kamlesh goyal
kamlesh goyal Sep 20, 2021

हरहर महादेव जी शुभ संध्या जी🌺🙏🙏🌺

+98 प्रतिक्रिया 38 कॉमेंट्स • 25 शेयर

कामेंट्स

kamlesh goyal Sep 20, 2021
@muneshtyagi1 हर-हर महादेव जी जय श्री कृष्णा जी राधे राधें जी शुभ संध्या वंदन जी मेरे वाकेबिहारी की कृपा राधे रानी का आशीर्वाद सदा आपके परिवार पर बना रहे ईश्वर आप सभी भाई बहनों को सदा खुश रखे आने वाली सुबह ढेर सारी खुशियां लेकर आऐ 🙏🙏 🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀

मेरे सांई (Dheeraj Kanwar) Sep 20, 2021
*༺꧁||🕉️ हर हर महादेव 🕉️||꧂༻* 🔱🏹ॐ नम: शिवाय: __जय भोलेनाथ #जहां हो #श्रद्धा और #विश्वास, #वही है #मेरे_महादेव जी का #वास 🙏🏻 •━━━ ✽ • ✽ ━━━• *मेरे सर्वेश्वर मेरे महाकाल* 🔱🚩꧁जय श्री महाकाल꧂🚩🔱 •━━━ ✽ • ✽ ━━━• शिव अनंत.... शिव कृपा अनंता.... ༺꧁ हर हर महादेव꧂༻

kamala Maheshwari Sep 20, 2021
सर्वपितृ को सादर नमन जय भोलेनाथ की जयश्री बाकैविहरीकी कान्हा की कृपादृष्टि सदैवआपपर और आपके परिवार बनी रहे आपका दिन मंगलमय हो जय श्री कृष्णा जी 💠♦️💠♦️💠♦️💠♦️💠♦️💠♦️💠

B L Yadav.(CMO) Sep 20, 2021
JAI BABA BHOLENATH 🙏🙏 OM NAMO SHIVAAY 🙏🙏🙏 OM NAMO SHIVAAY 🙏🙏🙏 OM NAMO SHIVAAY 🙏🙏🙏

R C GARG Sep 20, 2021
जय श्री कृष्णा !! शुभ संध्या वंदन जी !! ऊँ नमः शिवाय !! हर हर महादेव जी !! 🕉🙏🌷🙏🌷🙏🌷🙏🌷🙏🌷🙏🕉

Ansouya M 🍁 Sep 20, 2021
हर हर महादेव 🙏🌹 शुभ संद्या वन्दन भइया जी 🙏 भोले बाबा और माता पार्वती की कृपा से आप का भंडार धन वैभव और आपके परिवार पर हमेशा बना रहे भाई जी 🙏 जय भोले नाथ की 🙏🌹

Ansouya M 🍁 Sep 20, 2021
अति सुन्दर प्रस्तुति के लिए धन्यवाद भईया जी 🙏 सत्यम शिवम सुन्दरम् 🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻

Anup Kumar Sep 20, 2021
ऊँ नमः शिवाय 🙏🏻🙏🏻 शुभ संध्या वंंदन,भाई जी ।आप हमेशा माता पार्वती एवं भगवान भोलेनाथ का कृपापात्र बने रहें।आप सदैव स्वस्थ एवं प्रसन्न रहें 🙏🏻🌹

kamlesh goyal Sep 20, 2021
@anupkumar38 हर-हर महादेव जी🥀🙏🥀 राधे राधें जी शुभ रात्रि वंदन भाई जी

kamlesh goyal Sep 20, 2021
@ansouyamundram2 हर-हर महादेव जी🥀🙏🥀 राधे राधें जी शुभ रात्रि वंदन जी बहन धन्यवाद

kamlesh goyal Sep 20, 2021
@ansouyamundram2 हर-हर महादेव जी🥀🙏🥀 राधे राधें जी शुभ रात्रि वंदन जी जय श्री कृष्णा बहन

kamlesh goyal Sep 20, 2021
@kavita251 हर-हर महादेव जी🥀🙏🥀 राधे राधें जी शुभ रात्रि वंदन जी

kamlesh goyal Sep 20, 2021
@rcgarg हर-हर महादेव जी🥀🙏🥀 राधे राधें जी शुभ रात्रि वंदन जी

kamlesh goyal Sep 20, 2021
@yadavcmoboda हर-हर महादेव जी🥀🙏🥀 राधे राधें जी शुभ रात्रि वंदन जी

kamlesh goyal Sep 20, 2021
@kamalamaheshwar हर-हर महादेव जी🥀🙏🥀 राधे राधें जी शुभ रात्रि वंदन जी

kamlesh goyal Sep 20, 2021
@kanwarbhogal हर-हर महादेव जी🥀🙏🥀 राधे राधें जी शुभ रात्रि वंदन जी

kamlesh goyal Sep 20, 2021
@koushlya1 हर-हर महादेव जी🥀🙏🥀 राधे राधें जी शुभ रात्रि वंदन जी

madan pal 🌷🙏🏼 Sep 21, 2021
ओम् नमः शिवाय जी शूभ प्रभात वंदन जी भोले नाथ जी की कृपा आप व आपके परिवार पर बनीं रहे जी 🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🌹🌹🌹

Mamta Chauhan Oct 25, 2021

+244 प्रतिक्रिया 93 कॉमेंट्स • 235 शेयर
Shanti pathak Oct 25, 2021

+214 प्रतिक्रिया 80 कॉमेंट्स • 205 शेयर
sanjay Awasthi Oct 25, 2021

+76 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 18 शेयर
Saroj Kumari singh Oct 25, 2021

*_भारतीय संस्कृति के संस्मरण सुमन_* *कस्तूरी कुण्डल बसे, मृग ढूँढे बन माँहि !!* एक बार भगवान दुविधा में पड़ गए। लोगों की बढ़ती साधना वृत्ति से वह प्रसन्न तो थे पर इससे उन्हें व्यावहारिक मुश्किलें आ रही थीं। कोई भी मनुष्य जब मुसीबत में पड़ता,तो भगवान के पास भागा-भागा आता और उन्हें अपनी परेशानियां बताता। उनसे कुछ न कुछ मांगने लगता। भगवान इससे दुखी हो गए थे। अंतत: उन्होंने इस समस्या के निराकरण के लिए देवताओं की बैठक बुलाई और बोले- देवताओं !! मैं मनुष्य की रचना करके कष्ट में पड़ गया हूं। कोई न कोई मनुष्य हर समय शिकायत ही करता रहता है, जिससे न तो मैं कहीं शांति पूर्वक रह सकता हूं,न ही तपस्या कर सकता हूं। आप लोग मुझे कृपया ऐसा स्थान बताएं जहां मनुष्य नाम का प्राणी कदापि न पहुंच सके। प्रभू के विचारों का आदर करते हुए देवताओं ने अपने-अपने विचार प्रकट किए। गणेश जी बोले- आप हिमालय पर्वत की चोटी पर चले जाएं। भगवान ने कहा- यह स्थान तो मनुष्य की पहुंच में है। उसे वहां पहुंचने में अधिक समय नहीं लगेगा। इंद्रदेव ने सलाह दी कि वह किसी महासागर में चले जाएं।" वरुण देव बोले आप अंतरिक्ष में चले जाइए। भगवान ने कहा- एक दिन मनुष्य वहां भी अवश्य पहुंच जाएगा। भगवान निराश होने लगे थे। वह मन ही मन सोचने लगे- क्या मेरे लिए कोई भी ऐसा गुप्त स्थान नहीं है, जहां मैं शांतिपूर्वक रह सकूं ? अंत में सूर्य देव बोले- प्रभू !! आप ऐसा करें कि मनुष्य के हृदय में बैठ जाएं। मनुष्य अनेक स्थान पर आपको ढूंढने में सदा उलझा रहेगा। पर वह यहाँ आपको कदापि न तलाश करेगा। ईश्वर को सूर्य देव की बात पसंद आ गई। उन्होंने ऐसा ही किया। वह मनुष्य के हृदय में जाकर बैठ गए। उस दिन से मनुष्य अपना दुख व्यक्त करने के लिए ईश्वर को ऊपर, नीचे, दाएं,बाएं,आकाश, पाताल में ढूंढ रहा है पर वह मिल नहीं रहे। मनुष्य अपने भीतर बैठे हुए ईश्वर को नहीं देख पा रहा है। *_प्रस्तुति - गौरवशाली गुरुकुल* चलिये थोड़ा हवाईजहाज की सैर कर लें🙏🙏 .

+9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 56 शेयर
Shuchi Oct 25, 2021

+21 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 19 शेयर
Saroj Kumari singh Oct 25, 2021

+19 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 29 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB