Arun Kumar Srivastava
Arun Kumar Srivastava Nov 25, 2021

🌹 जय संतोषी माता 🌹 🌹 शुभ शुक्रवार दर्शन 🌹 संतोषी माता की आरती जय सन्तोषी माता, मैया जय सन्तोषी माता। अपने सेवक जन को, सुख सम्पत्ति दाता॥ जय सन्तोषी माता… सुन्दर चीर सुनहरी माँ धारण कीन्हों। हीरा पन्ना दमके, तन श्रृंगार कीन्हों॥ जय सन्तोषी माता… गेरू लाल छटा छवि, बदन कमल सोहे। मन्द हंसत करुणामयी, त्रिभुवन मन मोहे॥ जय सन्तोषी माता… स्वर्ण सिंहासन बैठी, चंवर ढुरें प्यारे। धूप दीप मधुमेवा, भोग धरें न्यारे॥ जय सन्तोषी माता… गुड़ अरु चना परमप्रिय, तामे संतोष कियो। सन्तोषी कहलाई, भक्तन वैभव दियो॥ जय सन्तोषी माता… शुक्रवार प्रिय मानत, आज दिवस सोही। भक्त मण्डली छाई, कथा सुनत मोही॥ जय सन्तोषी माता… मन्दिर जगमग ज्योति, मंगल ध्वनि छाई। विनय करें हम बालक, चरनन सिर नाई॥ जय सन्तोषी माता… भक्ति भावमय पूजा, अंगीकृत कीजै। जो मन बसै हमारे, इच्छा फल दीजै॥ जय सन्तोषी माता… दुखी दरिद्री, रोग, संकट मुक्त किये। बहु धन-धान्य भरे घर, सुख सौभाग्य दिये॥ जय सन्तोषी माता… ध्यान धर्यो जिस जन ने, मनवांछित फल पायो। पूजा कथा श्रवण कर, घर आनन्द आयो॥ जय सन्तोषी माता… शरण गहे की लज्जा, राखियो जगदम्बे। संकट तू ही निवारे, दयामयी अम्बे॥ जय सन्तोषी माता… सन्तोषी माता की आरती, जो कोई जन गावे। ऋद्धि-सिद्धि, सुख-सम्पत्ति, जी भरकर पावे॥ जय सन्तोषी माता…! 🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹

🌹 जय संतोषी माता 🌹
🌹 शुभ शुक्रवार दर्शन 🌹

संतोषी माता की आरती



जय सन्तोषी माता, मैया जय सन्तोषी माता। अपने सेवक जन को, सुख सम्पत्ति दाता॥ जय सन्तोषी माता…

सुन्दर चीर सुनहरी माँ धारण कीन्हों। हीरा पन्ना दमके, तन श्रृंगार कीन्हों॥ जय सन्तोषी माता…

गेरू लाल छटा छवि, बदन कमल सोहे। मन्द हंसत करुणामयी, त्रिभुवन मन मोहे॥ जय सन्तोषी माता…

स्वर्ण सिंहासन बैठी, चंवर ढुरें प्यारे। धूप दीप मधुमेवा, भोग धरें न्यारे॥ जय सन्तोषी माता…

गुड़ अरु चना परमप्रिय, तामे संतोष कियो। सन्तोषी कहलाई, भक्तन वैभव दियो॥ जय सन्तोषी माता…

शुक्रवार प्रिय मानत, आज दिवस सोही। भक्त मण्डली छाई, कथा सुनत मोही॥ जय सन्तोषी माता…

मन्दिर जगमग ज्योति, मंगल ध्वनि छाई। विनय करें हम बालक, चरनन सिर नाई॥ जय सन्तोषी माता…

भक्ति भावमय पूजा, अंगीकृत कीजै। जो मन बसै हमारे, इच्छा फल दीजै॥ जय सन्तोषी माता…

दुखी दरिद्री, रोग, संकट मुक्त किये। बहु धन-धान्य भरे घर, सुख सौभाग्य दिये॥ जय सन्तोषी माता…

ध्यान धर्यो जिस जन ने, मनवांछित फल पायो। पूजा कथा श्रवण कर, घर आनन्द आयो॥ जय सन्तोषी माता…

शरण गहे की लज्जा, राखियो जगदम्बे। संकट तू ही निवारे, दयामयी अम्बे॥ जय सन्तोषी माता…

सन्तोषी माता की आरती, जो कोई जन गावे। ऋद्धि-सिद्धि, सुख-सम्पत्ति, जी भरकर पावे॥ जय सन्तोषी माता…!

🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹

+12 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 44 शेयर

कामेंट्स

Kanta Agarwal Nov 26, 2021
जय संतोषी माता जी की जय हो जय श्रीराम जय श्रीराम

Arun Kumar Srivastava Nov 26, 2021
@kantaagarwaljharkhand🌹 जय संतोषी माता 🌹🙏🌹 जय श्री राम जी 🌹🙏🌹 जय श्री कृष्णा राधे राधे जी 🌹🙏🌹 शुभ प्रभात वंदन जी 🌹🙏🌹

Suryanarayansharma Jan 20, 2022

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Suryanarayansharma Jan 20, 2022

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Sudha Mishra Jan 20, 2022

+28 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 13 शेयर
Suryanarayansharma Jan 20, 2022

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Saroj Kumari singh Jan 20, 2022

+13 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 10 शेयर
हीरा Jan 20, 2022

+12 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 44 शेयर
हीरा Jan 20, 2022

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 21 शेयर

+15 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 9 शेयर
हीरा Jan 20, 2022

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 15 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB