Preeti Jain
Preeti Jain Oct 12, 2021

🌹प्याज, लहसुन खाना " शास्त्रों " में क्यों मना किया गया है? विशेषकर नवरात्रि में🌹 🙏🌹Om Shanti🌹🙏 सबसे प्रसिद्ध पौराणिक कथा यह है कि समुद्रमंथन से निकले अमृत को, " मोहिनी " रूप धरे "विष्णु "भगवान जब देवताओं में बाँट रहे थे ; तभी एक राक्षस ( दैत्य, दानव ) " राहू " भी वहीं आकर बैठ गया, भगवान ने उसे भी देवता समझकर अमृत दे दिया l लेकिन तभी उन्हें सूर्य व चन्द्रमा ने बताया कि ये राक्षस है l भगवान विष्णु ने तुरंत उसके सिर को धड़ से अलग कर दिए l लेकिन " राहू " के मुख में अमृत पहुँच चुका था इसीलिए उसका मुख अमर हो गया l पर भगवान द्वारा राहू का सिर काटे जाने पर उसके कटे सिर से अमृत की कुछ बूँदें जमीन पर गिर गईं जिनसे प्याज और लहसुन उपजे l चूँकि यह दोनों सब्जियां अमृत की बूँदों से उपजी हैं इसीलिए ये रोगों और रोगाणुओं को नष्ट करने में अमृत समान होती हैं पर क्योंकि ये राक्षस के मुख से होकर गिरी हैं इसीलिए इनमें तेज गंध है और ये अपवित्र जिन्हें कभी भगवान के भोग में इस्तेमाल नहीं किया जाता l कहा जाता है कि जो भी प्याज और लहसुन खाते हैं उनका शरीर राक्षसों के शरीर की भाँति मजबूत हो जाता है लेकिन साथ ही उनकी बुद्धि और सोच - विचार राक्षसों की तरह दूषित भी हो जाते हैं l इन दोनों सब्ज़ियों को मांस के समान माना जाता है जो लहसुन और प्याज खाता है उसका मन के साथ - साथ पूरा शरीर तामसिक स्वभाव का हो जाता है l ध्यान, भजन में मन नहीं लगता l कुल मिलाकर वैष्णव आचार, विचारों का पतन हो जाता है l इसीलिए सार्वजनिक भंडारों और खासकर नवरात्रि में प्याज और लहसुन खाना शास्त्रों में मना किया गया है l 🌹जय जय माँ🌹❤️🙏

🌹प्याज, लहसुन खाना " शास्त्रों " में क्यों मना किया गया है? विशेषकर नवरात्रि में🌹 

🙏🌹Om Shanti🌹🙏
 
सबसे प्रसिद्ध पौराणिक कथा यह है कि समुद्रमंथन से निकले अमृत को, " मोहिनी " रूप धरे "विष्णु "भगवान  जब देवताओं में बाँट रहे थे ; तभी एक राक्षस ( दैत्य, दानव ) " राहू " भी वहीं आकर बैठ गया,
भगवान ने उसे भी देवता समझकर अमृत दे दिया l लेकिन तभी उन्हें सूर्य व चन्द्रमा ने बताया कि ये राक्षस है l 

भगवान विष्णु ने तुरंत उसके सिर को धड़ से अलग कर दिए l लेकिन " राहू " के मुख में अमृत पहुँच चुका था इसीलिए उसका मुख अमर हो गया l पर भगवान  द्वारा राहू का सिर काटे जाने पर 
उसके कटे सिर से अमृत की कुछ बूँदें जमीन पर गिर गईं जिनसे प्याज और लहसुन उपजे l

 चूँकि यह दोनों सब्जियां अमृत की बूँदों से उपजी हैं इसीलिए ये रोगों और रोगाणुओं को नष्ट करने में अमृत समान होती हैं पर क्योंकि ये राक्षस के मुख से होकर गिरी हैं इसीलिए इनमें तेज गंध है और ये अपवित्र जिन्हें कभी भगवान के भोग में इस्तेमाल नहीं किया जाता l

 कहा जाता है कि जो भी प्याज और लहसुन खाते हैं उनका शरीर राक्षसों के शरीर की भाँति मजबूत हो जाता है लेकिन साथ ही उनकी बुद्धि और सोच - विचार राक्षसों की तरह दूषित भी हो जाते हैं l इन दोनों सब्ज़ियों को मांस के समान माना जाता है 

जो लहसुन और प्याज खाता है उसका मन के साथ - साथ पूरा शरीर तामसिक स्वभाव का हो जाता है l ध्यान, भजन में मन नहीं लगता l कुल मिलाकर वैष्णव आचार, विचारों का पतन हो जाता है l 

इसीलिए सार्वजनिक भंडारों और खासकर नवरात्रि में प्याज और लहसुन खाना शास्त्रों में मना किया गया है  l

🌹जय जय माँ🌹❤️🙏

+271 प्रतिक्रिया 121 कॉमेंट्स • 145 शेयर

कामेंट्स

꧁༒︎Kavita Sharma༒︎꧂ Oct 13, 2021
🌐🌐जय माता दी🌐🌐 ☘︎☘︎☘︎आठवा नवरात्र☘︎☘︎☘︎ ☯︎☯︎☯︎13 अक्टूबर☯︎☯︎☯︎ ♻️♻️शुभ बुधवार♻️♻️ माता महागौरी पूजा दिवस दुर्गा अष्टमी की हार्दीक शुभकामनाए 🌐♻️♻️👣👣👣♻️♻️🌐

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Oct 13, 2021
Good Morning My Sweet Sister ji 🙏🙏 Aapko Happy Durga Ashtami Ki Hardik Shubhkamnaye ji 🙏🙏🌹🌹 Jay Mata di 🙏🙏🌹🌹 God Bless you and your Family Always Be Happy My Sister ji 🙏 Aapka Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹💐💐💐💐💐🌷🌷🥀🥀🥀💐💐.

Pinu Dhiman Jai Shiva 🙏 Oct 13, 2021
जय श्री गणेश जी जय माता की सुप्रभात नमस्ते मेरी प्यारी बहना जी 🙏🌹🙏गणपति जी और मां गौरी जी की कृपा और आशीर्वाद से आपका जीवन हमेशा सुखी सम्पन्न और खुशहाल व स्वस्थ रहे खुशियोंभरा रहे आप का आज का दिन शुभ हो मंगलमय हो आनन्दमय हो मेरी प्यारी बहना जी 🙏🙌🔔🛕🔔🛕🔔🛕🔔🛕🔔🛕🔔🛕🔔😊🤗🤗

Pinu Dhiman Jai Shiva 🙏 Oct 13, 2021
आप को सहपरिवार दुर्गा अष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें प्यारी बहना जी 🙏🌹🙏🙋‍♀️

santoshi thakur Oct 13, 2021
Jai Mata Di Sister Ji 🌺🙏 Good Morning 🌄 Jai Shree Ram 🙏 Happy Navratri 🪴🪴 Happy Durga Ashtami 🪴🪴 Matarani Bless You 💐💐

santoshi thakur Oct 13, 2021
jai mata di 🙏 jai mata di 🙏 jai mata di 🙏 jai mata di 🙏 ⛲⛲⛲⛲⛲⛲

Nitin Sharma Oct 13, 2021
नवरात्रि की मंगलमय शुभकामनाएं #जय_मां_महागौरी🙏🏾 #जय_माँ_विंध्यवासिनी #शुभ_प्रभात

Renu Singh Oct 13, 2021
Jai Mata Di 🌹🙏 Good Afternoon My Dear Sister Ji 🙏 Mata Rani ki kripa Se Aàp aur Aapki Family Me Sadaiv Sukh Shanti aur Samridhi Bni rhe Aàpka Har Pal Shubh Avam Khushiyon Bhara ho 🙏🌸

🌷GEETA DEVI 🌷 Oct 13, 2021
JAI MATA RANI DI... 🙏🌺🌺 MA! NAV DURGA BLESS U AND I ALL FAMILY... 🙏🌺🌺 HAPPY NAVRATRI 🔔🎉🐾🙏🐾🎉🔔 BEAUTIFUL GOOD AFTERNOON MY LOVELY SISTER JI HAVE A GREAT DAY... 🌺✴️🙏✴️🌺 🍀🤗🤗✴️🍹🍹✴️🤗🤗🍀 🍀🌺✴️🐾🙏🐾✴️🌺🍀

R.K.SONI (Ganesh Mandir) Oct 13, 2021
Jai Mata Di🙏Suprabhat Vandan Ji💐💐💐💐. Durga Ashtami ki Aap Ko Hardik Shubh Kamnaye. 👌👌

R.K.SONI (Ganesh Mandir) Oct 13, 2021
Jai Mata Di🙏Suprabhat Vandan Ji💐💐💐💐. Durga Ashtami ki Aap Ko Hardik Shubh Kamnaye. 👌👌

sanjay rastogi Oct 13, 2021
jai shri ganesh ji jai ma mahagouri mata ki kripa sada ap par bani Rahe

Rajpal Singh Oct 13, 2021
jai Mata Di good afternoon ji 🙏🙏🙏🙏🙏

pk jain Oct 13, 2021
jai mata di jai ganeshay namah good evening ji 👉🏽🥀🙏🏼🥀🙋🏿‍♂️

R H BHAtt Oct 13, 2021
Jai matage Jay Mata Di AAP Ko happy Durga ashtami ke Hardik Shubh Kamna ji Vandana ji Jai Shri Krishna

kishan tiwari Oct 13, 2021
🌹🌷🌹जय श्रीमाता महागौरी की🌷राम राम बहन जय श्री माता की बहन🌸🌼🌸 चरण छूकर सादर प्रणाम करता हूँ मेरी प्यारी बहना,🌹🌼🌹श्रीमाता की कृपा आप पर सदैव बनी रहे बहन,🌹 हमेशा हँसती मुस्कराती रहो,हम प्रार्थना करते हैं हे जगतजननी माँ मेरी बहन को सदैव निरोग रखना दीर्घायु करना🙏🏼🙏🏼🙏🏼🌿खुशियों रूपी फूल सदा आपको महकाते रहें बहारें कभी आपका दामन ना छोड़ें🌿🌾🌹आपके माँथे की बिंदिया सदा चमकती रहे, हाँथों में चूड़ियां सिर पै चुनरिया सजती रहें🌹श्रीमाता की कृपा से सदा सुहागिन रहो बहन जुग जुग जियो बहना🌷🌹शुभसंध्या वन्दन बहन🙏🏼🌹 नवरात्रि पर्व की मंगलशुभकामनाएँ और बधाई बहन🌹🌹🙏🏼🌹🌹जय जिनेन्द्र की बहन, आ गई मेरी बहना बहुत ब्यस्त थीं छोटी🌹🙏🏼🌹

pk jain Oct 30, 2021
jai jinendra ji good afternoon ji 🤔🍫😂🍫😂🙋🏿‍♂️

RD_Khasiya Jan 21, 2022

+19 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 54 शेयर
Rakesh nema Jan 21, 2022

+20 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 41 शेयर

*🚩 वृंदावन के बंदर चार चीजों को छीनते हैं पर, क्यूं छीनते हैं आइये एक भाव दृष्टिपात करें।🚩* 1. चप्पल-जूते – तो भैया वृंदावन में आए हो तो वृंदावन हमारे प्रियालालजू की नित्य क्रीडा स्थली है । नित्य विहार स्थली हैं। जहां श्यामा श्याम नंगे पैर विचरण करते हैं। अतः उस रज पर जूते चप्पल पहन कर नही चलना है यही संदेश बंदर देते हैं। 2. चश्मे को छीनते हैं – तो वृंदावन में पधारे प्यारे प्रेमियों वृंदावन को बाह्य नेत्रों से दर्शन करने की आवश्यकता नही है। बाह्य नेत्र से कहीं गंदगी देखोगे कहीं अपशिष्ट देखोगे और घृणा करोगे अपराध बनेगा। अतः उस दिव्यतम श्री धाम वृंदावन का दर्शन आँतरिक नेत्रों से करो। दिव्य यमुना रसरानी जी का दर्शन करो। 3. मोबाइल – भाव - अरे प्यारे भाइयों बडे-बडे योगी यति भी वृंदावन आने के लिए तरसते हैं। श्रीजी की चरण रज बृज रज के लिए बड़े-बड़े देव तरसते हैं। यथा पद में स्वामी हरिराम व्यास जी महाराज कहते हैं- "जो रज शिव सनकादिक याचत सो रज शीश चढाऊं।" तो वृंदावन मे आकर भी बाह्य जगत से संपर्क बनाने का क्या मतलब.? तन वृंदावन में और मन कहाँ मोबाइल में, अतः तन-मन दोनों को वृंदावन में केन्द्रित करें। 4, पर्स – भाव- माया को साथ लेकर चलने की आवश्यकता नहीं है। क्यूंकि यह भजन की भूमि है। यहां पर्स दिखाने की आवश्यकता नहीं। माला झोली पर्याप्त है। अधिक वैभव प्रदर्शन करने की आवश्यकता नहीं। क्यूंकि ये शुद्ध माधुर्य लीला की भूमि है। प्रत्येक कण-कण प्रिया लाल जू के रस से आप्लावित है। चूंकि भाव बहुत से हैं। परंतु प्रमुख भावों पर चर्चा की। तो ये बंदर कुछ संदेश देते हैं, परंतु उनके साथ किसी प्रकार का बुरा बर्ताव, सर्वथा अनुचित एवं जघन्य अपराध है। 🌹👣जय श्री राधे कृष्णा जी 👣🌹 🌹 धन धन वृंदावन के बंदर 🌹 🌹जय जय श्री वृंदावन🌹

+33 प्रतिक्रिया 29 कॉमेंट्स • 276 शेयर
gajrajg Jan 21, 2022

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 13 शेयर
RD_Khasiya Jan 21, 2022

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 13 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB