🌷Amar gaur🌷
🌷Amar gaur🌷 Dec 5, 2021

🌷🌷 जय श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग नमो नमः जी 🌷 🌷🌷🌷 जय शिव शम्भू जय भोलेनाथ जी 🌷🌷🌷 🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀

+70 प्रतिक्रिया 29 कॉमेंट्स • 43 शेयर

कामेंट्स

ILA SINHA Dec 6, 2021
🌺🥀Har har Mahadev🥀🌺 🌺🥀Om Namah Shivay🥀🌺 🌺🥀 Happy Monday 🥀🌺 🌺🥀 Good morning 🥀🌺

Anil Dec 6, 2021
good morning 🌹🌹🌹🌹🙏🙏🌹🌹🌹🌹

snehalata Mishra Dec 6, 2021
जय शंकर भगवान की🙏 शुभ सोमवार वंदन जी🙏🌹🌹

Anup Kumar Sinha Dec 6, 2021
ऊँ नमः शिवाय 🙏🙏 हर हर महादेव🙏🙏 सुप्रभात वंदन, भाई जी । भगवान भोलेनाथ आपकी हर मनोकामना पूरी करें ।आपका दिन शुभ हो 🙏💥

Runa Sinha Dec 6, 2021
Om Namah Shivay 🌹🙏🌹 Good morning. Bhagwan Bholenath ki kripa aap sapariwar par bani rahe,bhai 🙏

santoshi thakur Dec 6, 2021
Har Har Mahadev 🙏🏵️ Jai Shree Mahakal🏵️🙏 good morning bhai sab 🙏 om namah shivay 🙏 aapka din mangalmay ho bhole baba bless you and your family always be happy 🌹🙏🌹

Brajesh Sharma Dec 6, 2021
🎋🌺🌞🇮🇳🙏❤👌🙏🇮🇳🌞🎋 ॐ नमः शिवाय.. हर हर महादेव राम राम जी जय जय श्री राम खुश रहें मस्त रहें स्वस्थ रहें व्यस्त रहें 👌🇮🇳❤🙏🌞👌🌺🎋❤🙏

💖Poonam Sharma💖 Dec 6, 2021
Jay shree mahakal Har har mahadev Jay Shri Radhe Krishna jii have a nice day 🙏🏻🌻🌻🌷🌻🌻

꧁༒︎Kavita Sharma༒︎꧂ Dec 6, 2021
🌏💦💧ईश्वर सत्य है💧💦🌏,, ❄️❄️सत्य ही शिव है❄️❄️ 🌏💦शिव ही सुन्दर है💦🌏 🐚🐚सत्यम शिवम् सुन्दरम्🐚🐚 🌏💦💦शुभ प्रभात💦💦🌏

Ansouya Mundram 🍁 Dec 6, 2021
हर हर महादेव 🙏🌹 सस्नेह शुभ प्रभात वनदन जी 🙏 आप का दिन शुभ और मंगलमय हो जी🙏 भोले बाबा और माता पार्वती की कृपा आप और आपके परिवार पर हमेशा बना रहे जी आप सपरिवार सदा स्वस्थ और खुश रहें जी 🌷🙏🌷🙏 जय भोले नाथ की 🙏🌹

Ansouya Mundram 🍁 Dec 6, 2021
सुन्दर प्रस्तुति के लिए धन्यवाद जी जय भोले नाथ की 🙏🌹

🌷Amar gaur🌷 Dec 6, 2021
@radhika 🙏🌹 ऊं नमः शिवाय हर हर महादेव जी 🌹🌹🙏🙏🏻🌹sweet good night ji 🌷 🌹 जय श्री राम जी जय बजरंग बली जी🙏🌹 🙏🌹 🙏🌷जय श्री महाकाल जी जय श्री कृष्णा श्री राधे राधे जी भगवान भोले नाथ की कृपा आप ओर आप के परिवार पर सदा बनी रहे जी 🌷🌷आप सदा ही मुस्कुराते रहो जी ..🌷💐🌹आप का हर पल शुभ मंगलमय हो जी 🌷🌹💐🙏🙏आप सदा खुश रहो जी ...🌹🌹🌹🌹🌹🌹💐💐🌷🌷

🌷Amar gaur🌷 Dec 6, 2021
@rajeshpanday1 🙏🌹 ऊं नमः शिवाय हर हर महादेव जी 🌹🌹🙏🙏🏻🌹sweet good night ji 🌷 🌹 जय श्री राम जी जय बजरंग बली जी🙏🌹 🙏🌹 🙏🌷जय श्री महाकाल जी जय श्री कृष्णा श्री राधे राधे जी भगवान भोले नाथ की कृपा आप ओर आप के परिवार पर सदा बनी रहे जी 🌷🌷आप सदा ही मुस्कुराते रहो जी ..🌷💐🌹आप का हर पल शुभ मंगलमय हो जी 🌷🌹💐🙏🙏आप सदा खुश रहो जी ...🌹🌹🌹🌹🌹🌹💐💐🌷🌷

Radhe Krishna Dec 6, 2021
भगवान भोलेनाथ जी की जय 🙏🏻🌹🌹

. "बाबा काशी विश्वनाथ मंदिर से जुड़े रहस्य* "1. काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग दो भागों में है। दाहिने भाग में शक्ति के रूप में मां भगवती विराजमान हैं। दूसरी ओर भगवान शिव वाम रूप (सुंदर) रूप में विराजमान हैं। इसीलिए काशी को मुक्ति क्षेत्र कहा जाता है।" "2. देवी भगवती के दाहिनी ओर विराजमान होने से मुक्ति का मार्ग केवल काशी में ही खुलता है। यहां मनुष्य को मुक्ति मिलती है और दोबारा गर्भधारण नहीं करना होता है। भगवान शिव खुद यहां तारक मंत्र देकर लोगों को तारते हैं। अकाल मृत्यु से मरा मनुष्य बिना शिव अराधना के मुक्ति नहीं पा सकता।" "3. श्रृंगार के समय सारी मूर्तियां पश्चिम मुखी होती हैं। इस ज्योतिर्लिंग में शिव और शक्ति दोनों साथ ही विराजते हैं, जो अद्भुत है। ऐसा दुनिया में कहीं और देखने को नहीं मिलता है।" "4. विश्वनाथ दरबार में गर्भ गृह का शिखर है। इसमें ऊपर की ओर गुंबद श्री यंत्र से मंडित है। तांत्रिक सिद्धि के लिए ये उपयुक्त स्थान है। इसे श्री यंत्र-तंत्र साधना के लिए प्रमुख माना जाता है।" "5. बाबा विश्वनाथ के दरबार में तंत्र की दृष्टि से चार प्रमुख द्वार इस प्रकार हैं :- 1. शांति द्वार. 2. कला द्वार 3. प्रतिष्ठा द्वार 4. निवृत्ति द्वार "इन चारों द्वारों का तंत्र में अलग ही स्थान है। पूरी दुनिया में ऐसा कोई जगह नहीं है जहां शिवशक्ति एक साथ विराजमान हों और तंत्र द्वार भी हो।" "6. बाबा का ज्योतिर्लिंग गर्भगृह में ईशान कोण में मौजूद है। इस कोण का मतलब होता है, संपूर्ण विद्या और हर कला से परिपूर्ण दरबार। तंत्र की 10 महा विद्याओं का अद्भुत दरबार, जहां भगवान शंकर का नाम ही ईशान है।" "7. मंदिर का मुख्य द्वार दक्षिण मुख पर है और बाबा विश्वनाथ का मुख अघोर की ओर है। इससे मंदिर का मुख्य द्वार दक्षिण से उत्तर की ओर प्रवेश करता है। इसीलिए सबसे पहले बाबा के अघोर रूप का दर्शन होता है। यहां से प्रवेश करते ही पूर्व कृत पाप-ताप विनष्ट हो जाते हैं।" "8. भौगोलिक दृष्टि से बाबा को त्रिकंटक विराजते यानि त्रिशूल पर विराजमान माना जाता है। मैदागिन क्षेत्र जहां कभी मंदाकिनी नदी और गौदोलिया क्षेत्र जहां गोदावरी नदी बहती थी। इन दोनों के बीच में ज्ञानवापी में बाबा स्वयं विराजते हैं। मैदागिन-गौदौलिया के बीच में ज्ञानवापी से नीचे है, जो त्रिशूल की तरह ग्राफ पर बनता है। इसीलिए कहा जाता है कि काशी में कभी प्रलय नहीं आ सकता।" "9. बाबा विश्वनाथ काशी में गुरु और राजा के रूप में विराजमान है। वह दिनभर गुरु रूप में काशी में भ्रमण करते हैं। रात्रि नौ बजे जब बाबा का श्रृंगार आरती किया जाता है तो वह राज वेश में होते हैं। इसीलिए शिव को राजराजेश्वर भी कहते हैं। "10. बाबा विश्वनाथ और मां भगवती काशी में प्रतिज्ञाबद्ध हैं। मां भगवती अन्नपूर्णा के रूप में हर काशी में रहने वालों को पेट भरती हैं। वहीं, बाबा मृत्यु के पश्चात तारक मंत्र देकर मुक्ति प्रदान करते हैं। बाबा को इसीलिए ताड़केश्वर भी कहते हैं।" "11. बाबा विश्वनाथ के अघोर दर्शन मात्र से ही जन्म जन्मांतर के पाप धुल जाते हैं। शिवरात्रि में बाबा विश्वनाथ औघड़ रूप में भी विचरण करते हैं। उनके बारात में भूत, प्रेत, जानवर, देवता, पशु और पक्षी सभी शामिल होते हैं।" ----------::;×:::---------- "जय जय श्री महाकाल" " कुमार रौनक कश्यप " ************************************************

+4 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 19 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB