┈┉┅━❀꧁꧂❀━┅┉ *🚩अलख जगाओ🙏* *हिंदुत्वा लेख पूरा पढ़ें* हम भले ही भूल जाए पर 700 साल पूर्व जो बर्बरता हमारे पूर्वजो से झेली वो कम नहीं थी : 1. मीर कसिम ने सिंध में रात को धोखे से घुस कर एक रात में 50000 से ज्यादा हिन्दुओ का कत्लेआम कर सिंध पर कब्ज़ा किया। 2. सोमनाथ मंदिर के अन्दर मोजूद 32500 ब्रह्मिनो के खून से मुहम्मद गजनवी ने परिसर को नहला दिया था। 3. सोमनाथ में लगी भगवान् की मूर्तियों को मुहम्मद गजनवी ने अपने दरबार और शोचालय के सीढियों में लगवा दिया था ताकि वो रोज उनके पैर नीचे आती रहे। 4. औरंगजेब के इस्लाम काबुल करवाने के खुले आदेश के बाद सबसे ज्यादा तबाही आई। कुछ को जबरदस्ती से मुस्लिम बनवाया गया जो आज त्यागी, राठोड, चौधरी, जट, राजावत, भाटी, मोह्यल नाम लगाकर घूम रहे हे। 5. औरंगजेब ने ब्रह्मिनो द्वारा इस्लाम कबूल ना करने पर उन्ह्र गर्म पानी में उकाल कर जिन्दा चमड़ी उतरवाने का फरमान जारी किया। ब्रह्मिनो की शिखाए और जनेउ जलाकर औरंगजेब ने अपने नहाने का पानी गर्म किया। 6. मुहम्मद जलालुदीन ने हर हिन्दू राज्य जीतने पर वहा की लडकियों को उठवा दिया और मीना बाजार और हरम में पंहुचा दी जाती हे। 7. अजयमेरु का सोमेश्वर नाथ शिव मंदिर तोड़कर अजमेर दरगाह खड़ी की गयी साथ ही वैष्णव मंदिर तोड़ ढाई दिन का झोपड़ा तयार किया गया। इनका सबूत हे वहा लगी कलाकृतिया जिस पर हिन्दू देवी देवता स्वस्तिक आदि बने हुए हे। 8. अलाउदीन खिलजी की सेना से धरम और कुल की रक्षा करने के लिए चित्तौड़ की रानी पद्मिनी और 26000 राजपूत वीरंगानो ने अग्नि कुंद में कुदकर जोहर प्रथा निभाई। 9. बहादुर शाह जफ़र की चित्तौड़ पर आक्रमण के बाद फिर मुघ्लो से धरम और स्वभिमान की रक्षा के लिए चितौड़ की रानी कर्णावती ने 18000 राजपूत स्त्रियों के साथ अग्निकुंड में कूद जोहर करना चाहा पर लकड़ी कम पड़ने के कारन बारूद के ढेर के साथ वीरांगनाओ ने खुद को उड़ा दिया। 10. मुहम्मद जलालुदीन के आक्रमण पर चित्तौड़ में फिर महारानी जयमल मेड़तिया ने 12000 राजपूत स्त्रियों के साथ अग्निकुंद में कूद जोहर किया। एक समय था अरब के पर्शिया से लेकर इंडोनेशिया तक हिन्दू धरम अनुयायी थी कितने करोड़ लाखो की लाशे बिछा दी गयी, कितनी ही स्त्रियों ने बलिदान दिए, कितने लाखो मन्दिर टूटे, कितने तरह के जुल्म हए तब कही आज हम अपने इतिहास को भूलनेवाल एक सफल भविष्य नहीं बना सकते। संगठन में ही शक्ति है---------इसलिए संगठित रहे और एक रहे ! जिधर से आये वहाँ तो हज़ारो सालो तक कोई क़ुतुब मीनार नहीं बनायीं .. भारत में आते ही तुम्हारे अन्दर कलाकार की आत्मा कैसे घुस गयी .. कभी शिव-मंदिर को ताज-महल बना दिया कभी ध्रुव-स्तम्ब को क़ुतुब मीनार बना दिया . जिन रेगिस्तानो से तुम लोग आये थे वहाँ तो झोपड़ा भी नहीं बनाया और आज भी झोपड़े में ही रहते हो मुसलमान का कोई एक धर्मिक ट्रस्ट का नाम बताओ जो "मानव" मात्र की सेवा करता हो मुसलमान का कोई एक धर्मार्थ अस्पताल का नाम लो जहाँ "सबका" इलाज होता हो . मुसलमान का कोई एक अनाथालय बताओ , जहाँ"सबके" बच्चे सामान भाव से पाले जाते हो.. मुसलमान द्वारा संचालित कोई एक विद्यालय बताओ जहाँ "सबको" शिक्षा प्राप्त हो रही हो . मुस्लिम नाम के विद्यालय सरकारी अनुदान पर चल रहे है,,, किसी आपदा के समय आप ओनली मुस्लिम का बोर्ड लगा कर राहत सामग्री बाटते हुए देख सकते हो,,,ये है सच्चा इस्लाम ,,,,,,,,,

┈┉┅━❀꧁꧂❀━┅┉

*🚩अलख जगाओ🙏*

*हिंदुत्वा लेख पूरा पढ़ें*

हम भले ही भूल जाए पर 700
साल पूर्व जो बर्बरता हमारे
पूर्वजो से
झेली वो कम नहीं थी :
1. मीर कसिम ने सिंध में रात को धोखे
से घुस कर एक रात में 50000 से
ज्यादा हिन्दुओ का कत्लेआम कर सिंध
पर कब्ज़ा किया।

2. सोमनाथ मंदिर के अन्दर मोजूद 32500
ब्रह्मिनो के खून से मुहम्मद गजनवी ने
परिसर को नहला दिया था।

3. सोमनाथ में लगी भगवान्
की मूर्तियों को मुहम्मद गजनवी ने
अपने
दरबार और शोचालय के सीढियों में
लगवा दिया था ताकि वो रोज उनके
पैर नीचे आती रहे।

4. औरंगजेब के इस्लाम काबुल करवाने
के
खुले आदेश के बाद सबसे
ज्यादा तबाही आई। कुछ
को जबरदस्ती से मुस्लिम
बनवाया गया जो आज त्यागी,
राठोड, चौधरी, जट, राजावत, भाटी,
मोह्यल नाम लगाकर घूम रहे हे।

5. औरंगजेब ने
ब्रह्मिनो द्वारा इस्लाम
कबूल ना करने पर उन्ह्र गर्म पानी में
उकाल कर जिन्दा चमड़ी उतरवाने
का फरमान जारी किया।
ब्रह्मिनो की शिखाए और जनेउ
जलाकर औरंगजेब ने अपने नहाने
का पानी गर्म किया।

6. मुहम्मद जलालुदीन ने हर हिन्दू
राज्य
जीतने पर
वहा की लडकियों को उठवा दिया और
मीना बाजार और हरम में
पंहुचा दी जाती हे।

7. अजयमेरु का सोमेश्वर नाथ शिव
मंदिर
तोड़कर अजमेर दरगाह
खड़ी की गयी साथ ही वैष्णव मंदिर
तोड़ ढाई दिन का झोपड़ा तयार
किया गया। इनका सबूत हे
वहा लगी कलाकृतिया जिस पर हिन्दू
देवी देवता स्वस्तिक आदि बने हुए हे।

8. अलाउदीन खिलजी की सेना से धरम
और कुल की रक्षा करने के लिए
चित्तौड़ की रानी पद्मिनी और 26000
राजपूत वीरंगानो ने अग्नि कुंद में
कुदकर
जोहर प्रथा निभाई।

9. बहादुर शाह जफ़र की चित्तौड़ पर
आक्रमण के बाद फिर मुघ्लो से धरम और
स्वभिमान की रक्षा के लिए चितौड़
की रानी कर्णावती ने 18000 राजपूत
स्त्रियों के साथ अग्निकुंड में कूद
जोहर
करना चाहा पर लकड़ी कम पड़ने के
कारन बारूद के ढेर के साथ वीरांगनाओ
ने खुद को उड़ा दिया।

10. मुहम्मद जलालुदीन के आक्रमण पर
चित्तौड़ में फिर महारानी जयमल
मेड़तिया ने 12000 राजपूत
स्त्रियों के
साथ अग्निकुंद में कूद जोहर किया।
एक समय था अरब के पर्शिया से लेकर
इंडोनेशिया तक हिन्दू धरम
अनुयायी थी कितने करोड़
लाखो की लाशे बिछा दी गयी,
कितनी ही स्त्रियों ने बलिदान दिए,
कितने लाखो मन्दिर टूटे, कितने तरह के
जुल्म हए तब कही आज हम 
अपने इतिहास को भूलनेवाल एक सफल
भविष्य नहीं बना सकते।
संगठन में ही शक्ति है---------इसलिए
संगठित रहे और एक रहे !

जिधर से आये वहाँ तो हज़ारो सालो तक
कोई क़ुतुब मीनार नहीं बनायीं .. भारत में आते
ही तुम्हारे अन्दर कलाकार की आत्मा कैसे घुस
गयी .. कभी शिव-मंदिर को ताज-महल
बना दिया कभी ध्रुव-स्तम्ब को क़ुतुब मीनार
बना दिया . जिन रेगिस्तानो से तुम लोग आये थे
वहाँ तो झोपड़ा भी नहीं बनाया और आज
भी झोपड़े में ही रहते हो मुसलमान का कोई
एक धर्मिक ट्रस्ट का नाम बताओ
जो "मानव" मात्र की सेवा करता हो
मुसलमान का कोई एक धर्मार्थ अस्पताल का नाम
लो जहाँ "सबका" इलाज होता हो .
मुसलमान का कोई एक अनाथालय बताओ ,
जहाँ"सबके" बच्चे सामान भाव से पाले जाते हो..
मुसलमान द्वारा संचालित कोई एक
विद्यालय बताओ जहाँ "सबको" शिक्षा प्राप्त हो रही हो .
मुस्लिम नाम के विद्यालय सरकारी अनुदान
पर चल रहे है,,, किसी आपदा के समय आप
ओनली मुस्लिम का बोर्ड लगा कर राहत
सामग्री बाटते हुए देख सकते हो,,,ये है
सच्चा इस्लाम ,,,,,,,,,

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 22 शेयर
Bindu Singh Oct 15, 2021

+22 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 22 शेयर
geeta Oct 16, 2021

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 16 शेयर
Babbu Bhai Oct 15, 2021

+43 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 82 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB