🌷🙏🇮🇳 *#daduji* 🇮🇳🙏🌷 🕉🇮🇳 *卐 सत्यराम सा 卐* 🇮🇳🕉 🌹🙏 *ॐ नमो नारायण* 🙏🌹 🌿🌷🌻 *शुभ~दिवस* 🌻🌷🌿 🇮🇳🦚🇮🇳.🇮🇳🦚🇮🇳.🇮🇳🦚🇮🇳 *स्वर, संगीत ~ @श्री दास जी* *सौजन्य : अखिल भारतीय श्रीदादू सेवक समाज* 🕉🌻🕉🌻🕉🌻🕉🌻🕉 . *दादू शब्दैं शब्द समाइ ले, पर आतम सौं प्राण ।* *यहु मन मन सौं बंधि ले, चित्तैं चित्त सुजान ॥२८८॥* टीका - हे जिज्ञासुओं ! शब्द कहिए राम - नाम उच्चारण को अनहद शब्द में अभेद करिये, व्यष्टि शब्द समष्टि शब्द में लीन करिये और प्राण कहिए जीवात्मा को विचार के द्वारा परमात्मा में लीन करिये । इसी प्रकार इस व्यष्टि मन को समष्टि मन में जोड़िए । व्यष्टि चैतन्य को समष्टि चैतन्य में अभेद करिए । इस प्रकार पूर्ण ब्रह्म चैतन्य में अभेद हो जाइये ॥२८८॥ (#श्रीदादूवाणी ~ परिचय का अंग)* https://youtu.be/LvRllkgglu4 https://youtu.be/LvRllkgglu4

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🌷🙏🇮🇳 *#daduji* 🇮🇳🙏🌷 🇮🇳🕉 *卐 सत्यराम सा 卐* 🕉🇮🇳 🌹🙏 *ॐ नमो नारायण* 🙏🌹 🌿🌷🌻 *शुभ~दिवस* 🌻🌷🌿 🇮🇳🇮🇳🇮🇳.🇮🇳🇮🇳🇮🇳.🇮🇳🇮🇳🇮🇳 *स्वर, संगीत ~* 🙏 *संत श्री @रामभजनदास जी महाराज* 🙏 🕉🌻🕉🌻🕉🌻🕉🌻🕉 . *अवधू ! बोल निरंजन बाणी,* *तहँ एकै अनहद जाणी ॥टेक॥* *तहँ वसुधा का बल नाहीं,* *तहँ गगन घाम नहिं छाहीं ।* *तहँ चंद सूर नहिं जाई,* *तहँ काल काया नहिं भाई ॥१॥* *तहँ रैणि दिवस नहिं छाया,* *तहँ बाव वर्ण नहिं माया ।* *तहँ उदय अस्त नहिं होई,* *तहँ मरै न जीवै कोई ॥२॥* *तहँ नाहीं पाठ पुराना,* *तहँ आगम निगम नहिं जाना ।* *तहँ विद्या वाद न ज्ञाना,* *नहिं तहाँ जोग अरु ध्याना ॥३॥* *तहँ निराकार निज ऐसा,* *तहँ जाण्या जाइ न जैसा ।* *तहँ सब गुण रहिता गहिये,* *तहँ दादू अनहद कहिये ॥४॥* *(श्री दादूवाणी ~ पद. २०८)* https://youtu.be/GyNIGaMWBU8 https://youtu.be/GyNIGaMWBU8

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🌷🙏🇮🇳 *#daduji* 🇮🇳🙏🌷 🕉🇮🇳 *卐 सत्यराम सा 卐* 🕉🇮🇳 🌹🙏 *ॐ नमो नारायण* 🙏🌹 🌿🌷🌻 *शुभ~दिवस* 🌻🌷🌿 🇮🇳🦚🇮🇳.🇮🇳🦚🇮🇳.🇮🇳🦚🇮🇳 *साभार ऑडियो ~ @Kamini Agarwal* . *कबहूं क हंसि उठै कबहूं क रोइ देत,* *कबहूं बकत कहूं अंत हू न लहिये ।* *कबहूं क खाइ तौ अघाइ नहिं काहू करि,* *कबहूं क कहै मेरे कछु नहिं चाहिये ॥* *कबहूं आकाश जाइ कबहूं पाताल जाइ,* *सुन्दर कहत ताहि कैसैं करि गहिये ।* *कबहूं क आइ लागै कबहूं उतरि भागै,* *भूत के से चिन्ह करै ऐसो मन कहिये ॥१७॥* *मन भूत - प्रेत के तुल्य : हमारे इस मन के क्रियाकलाप भूत प्रेत के समान हो गये हैं ।* *कभी यह हँसता है, कभी यह रोता है, कभी यह बोलने लगता है तो इतना प्रलाप करने लगता है कि उसकी कोई सीमा ही नहीं दिखायी देती ।* *कभी खाने लगता है तो इतना खाता जाता है कि इसका पेट ही नहीं भरता । कभी कहता है कि मझे कुछ नहीं चाहिए, मैं सर्वथा सन्तुष्ट(तृप्त) हूँ ।* *श्री सुन्दरदास जी कहते हैं - कभी आकाश में उड़ता है, तो कभी पाताल की ओर जाने को मुख कर लेता है । कभी स्वस्थ हो जाता है तो कभी चन्चल हो उठता है । ये सब भूत प्रेत से आविष्ट के लक्षण हैं । हमारे मन की यही दशा है ॥१७॥* *(सवैया ग्रंथ ~ मन को अंग.११/१७)* https://youtu.be/gnOA5iEj0hg https://youtu.be/gnOA5iEj0hg

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🌷🙏🇮🇳 *#daduji* 🇮🇳🙏🌷 🕉🇮🇳 *卐 सत्यराम सा 卐* 🕉🇮🇳 🌹🙏 *ॐ नमो नारायण* 🙏🌹 🌿🌷🌻 *शुभ~दिवस* 🌻🌷🌿 🇮🇳🦚🇮🇳.🇮🇳🦚🇮🇳.🇮🇳🦚🇮🇳 *साभार ऑडियो ~ @Kamini Agarwal* . *कबहूं तौ पांख कौ परेवा कै दिखावै न,* *कबहूं क धूरि के चांवर करि लेत है ।* *कबहूं तौ गोटिका उछारत आकाश ओर,* *कबहूं क राते पीरे रंग श्याम शेत है ॥* *कबहूं तौ आंब कौ उगाइ करि ठाडौ करै,* *कबहूं तौ शीस धर जुदे कर देत है ।* *बाजीगर कौ सौ ख्याल सुन्दर करत मन,* *सदाई भ्रमत रहै ऐसौ कोऊ प्रेत है ॥१८॥* *मन बाजीगर के सदृश : यह हमारा मन बाजीगर की तरह कभी अपने शरीर पर पक्षी के पंख लगा कर दिखाता है, कभी धूल के कणों से चाँवल के कण बनाने लगता है ।* *कभी आकाश में गोलियाँ उछालने लगता है, कभी लाल पीले काले या सफ़ेद रंग की चीजें दिखाने लगता है ।* *कभी कृत्रिम आम्रवृक्ष खड़ा कर देता है, कभी किसी के शरीर के निचले भाग(धड़) से शिर को पृथक् कर दिखाता है ।* *श्री सुन्दरदास जी कहते हैं - हमारे मन के ये सभी समग्र क्रियाकलाप किसी बाजीगर या भूत - प्रेत के समान ही हैं । और यह भूत प्रेत के समान ही सदा इधर उधर घूमता रहता है ॥१८॥* *(सवैया ग्रंथ ~ मन को अंग.११/१८)* https://youtu.be/SUOjXQdB-lA https://youtu.be/SUOjXQdB-lA

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
sanjay Awasthi Jan 17, 2022

+259 प्रतिक्रिया 102 कॉमेंट्स • 42 शेयर

+11 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 25 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 18 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB