siddharththakur
siddharththakur Sep 21, 2021

Jai shri Krishna

Jai shri Krishna
Jai shri Krishna

+103 प्रतिक्रिया 34 कॉमेंट्स • 24 शेयर

कामेंट्स

Vineeta Tripathi Sep 21, 2021
Jai sri ram 🌹🌹 Jai Hanuman ji ki 🙏🙏 Apka din mnglmay ho Ji ☘️☘️

Anup Kumar Sep 21, 2021
जय श्री राम 🙏🏻🙏🏻 शुभ दोपहर वंंदन, भाई जी । भगवान राम एवं उनके परम भक्त हनुमानजी की कृपा सदैव आपके ऊपर बनी रहे 🙏🏻🌹

SANTOSH YADAV Sep 21, 2021
जय श्री गणेश ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमः शुभ मंगलवार वंदन जी

Arti Kesarwani Sep 21, 2021
Radhe Radhe bhai Sahab ji aap Khush rahiye ji 🙏🏻🙏🏻🌹🌹🤗🥰

Neha Sharma Sep 21, 2021
🙏जय श्री सीताराम जय श्री हनुमान🙏 शुभ संध्या नमन🙏ईश्वर की कृपा से आपका हर पल शुभ व मंगलमय हो भाईजी🙏 🌺🙏जय-जय श्री राधेकृष्णा🙏🌺

Mamta Chauhan Sep 21, 2021
Jai shri ram jai hanuman ji🌹🙏Shubh sandhya vandan vandan bhai ji aapka har pal mangalmay ho khushion bhra ho aapki sabhi manokamna puri ho🌹 Radhe radhe 🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹

Ansouya M 🍁 Sep 21, 2021
जय सिया राम 🌹🙏🌹 सस्नेह शुभ संद्या वनदन भईया जी 🙏 आपका हर पल मंगलमय हो जी 🙏🏻 प्रभु श्री राम जी और हनुमान जी की कृपा आप और आपके परिवार पर हमेशा बना रहे भाई जी 🙏 सन्कट मोचन हनुमान जी आपके सभी कार्य सिद्ध करें भैया जी 🙏 आप सदा स्वस्थ और खुश रहें जी 🌷🙏🌷🙏 जय बजरंग बली हनुमान 🙏

हरे रामा हरे कृष्णा Sep 21, 2021
राधे राधे जय श्री कृष्ण🙏 शुभ रात्रि वंदन जी, आप का हर पल मंगलमय हो🙏 जय गणेश भगवान की🙏🌹

Anup Kumar Sep 21, 2021
जय श्री राधे कृष्ण 🙏🏻🙏🏻 शुभ रात्रि वंंदन, भाई जी । आनेवाला कल आपके लिए बेहतर हो और आपके लिए नयी खुशियाँ लाये 🙏🏻🌹

R H BHAtt Sep 21, 2021
Jai Shri Radhe Krishna Shubh ratri ji Vandana ji Ram ram ji

Neha Sharma Sep 21, 2021
🌺🙏जय श्री राधेकृष्णा🙏🌺 शुभ रात्रि नमन 🙏ईश्वर की असीम कृपा आप और आपके परिवार पर सदैव बनी रहे जी। आपका हर पल शुभ व मंगलमय हो भाई जी🙏🌺

Renu Singh Sep 21, 2021
Jai Shree Ram 🌹🙏 Shubh Ratri Vandan Bhai Ji Hanuman ji Aap Sapriwar ki Sadaiv Raksha Karein Aapka Har Pal Shubh Avam Mangalmay ho Bhai Ji 🙏🌹

Mamta Chauhan Sep 21, 2021
Radhe radhe ji 🌹🙏Shubh ratri vandan vandan bhai ji aapka har pal mangalmay ho khushion bhra ho aapki sabhi manokamna puri ho🌹 Radhe radhe 🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹

🙋ANJALI😊MISHRA 🙏 Sep 21, 2021
जय सियाराम भाई जी शुभ रात्रि वंदन 🌹🙏आप का हर पल मंगलमय हो 👌प्रभु श्री राम भगत हनुमान जी की कृपा सदा आप पर बनी रहें 🙌जय श्री राधे कृष्णा जी 🙏हर हर महादेव🍃🍀🙏🚩

Saumya sharma Sep 21, 2021
Good night bhai g, sweet dreams ☺thank you, for this beautiful post👌🙏God bless you with health, wealth and happiness ☺always be happy with your family ☺🌹🙏

ILA SINHA❤️ Oct 21, 2021

+19 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Poonam Aggarwal Oct 21, 2021

🌹🪔🌹 जय श्री हरि नारायण 🌹🪔🌹 🌹🪔🌹🪔🌹🪔🌹🪔🌹 🌸🦚🌸🦚🌸🦚🌸🦚🌸 अनमोल वचन जब हम कोई पौष्टिक चीजें लेते हैं जैसे दूधदही दाल आदि तो हम ध्यान रखते हैं कि बर्तन गंदा ना हो क्योंकि इससे हमें पूरा पोषण नहीं मिलता । उसी तरह बुद्धि रूपी बर्तन को हमें साफ रखना है ताकि हमारे मन को भी संपूर्ण ताकत मिलती रहे और इसमें अच्छे विचार और सच्चा ज्ञान धारण हो सके। इसलिए किसी के प्रति बुरी भावनाघृणानफरतबदले की भावना रख के अपने बुद्धि रूपी बर्तन को गंदा ना करें । 🙏ओम् शांति 🙏 🎈आपका दिन शुभ हो🎈 🌸🦚🌸🦚🌸🦚🌸🦚🌸 *क्या है कृष्ण होने के मायने * ♦️पहली गाली पर सर काटने की शक्ति होने बाद भी यदि 99 और गाली सुनने का सामर्थ्य है तो वो कृष्ण है। ♦️सुदर्शन जैसा शस्त्र होने के बाद भी यदि हाथ में हमेशा मुरली है तो वो कृष्ण है। ♦️द्वारिका का वैभव होने के बाद भी यदि सुदामा मित्र है तो वो कृष्ण है। ♦️मृत्यु के फन पर मौजूद होने पर भी यदि नृत्य है तो वो कृष्ण है। ♦️सर्वसामर्थ्य होने पर भी यदि सारथी है तो वो कृष्ण है। 🌷🙏🏻 *जय श्री कृष्ण*🙏🏻🌷 🌷🐚🌷🐚🌷🐚🌷

+85 प्रतिक्रिया 27 कॉमेंट्स • 285 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 24 शेयर
Annu💕💕 Oct 21, 2021

भगवान श्री कृष्ण और रुक्मिणी की भक्ति -महान धार्मिक प्रसंग , भगवान श्री कृष्ण और उनकी पत्नियों, सत्यभामा एवं रुक्मिणी, से जुड़ा एक बहुत ही सुन्दर प्रेरक प्रसंग है जो हमें भगवान की पूजा में भावना की महत्ता सोने-चांदी आदि से अधिक होती है, यह समझाता है। भगवान श्रीकृष्ण की पत्नी सत्यभामा के मन में एक दिन एक विचित्र विचार आया। उन्होंने तय किया कि वह भगवान श्रीकृष्ण को अपने गहनों से तौलेंगी। श्रीकृष्ण ने जब यह बात सुनी तो बस मुस्कुराए, बोले कुछ नहीं। सत्यभामा ने भगवान को तराजू के पलडे़ पर बिठा दिया। दूसरे पलड़े पर वह अपने गहने रखने लगीं।भला सत्यभामा के पास गहनों की क्या कमी थी। लेकिन श्रीकृष्ण का पलड़ा लगातार भारी ही रहा। अपने सारे गहने रखने के बाद भी भगवान का पलड़ा नहीं उठा तो वह हारकर बैठ गईं। तभी रुक्मिणी आ गईं। सत्यभामा ने उन्हें सारी बात बताई। रुक्मिणी तुरंत पूजा का सामान उठा लाईं। उन्होंने भगवान की पूजा की। जिस पात्र में भगवान का चरणोदक था, उसे उठाकर उन्होंने गहनों वाले पलड़ों पर रख दिया। देखते ही देखते भगवान का पलड़ा हल्का पड़ गया। ढेर सारे गहनों से जो बात नहीं बनी, वह चरणोदक के छोटे-से पात्र से बन गई। सत्यभामा यह सब आश्चर्य से देखती रहीं। उन्हें समझ में नहीं आ रहा था कि ऐसा कैसे हुआ। तभी वहां नारद मुनि आ पहुंचे। उन्होंने समझाया, ‘भगवान की पूजा में महत्व सोने- चांदी के गहनों का नहीं, भावना का होता है। रुक्मिणी की भक्ति और प्रेम की भावना भगवान के चरणोदक में समा गई। भक्ति और प्रेम से भारी दुनिया में कोई वस्तु नहीं है। भगवान की पूजा भक्ति-भाव से की जाती है, सोने-चांदी से नहीं। पूजा करने का ठीक ढंग भगवान से मिला देता है।’ सत्यभामा उनकी बात समझ गईं। शुभ प्रभात वंदन जी 🌹💕 आपका दिन शुभ मंगलमय हो 💐💐 शुभ गुरुवार🌹🌹🌹 भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की कृपा दृष्टि सदेव आप और आपके परिवार पर बनी रहे 💐💐💐💐💐 जय हो मां शेरावाली 🌹💕💕💕

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB