Jai ganesh deva ji🙏🙏🙏🙏🙏🌲🌲good morning to my all brothers and sisters and my dear friends🍄🍄🍄🍄🍄🍄🍄🍄🍄🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕

Jai ganesh deva ji🙏🙏🙏🙏🙏🌲🌲good morning to my all brothers and sisters and my dear friends🍄🍄🍄🍄🍄🍄🍄🍄🍄🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳🌳💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕

+473 प्रतिक्रिया 157 कॉमेंट्स • 531 शेयर

कामेंट्स

Rajesh Rajesh Nov 24, 2021
OM GAN GANPATAYE NAMAH SHUBH DOPHAR BEHENA GANPATTI BAPPA KI KRUPA AAP PER OR AAP KE PARIVAR PER SADA BANI RAHE AAP KA HAR PAL SHUBH OR MANGAL MAY HO AAP OR AAP KA PARIVAR BAPPA KI KRUPA SE HAMESA KHUS RAHE SWATH RAHE SUKHI RAHE BEHENA

Vineeta Tripathi Nov 24, 2021
Jai sri ganesh ji ki 🙏🙏 Gad bless you 🌹🌹 Have a good day ☘️☘️

kamala Maheshwari Nov 24, 2021
🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷     🌷 जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷          🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनम🌷 🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷        🌷जयगणेशायनम🌷जयगणेशायनम🌷             🌷जयगणेशायनम🌷जयगणेशायनम🌷      🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩

kamala Maheshwari Nov 24, 2021
🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷     🌷 जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷          🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनम🌷 🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷        🌷जयगणेशायनम🌷जयगणेशायनम🌷             🌷जयगणेशायनम🌷जयगणेशायनम🌷      🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩

kamala Maheshwari Nov 24, 2021
🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷     🌷 जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷          🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनम🌷 🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷        🌷जयगणेशायनम🌷जयगणेशायनम🌷             🌷जयगणेशायनम🌷जयगणेशायनम🌷      🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩

kamala Maheshwari Nov 24, 2021
🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷     🌷 जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷          🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनम🌷 🌷जयगणेशायनमः🌷जयगणेशायनमः🌷        🌷जयगणेशायनम🌷जयगणेशायनम🌷             🌷जयगणेशायनम🌷जयगणेशायनम🌷      🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩

Anup Kumar Sinha Nov 24, 2021
श्री गणेशाय नमः 🙏🙏 शुभ संध्या वंदन जी । गौरीनंदन, विघ्नहर्ता भगवान गणेश आप पर सदा प्रसन्न रहें और आपकी हर मनोकामना पूरी करें🙏🍁

Poonam Aggarwal Nov 24, 2021
☘️🩸☘️🩸☘️🩸☘️🩸 🙏🌹* ॐ श्री गणेशाय नमः*🌹🙏 वक्रतुंड महाकाय सुर्यकोटि समप्रभ निर्विघ्न कुरु मे देव सर्व कार्येशू सर्वदा 🙏🌹 विघ्नहर्ता आपके सारे विघ्नों को दूर करें 🕉️ आपका हर पल खुशियों से भर दें 😊 शुभ मंगलमय शुभकामनाओं सहित 🙏🌹 जय श्री राधे राधे 🌹🙏 जय श्री राधे गोविंद 🙏🌹 ☘️🩸☘️🩸☘️🩸☘️🩸

sadadiya vaishukh Nov 24, 2021
जय श्री गणेशाय नमः शुभ संध्या वंदना

Ratna Nankani Nov 24, 2021
OM namah Shivayh 🙏🕉️ Ganeshayh Namah 🙏 Shubh Kamnao Ke Sath Aapka Har pal maglmay rhe 🙏 Radhe Radhe Krishna Hari Om 🙏 Shubh Kamnao Ke Sath Shubh Sandhya Mata di 🙏

kishan tiwari Nov 24, 2021
🌷🌹🌷राम राम भाई जी जय श्री माता की,सादर नमस्कार करता हूँ भाई जी,श्री सिद्धिविनायक आपको सदा स्वस्थ रखें मङ्गल करें, शुभसन्धा भाई🌹🙏🏼🌹

Brajesh Sharma Nov 24, 2021
🙏 *꧁!! Զเधॆ Զเधॆ !!꧂*🙏 *दोनों ममताओं कि ख़ूबी .....* *मां सोचती हैं बेटा आज भूखा ना रहें औऱ पिता सोचता हैं कि बेटा कल भूखा ना रहें ...!!* *बस यही वजह है कि ये दो सम्बन्ध संसार में ऐसे हैं जिनका दर्जा भगवान् के बराबर हैं ...!!* *🙏꧁ ll जय श्री श्याम जी ll꧂*🙏

Anil Nov 24, 2021
good night 🌷🌷🌹🌷🌷

Runa Sinha Nov 24, 2021
💥🍭Jai Shri Krishna 🍭💥 🍭🍒Radhe Radhe 🍒🍭 🌸🍭Good night 🍭🌸

नरेश श्रीहरि 🙏 Nov 24, 2021
गौरी पुत्र श्री गणेश जी की कृपा आप पर हमेशा बनी रहे शुभ रात्रि वंदन

Ashwinrchauhan Nov 24, 2021
जय श्री गणेश जी शुभ बुधवार विध्न हर्ता देव श्री गणेश जी की कृपा आप पर आप के पुरे परिवार पर सदेव बनी रहे मेरी आदरणीय बहना जी आप का हर पल मंगल एवं शुभ रहे गौरी नंदन गणेश जी आप की हर मनोकामना पूरी करे आप का आने वाला दिन शुभ रहे गुड नाईट बहना जी

PRABHAT KUMAR Jan 17, 2022

💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧 🔥🔥🔥🔥 *#हर_हर_महादेव_ऊँ_नमः_शिवाय* 🔥🔥🔥🔥 💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧 *🌜 मधुर सपनों के साथ शुभ रात्रि प्रिय आदरणीय साथियों 🌛* 🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂 *सभी देवी-देवताओं में भगवान शिव को कल्याणकारी माना गया है। भगवान शिव अपने भक्तों पर आने वाले कष्टों का हरण कर लेते हैं। 'ॐ नमः शिवाय' एक ऐसा मंत्र है जिसके नाम मात्र से सभी बाधाएं खत्म हो जाती हैं। इसकी महिमा का गुणगान हमारे पुराणों में किया गया है। प्रणव मंत्र 'ॐ' के साथ 'नमः शिवाय' (पंचाक्षर मंत्र) का मेल करने से षडक्षर मंत्र का निर्माण होता है इसलिए इसे षडक्षर मंत्र के नाम से भी जाना जाता है।* 💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧 *धन प्राप्ति के लिए शिवलिंग पर बेल पत्र अर्पित करते हुए ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप करें। इसके बाद भोलेनाथ की विधिवत आरती करें। ऐसा करने से मनचाहे धन की प्राप्ति होगी।* 💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧 *सुबह नित्यक्रम करने के बाद स्वच्छ श्वेत वस्त्र धारण करके शिवलिंग पर महादेवाय नमः मंत्र का जाप करते हुए कमल के फूल अर्पित करें। इस उपाय से भगवान शिव के साथ देवी लक्ष्मी भी प्रसन्न हाेती हैं और अपने भक्तों को धन-धान्य से परिपूर्ण करती हैं।* 💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧 *शिवलिंग पर दूध, गंगाजल, दुर्वा और बिल्वपत्र चढा़कर शिव मंत्र ॐ नमः शिवाय का जाप करने से आयु में वृद्धि होती है।* 💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧 *भोलेनाथ की अराधना करने वाले जातक अंत समय में शिवलोक जाते हैं। भगवान शिव की पूजा करते समय ऊं नमो भगवते रुद्राय मंत्र का जाप करने से भक्त को मोक्ष की प्राप्ति होती है।* 💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧 *सुबह स्नानादि कार्यों से निवृत्त होकर भोलेनाथ के स्वरूप पर अगस्त्य फूलों को चढ़ाते हुए ऊं नमः रुद्राय मंत्र का जाप करें। इससे हर क्षेत्र में सम्मान मिलेगा अौर जीवन ऐश्वर्य से परिपूर्ण हाेगा।* 💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧💧 *#नोट : उक्त जानकारी सोशल मीडिया से प्राप्त किया गया है।* 📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰 *( इस आलेख में दी गई जानकारियाँ धार्मिक आस्था और लौकिक मान्यताओं पर आधारित है जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है। )* 🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️

+27 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 12 शेयर
Jasbir Singh nain Jan 17, 2022

पौष पूर्णिमा व्रत 17 जनवरी, 2022 (सोमवार) शुभ प्रभात जी 🪔🪴🙏🙏 हर माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि के अगले दिन पूर्णिमा मनाई जाती है। इस प्रकार पौष माह की पूर्णिमा 17 जनवरी 2022 को मनाई जाएगी। पूर्णिमा के दिन चन्द्रदेव पूर्ण आकार में होते हैं। इस दिन पूजा, जप, तप, स्नान, सूर्य अर्घ्य और दान से न केवल चंद्रदेव ही नहीं बल्कि भगवान श्रीहरि की भी कृपा बरसती है। पूर्णिमा और अमावस्या को पूजा और दान करने से व्यक्ति के समस्त पाप कट जाते हैं। सनातन शास्त्रों में पूर्णिमा के दिन पूर्णिमा व्रत और सत्यनारायण पूजा का विधान है। इस दिन साधक पवित्र नदियों में स्नान कर तिल तर्पण करते हैं, इससे पितरों को मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन काशी, प्रयागराज और हरिद्वार में गंगा स्नान करना बेहद शुभ बताया जाता है। आइए अब जानते है पूर्णिमा तिथि का शुभ समय पौष पूर्णिमा तिथि - 17 जनवरी, 2022 पौष पूर्णिमा तिथि आरंभ - 17 जनवरी को रात 3:18 मिनट से। पौष पूर्णिमा तिथि समाप्त - 18 जनवरी सुबह 5:17 मिनट तक। उदया तिथि मान्य होती है, इसलिए पौष पूर्णिमा 17 जनवरी को ही मनाई जाएगी। वैदिक मान्यताओं अनुसार, पौष सूर्य देव का माह कहलाता है और इस मास सूर्य देव की आराधना करने से मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति होती है और पूर्णिमा चंद्रमा की तिथि है। अतः सूर्य और चंद्रमा का यह अद्भूत संगम पौष पूर्णिमा की तिथि को होता है। इस दिन सूर्य और चंद्रमा दोनों के पूजन से मनोकामनाएं पूर्ण होती है और जीवन में आने वाली बाधाएं दूर होती है। ऐसा कहा जाता है कि पौष मास के समय में किए जाने वाले धार्मिक कर्मकांड की पूर्णता पूर्णिमा पर स्नान करने से सार्थक होती है। आइए अब जानते है पौष पूर्णिमा के दिन की जाने वाली पूजा विधि के बारे में इस दिन प्रात: जल्दी उठकर घर की साफ़-सफाई करें। उसके बाद स्नान आदि करके व्रत का संकल्प लें। सर्वप्रथम भगवान सूर्य को ॐ नमो नारायणाय मंत्र का जाप करते हुए अर्घ्य और तिलांजलि दें। इसके लिए सूर्य के सामने खड़े होकर जल में तिल डालकर उसका तर्पण करें। फिर ठाकुर और नारायण जी की पूजा करें। भगवान को भोग में चरणामृत, पान, तिल, मोली, रोली, कुमकुम, फल, फूल, पंचगव्य, सुपारी, दूर्वा आदि अर्पित करें। अंत में आरती-प्रार्थना कर पूजा संपन्न करें। इसके बाद जरूरतमंदों और ब्राह्मणों को दान-दक्षिणा दें। दान में तिल, गुड़, कंबल और ऊनी वस्त्र विशेष रूप से देने चाहिए। तो दोस्तो ये थी पूर्णिमा के दिन की जाने वाली पूजा विधि, आइए अब जानते है इस दिन किए जाने वाले धार्मिक आयोजन के बारे में संपूर्ण जानकारी। पौष पूर्णिमा पर देश के विभिन्न तीर्थ स्थलों पर स्नान और धार्मिक आयोजन होते हैं। पौष पूर्णिमा से तीर्थराज प्रयाग में माघ मेले का आयोजन शुरू होता है। इस धार्मिक उत्सव में स्नान का विशेष महत्व बताया गया है। धार्मिक विद्वानों के अनुसार माघ माह के स्नान का संकल्प पौष पूर्णिमा पर लेना चाहिए। आइए जानते है कि इस दिन क्या करें और क्या नहीं पूर्णिमा के दिन चावल का दान करना शुभ होता है। चावल का संबंध चंद्रमा से होता है और पूर्णिमा के दिन चावल का दान करने से चंद्रमा की स्थिति कुंडली में मजबूत होती है। पूर्णिमा के दिन सफेद रंग की चीजों का दान करना चाहिए। इस दिन सत्यनारायण की कथा सुननी चाहिए और भगवान शिव की पूजा करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। आज के दिन महालक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए पीपल के पेड़ की पूजा करनी चाहिए। कहते हैं कि पीपल में मां लक्ष्मी का वास होता है। इसी के साथ इस दिन लहसुन, प्याज, मांस-मदिरा आदि का सेवन नहीं ना करें। इस दिन परिवार में सुख-शांति बनाकर रखें और घर पर आने वाले गरीब या जरुरतमंद को दान दें।

+236 प्रतिक्रिया 75 कॉमेंट्स • 1001 शेयर

+34 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 14 शेयर
Soni Mishra Jan 17, 2022

+37 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 120 शेयर
Deepak Jan 17, 2022

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर
my mandir Jan 16, 2022

+525 प्रतिक्रिया 117 कॉमेंट्स • 169 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB