SHASHI BHUSHAN MISHRA
SHASHI BHUSHAN MISHRA Sep 11, 2021

+5 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 0 शेयर

कामेंट्स

Radhe Krishna Sep 12, 2021
जय श्री गणेशाय नमः 🙏🏻🏵️🏵️ सुप्रभात वंदन जी 🌸🌸🙏🏻

Rani Sep 13, 2021
om namah shivay 🙏🌹subh sandhya vandan bhai ji🌿🌿🌺🙏bhgwan bholenath ji aur mata parvati ji ki kripa sadaiv aap ke sampurn pariwar pr bni rhe aap ka har pal subh magalmay ho bhai ji🌿🌺🙏

Rani Sep 13, 2021
shree ganpati bappa maurya 🌿🙏🌹

🙏🌹 आज की अमृत कथा🌹🙏 *🔱भगवान को भोग लगाने का फल🔱* **एक सेठजी बड़े कंजूस थे। एक दिन दुकान पर् बेटे को बैठा दिया और बोले कि बिना पैसा लिए किसी को कुछ मत देना, मैं अभी आया। अकस्मात एक संत आये जो अलग अलग जगह से एक समय की भोजन सामग्री लेते थे, लड़के से कहा बेटा जरा नमक दे दो।* *लड़के ने सन्त को डिब्बा खोल कर एक चम्मच नमक दिया। सेठजी आये तो देखा कि एक डिब्बा खुला पड़ा था, सेठजी ने कहा कि क्या बेचा, बेटा बोला एक सन्त जो तालाब पर् रहते हैं उनको एक चम्मच नमक दिया था। सेठ का माथा ठनका अरे मूर्ख इसमें तो जहरीला पदार्थ है। अब सेठजी भाग कर संतजी के पास गए, सन्तजी भगवान के भोग लगाकर थाली लिए भोजन करने बैठे ही थे सेठजी दूर से ही बोले महाराजजी रुकिए आप जो नमक लाये थे वो जहरीला पदार्थ था।आप भोजन नहीं करें।_* *_संतजी बोले भाई हम तो प्रसाद लेंगे ही क्योंकि भोग लगा दिया है और भोग लगा भोजन छोड़ नहीं सकते हाँ अगर भोग नहीं लगता तो भोजन नही करते और शुरू कर दिया भोजन।* *सेठजी के होश उड़ गए, बैठ गए वहीं पर्। रात पड़ गई सेठजी वहीं सो गए कि कहीं संतजी की तबियत बिगड़ गई तो कम से कम बैद्यजी को दिखा देंगे तो बदनामी से बचेंगे।* *सोचते सोचते नींद आ गई। सुबल जल्दी ही सन्त उठ गए और नदी में स्नान करके स्वस्थ दशा में आ रहे हैं। सेठजी ने कहा महाराज तबियत तो ठीक है। सन्त बोले भी भगवान की कृपा है, कह कर मन्दिर खोला तो देखते हैं कि भगवान का श्री विग्रह के दो भाग हो गए शरीर कला पड़ गया। अब तो सेठजी सारा मामला समझ गए कि अटल विश्वास से भगवान ने भोजन का जहर भोग के रूप में स्वयं ने ग्रहण कर लिया और भक्त को प्रसाद का ग्रहण कराया। ' सेठजी ने आज घर आकर बेटे को घर दुकान सम्भला दी और स्वयं भक्ति करने सन्त शरण चले गए। '* *शिक्षा :- भगवान को निवेदन करके भोग लगा कर ही भोजन करें, भोजन अमृत बन जाता है। आइये आज से ही नियम लें कि भोजन बिना भोग लगाएं नहीं करेंगे। 🌹🌹🌹🌹🌹🙏🏼ऊँ गं गणपतये नम:🙏🏼🌹🌹🌹🌹🌹

+30 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 93 शेयर
Sanjeev Adhoya Jan 26, 2022

+47 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 2 शेयर

+12 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+35 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 13 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB