🌷🙏🇮🇳 *#daduji* 🇮🇳🙏🌷 🕉🇮🇳 *卐 सत्यराम सा 卐* 🕉🇮🇳 🌹🙏 *ॐ नमो नारायण* 🙏🌹 🌿🌷🌻 *शुभ~दिवस* 🌻🌷🌿 🇮🇳🦚🇮🇳.🇮🇳🦚🇮🇳.🇮🇳🦚🇮🇳 *साभार ऑडियो ~ @Kamini Agarwal* . *ज्यौं नर पोषत है निज देह हि,* *अन्न बिनाश करै तिंहि वारा ।* *ज्यौं अहि और मनुष्य ही काटत,* *वाहि कछू नहिं होइ अहारा ॥* *ज्यौं पुनि पावक जारि सबै कछु,* *आपुहु नाश भयौ निरधारा ।* *त्यौं यह सुन्दर दुष्ट सुभाव हि,* *जानि तजौ किन तीन प्रकारा ॥४॥* *इस दुष्ट के स्वभाव से परिचित होने के लिये पहले तीन बातें जान लेनी चाहिये; जैसे ..* *१. मनुष्य अपने देह के पालन -पोषण के लिये दूसरे का हित नष्ट करता है ।* *२. जैसे साँप किसी को काटता है तो उससे उस(सर्प) को कोई खाद्य नहीं मिल जाता है कि उसका पेट भर जाय । और..* *३. जैसे अग्नि - किसी का घर जला कर, अन्त में निराश्रय होकर स्वयं भी बुझ जाती है ।* *श्री सुन्दरदास जी कहते हैं - दुष्ट के स्वभाव की ये तीन बातें जानकर भी किसने इन तीन बातों को छोड़ दिया है ॥४॥* *(सवैया ग्रंथ ~ दुष्ट को अंग.१०/४)* https://youtu.be/z98VUQ3SZ_M https://youtu.be/z98VUQ3SZ_M

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

🌷🙏🇮🇳 *#daduji* 🇮🇳🙏🌷 🇮🇳🕉 *卐 सत्यराम सा 卐* 🕉🇮🇳 🌹🙏 *ॐ नमो नारायण* 🙏🌹 🌿🌷🌻 *शुभ~दिवस* 🌻🌷🌿 🇮🇳🦚🇮🇳.🇮🇳🦚🇮🇳.🇮🇳🦚🇮🇳 *साभार स्वर, संगीत ~ Baba Govind Das* . *उस सतगुरु की बलिहारी हो !* *बन्धन काट किये जिन मुकता,* *अरु सब विपति निवारी हो ।* *बानी सुनत परम सुख पायौ,* *दुरमति गई हमारी हो ।* *भरम करम के संसै खोलैं,* *दिये कपाट उघारी हो ॥१॥* *माया ब्रह्म भेद समझायौ,* *सौ हम लियौ विचारी हो ।* *आदि-पुरुष अभिअन्तर राखे,* *डायन दूर विडारी हो ॥२॥* *दया करी उन सब सुखदाता,* *अबके लियै उबारी हो ।* *भवसागर में बूडत काढै,* *ऐसे पर उपगारी हो ॥३॥* *गुरु दान के चरन कँवल पर,* *मेल्हौं, सीस उतारी हो ।* *और कहा ले आगे राखौं,* *'सुन्दर' भेट तुम्हारी हो ॥४॥* https://youtu.be/_yvjf82mx8A https://youtu.be/_yvjf82mx8A

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Dilip Jan 21, 2022

+11 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 52 शेयर
Mohini Jan 22, 2022

+86 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 40 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB