रहने वाला एक रथकार अपनी पत्नी के साथ रहता था. वह अपने कार्य में निपुण तो था लेकिन स्थान- स्थान पर घूमने पर भी वह भोजन से अधिक धन प्राप्त नहीं कर पाता था. उसके जीविकापर्जन का साधन निश्चित नहीं था. इतना ही नहीं उस रथकार की पत्नी भी पुत्र न होने के कारण चिंतित रहा करती थी.

पुत्र प्राप्ति के लिए दोनों साधु और संतों के पास जाते थे. लेकिन उनकी यह इच्छा पूरी न हो सकी. तब एक पड़ोसी ब्राह्मण ने रथकार से कहा तुम दोनों भगवान विश्वकर्मा की शरण में जाओ. तुम्हारी सभी इच्छाएं अवश्य ही पूरी होंगी और अमावस्या तिथि को व्रत कर भगवान विश्वकर्मा का महत्व सुनों. इसके बाद अमावस्या को रथकार की पत्नी ने भगवान विश्वकर्मा की पूजा की जिससे उसे धन धान्य और पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई और वह सुखी जीवन व्यतीत करने लगे.

विश्विकर्मा पूजा विधि

सुबह उठकर स्नानादि कर पवित्र हो जाएं। फिर पूजन स्थल को साफ कर गंगाजल छिड़क कर उस स्थान को पवित्र करें

एक चौकी लेकर उस पर पीले रंग का कपड़ा बिछाएं.

पीले कपड़े पर लाल रंग के कुमकुम से स्वास्तिक बनाएं.

भगवान गणेश का ध्यान करते हुए उन्हें प्रणाम करें. इसके बाद स्वास्तिक पर चावल और फूल अर्पित करें। फिर चौकी पर भगवान विष्णु और ऋषि विश्वकर्मा जी की प्रतिमा या फोटो लगाएं

एक दीपक जलाकर चौकी पर रखें. भगवान विष्णु और ऋषि विश्वकर्मा जी के मस्तक पर तिलक लगाएं.

विश्वकर्मा जी और विष्णु जी को प्रणाम करते हुए उनका स्मरण करें. साथ ही प्रार्थना करें कि वे आपके नौकरी-व्यापार में तरक्की करवाएं.

विश्वकर्मा जी के मंत्र का 108 बार जप करें. फिर श्रद्धा से भगवान विष्णु की आरती करने के बाद विश्वकर्मा जी की आरती करें.आरती के बाद उन्हें फल-मिठाई का भोग लगाएं. इस भोग को सभी लोगों में बांटें.

+247 प्रतिक्रिया 60 कॉमेंट्स • 435 शेयर

कामेंट्स

Rakesh Kumar Sharma Sep 17, 2021
🌞🌹🙏शुभ प्रभात वंदन जी🙏🌹 🌿🌸🌼🙏भगवान श्री विश्वकर्मा जंयती की हार्दिक शुभकामनाएं जी🙏 एवं परिवर्तन एकादशी की हार्दिक शुभकामनाएं जी🙏 एवं देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के जन्म दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं जी🙏🌹 🌸🌿🇮🇳🌹🎂🌿🔱☘️🥀🔔🍀🚩🌷🍧

Anup Kumar Sep 17, 2021
जय माता दी 🙏🏻🙏🏻 सुप्रभात वंंदन, मेरी बहना ।आपको सपरिवार विश्वकर्मा जयंती, वामन जयंती तथा परिवर्तिनी एकादशी की हार्दिक शुभकामनाएं। आपके लिए आज का दिन शुभ हो 🙏🏻🌹

🌷JK🌷 Sep 17, 2021
🌹Jai Sri Viswakarma ji🌹 Good morning ji 🌹🌹🙏🌹🌹

Ritu Sep 17, 2021
Radhey Radhey ji 🙏🏻🙏🏻🌹🌹🙏🏻🙏🏻

N.k.m Sep 17, 2021
jai maa santoshi ji jai shree hari eka dashi ki subh kamna 🌹🌹👏

Nitin Sharma Sep 17, 2021
#जय_जय_श्री_राम #जय_माता_दी #सनातन_धर्म_सर्वश्रेष्ठ_है #सुप्रभात 🙏🏻🙏🏻🌺🌺🌺

R.K.SONI (Ganesh Mandir Sep 17, 2021
जय गणेश देवा जा🙏🏻जय लक्ष्मी माता🙏माता रानी की कृपा से आप खुश व स्वस्थ रहे जी👌👌💐💐🙏🏻

Ranveer Soni Sep 17, 2021
🌹🌹जय श्री विश्वकर्मा🌹🌹

SOM DUTT SHARMA Sep 17, 2021
🌋🌋🌋🌋🌋🌋🌋🌋 jai mata 🙏 di very very sweet good morning 🌄 g have a great day and take care g very nice post g🤔 thanks g 🙏🌋🌋🌋🌋🌋🌋🌋🌋

Runa Sinha Sep 17, 2021
Jai Vishvakarma Puja🙏 Good afternoon bahan🙏

🚩भास्कर 🚩दत्त 🚩तिवारी🚩 Sep 17, 2021
जय मां भगवती शुभ दोपहर वंदन जी आपका हर पल मंगलमय हो आप सदा सुखी स्वस्थ्य समृद्धिशाली बने रहें🙏💐🌹🕉️🕉️🌹💐🙏

🇮🇳🇮🇳GEETA DEVI 🇮🇳🇮🇳 Sep 17, 2021
JAI MATA RANI DI... 🙏🌺🌺 MA! NAV DURGA BLESS U AND UR ALL FAMILY...🙏🌺🌺 HAPPY VISHVKARMA POOJA... 🙏🥀🥀 🍀🙏🥀🥀🥀🥀🥀🙏🍀 BEAUTIFUL... 🎈🎈🎉 GOOD AFTERNOON MY LOVELY SISTER JI HAVE A GREAT DAY... 🍰🍰🍹🍹🤗🤗👌👌🎈🎈🎉🙏🙏🌺🌺🌸🌸🌺🌺🌸🌸🌺🌺🌸🌸🌺🌺🌸🌸🌺🌺🌸🌸🌺🌺🌸🌸🌺🌺🌸🌸🌺🌺🌸🌸🌺🌺🌸🌸🌺🌺🌸🌸🌺🌺🌸🌸🌺🌺

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Sep 17, 2021
Good Afternoon My Sister ji 🙏🙏 Jay Mata di 🙏🙏🌹🌹🌷💐🌹😘🌹Mata Rani 🙏🙏🌹🌹🌹 Ki Kripa Dristi Aap Our Aapke Priwar Per Hamesha Sada Bhni Rahe ji 🙏 Aapka Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹💐💐💐💐🌷🌷🌷🌷🌹🌹.

SANTOSH YADAV Sep 17, 2021
जय श्री गणेश जय श्री विश्वकर्मा जी

Ashwinrchauhan Sep 17, 2021
विश्वकर्मा ज्यंन्ती एवं परिवर्तिनी एकादशी की हार्दिक शुभकामनाएं जय श्री हरि विष्णु ॐ नमौ भगवते वासुदेवाय नमः ॐ नमौ नारायणे नमः भगवान विष्णुजी की कृपा आप पर आप के पुरे परिवार पर सदेव बनी रहे मेरी आदरणीय बहना जी आप का हर पल मंगल एवं शुभ रहे भगवान श्री लक्ष्मी नारायण देव आप की हर मनोकामना पूरी करे आप का आने वाला दिन शुभ रहे शुभ संध्या वंदन बहना जी जय श्री कृष्ण

Alka Devgan Sep 17, 2021
Om Sai Ram 🙏 Baba bless you and your family aapka har pal mangalmay n shubh ho bahna ji Happy Vishvakarma Divas 🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

+16 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 48 शेयर
Naresh Narwal Oct 15, 2021

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 40 शेयर

+20 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 36 शेयर
SUJATA Oct 15, 2021

+160 प्रतिक्रिया 25 कॉमेंट्स • 149 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB