Seemma Valluvar
Seemma Valluvar Dec 19, 2021

🌺 युयूत्सु 🌺 युयुत्सु: धृतराष्ट्र का वह पुत्र जो महाभारत के युद्ध में पांडवों की तरफ से लड़ा। महाभारत के कई पात्रों से सभी परिचित हैं लेकिन महाभारत में कुछ ऐसे किरदार भी है जिन पर चर्चा कम होती है। इन्हीं में से एक हैं युयुत्सु। युयुत्सु धृतराष्ट्र का पुत्र था लेकिन उसकी माता गंधारी नहीं थी। युयुत्सु एक दासी का पुत्र था। धृतराष्ट्र की पत्नी गांधारी जब गर्भवती थीं तो धृतराष्ट्र की देखभाल एक दासी किया करती थी। इसी दासी से ही युयुत्सु का जन्म हुआ था। युयुत्सु का जन्म उसी समय हुआ था जब भीम और दुर्योधन का जन्म हुआ था। युयुत्सु भी कौरव था लेकिन उसने सदा धर्म का पक्ष लिया। द्रौपदी के चीरहरण के समय युयुत्सु ने कौरवों का विरोध किया। महाभारत युद्ध में युयुत्सु ने पांडवों का साथ दिया और उन्हीं की तरफ से युद्ध भी लड़ा। महाभारत युद्ध में युधिष्ठिर ने युयुत्सु को लेकर एक विशेष रणनीति अपनाई। युधिष्ठिर ने युयुत्सु को रणभूमि में नहीं भेजा बल्कि उसे योद्धाओं के लिए हथियारों की आपूर्ति की व्यवस्था देखने का काम सौंपा। युयुत्सु संस्कृत के दो शब्दों का मिश्रण है, ‘युद्ध’ और ‘उत्सुक्त’। यानि युयुत्सु का अर्थ है वह व्यक्ति, जो युद्ध के लिए उत्सुक हो। युयुत्सु युद्धकला में बेहद निपुण थे और वे एक समय पर 60000 से भी ज़्यादा योद्धाओं से लड़ने का माद्दा रखते थे, जिसके कारण उन्हे ‘महारथी’ की उपाधि मिली थी। धीरे धीरे युयुत्सु पांडवों के विश्वसनीय गुप्तचर में परिवर्तित हो गए, जिनहोने समय समय पर पांडवों की हर प्रकार के संकटों से रक्षा की। उदाहरण के तौर पर जब द्यूत क्रीडा में हारने के पश्चात जब पांडवों को वनवास पर जाना पड़ा, तो कौरवों वन में विकत परिस्थितियों के बावजूद पांडवों की नीतिपूर्ण गति देखकर काफी क्रोधित हुए, और उन्होने पांडवों के उस जलाशय में विष मिलाने का षड्यंत्र रचा, जिससे पांडव अक्सर जल का सेवन किया करते थे।तब ये युयुत्सु ही थे, जिसने सही समय पर पांडवों के मित्र और गंधर्वराज चित्रसेन को सूचित कर पांडवों को मरने से बचाया। वह धृतराष्ट्र का इकलौता पुत्र था जो कि महाभारत युद्ध में बच गया। बता दें धतृराष्ट्र और गांधारी के 100 पुत्र थे जो सभी युद्ध में मारे गए थे। युयुत्सु की धर्मपरायणता को पांडव कभी भी भूले नहीं। इसीलिए जब यदुवंश के अंत निकट आने पर श्रीक़ृष्ण सन्यास लेने के लिए और पांडव स्वर्गारोहण के लिए निकल पड़े, तो युयुत्सु को हस्तिनापुर के संरक्षक का पदभार सौंपा गया, और उनकी देखरेख में युवा परीक्षित को हस्तिनापुर का राजा घोषित किया गया। युयुत्सु धृतराष्ट्र के पुत्रों में एकमात्र ऐसे पुत्र थे, जिनहोने विकट परिस्थितियों में भी धर्म का साथ नहीं छोड़ा और समाज के लिए एक नया आदर्श स्थापित किया। हम नमन करते हैं ऐसे वीर योद्धा को, जिनहोने सदैव धर्म को प्राथमिकता दी और हमारे जनमानस को धर्म के रास्ते पर चलने को प्रेरित किया। जय श्री कृष्ण आप सभी धर्मानुरागी मित्रों को। 🙏🙏🙏

🌺     युयूत्सु   🌺

युयुत्सु: धृतराष्ट्र का वह पुत्र जो महाभारत के युद्ध में पांडवों की तरफ से लड़ा।

महाभारत के कई पात्रों से सभी परिचित हैं लेकिन महाभारत में कुछ ऐसे किरदार भी है जिन पर चर्चा कम होती है। इन्हीं में से एक हैं युयुत्सु। युयुत्सु धृतराष्ट्र का पुत्र था लेकिन उसकी माता गंधारी नहीं थी। युयुत्सु एक दासी का पुत्र था।

धृतराष्ट्र की पत्नी गांधारी जब गर्भवती थीं तो धृतराष्ट्र की देखभाल एक दासी किया करती थी। इसी दासी से ही युयुत्सु का जन्म हुआ था। युयुत्सु का जन्म उसी समय हुआ था जब भीम और दुर्योधन का जन्म हुआ था।

युयुत्सु भी कौरव था लेकिन उसने सदा धर्म का पक्ष लिया। द्रौपदी के चीरहरण के समय युयुत्सु ने कौरवों का विरोध किया। महाभारत युद्ध में युयुत्सु ने पांडवों का साथ दिया और उन्हीं की तरफ से युद्ध भी लड़ा।

महाभारत युद्ध में युधिष्ठिर ने युयुत्सु को लेकर एक विशेष रणनीति अपनाई। युधिष्ठिर ने युयुत्सु को रणभूमि में नहीं भेजा बल्कि उसे योद्धाओं के लिए हथियारों की आपूर्ति की व्यवस्था देखने का काम सौंपा।

युयुत्सु संस्कृत के दो शब्दों का मिश्रण है, ‘युद्ध’ और ‘उत्सुक्त’। यानि युयुत्सु का अर्थ है वह व्यक्ति, जो युद्ध के लिए उत्सुक हो। युयुत्सु युद्धकला में बेहद निपुण थे और वे एक समय पर 60000 से भी ज़्यादा योद्धाओं से लड़ने का माद्दा रखते थे, जिसके कारण उन्हे ‘महारथी’ की उपाधि मिली थी।

धीरे धीरे युयुत्सु पांडवों के विश्वसनीय गुप्तचर में परिवर्तित हो गए, जिनहोने समय समय पर पांडवों की हर प्रकार के संकटों से रक्षा की। उदाहरण के तौर पर जब द्यूत क्रीडा में हारने के पश्चात जब पांडवों को वनवास पर जाना पड़ा, तो कौरवों वन में विकत परिस्थितियों के बावजूद पांडवों की नीतिपूर्ण गति देखकर काफी क्रोधित हुए, और उन्होने पांडवों के उस जलाशय में विष मिलाने का षड्यंत्र रचा, जिससे पांडव अक्सर जल का सेवन किया करते थे।तब ये युयुत्सु ही थे, जिसने सही समय पर पांडवों के मित्र और गंधर्वराज चित्रसेन को सूचित कर पांडवों को मरने से बचाया। 

वह धृतराष्ट्र का इकलौता पुत्र था जो कि महाभारत युद्ध में बच गया। बता दें धतृराष्ट्र और गांधारी के 100 पुत्र थे जो सभी युद्ध में मारे गए थे।

युयुत्सु की धर्मपरायणता को पांडव कभी भी भूले नहीं। इसीलिए जब यदुवंश के अंत निकट आने पर श्रीक़ृष्ण सन्यास लेने के लिए और पांडव स्वर्गारोहण के लिए निकल पड़े, तो युयुत्सु को हस्तिनापुर के संरक्षक का पदभार सौंपा गया, और उनकी देखरेख में युवा परीक्षित को हस्तिनापुर का राजा घोषित किया गया।

युयुत्सु धृतराष्ट्र के पुत्रों में एकमात्र ऐसे पुत्र थे, जिनहोने विकट परिस्थितियों में भी धर्म का साथ नहीं छोड़ा और समाज के लिए एक नया आदर्श स्थापित किया। हम नमन करते हैं ऐसे वीर योद्धा को, जिनहोने सदैव धर्म को प्राथमिकता दी और हमारे जनमानस को धर्म के रास्ते पर चलने को प्रेरित किया।
जय श्री कृष्ण आप सभी धर्मानुरागी मित्रों को।
🙏🙏🙏

+339 प्रतिक्रिया 81 कॉमेंट्स • 1041 शेयर

कामेंट्स

Brajesh Sharma Dec 20, 2021
👌🎋🇮🇳🙏🚩🌞🙏🇮🇳🌹💥 🌞🚩सुप्रभात 🌹🙏 ॐ नमः शिवाय.. हर हर महादेव खुश रहें मस्त रहें स्वस्थ रहें *ज़िन्दगी में कुछ दोस्ती, *नादानों से भी ज़रूर रखना,* *क्योंकि जरुरत पड़ने पर,..*समझदार लोग,* *अक्सर व्यस्त रहते हैं..!! राम राम जी जय जय श्री राम 🚩🙏🎋🇮🇳🌞🥀🌹🙏

Munesh Tyagi Dec 20, 2021
Om namah shivaya har har mahadev shubh prabhat vandan bahana bhgwan Bholenath ka aashirwad aap par sada Bana rahe

🇮🇳 JAY HIND🇮🇳 Dec 20, 2021
ओम नमः शिवाय 🕉️🔱🙏🌹🙏 शुभ प्रभात वंदन बहना जी 🌹🙏

N K Pandey Dec 20, 2021
Om Namah Shivay Subh Prabhat Vandan Bahen

Ansouya Mundram 🍁 Dec 20, 2021
🙏हर हर महादेव 🙏🌹 मंगल कामनाओं सहित शुभ प्रभात प्यारी बहना जी 🌷🙏🌷🙏 भोले बाबा और माता पार्वती की कृपा आप और आपके परिवार पर हमेशा बना रहे जी मेरी प्यारी बहना जी 🌷🙏🌷🙏 जय भोले नाथ की 🙏🌹

Shivsanker Shukla Dec 20, 2021
ओम नमः शिवाय सादर सुप्रभात आदरणीय बहन

Shivsanker Shukla Dec 20, 2021
हर हर महादेव बहन जय भोलेनाथ की

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Dec 20, 2021
Good Morning My Sister ji 🙏🙏 Om Namah Shivay 🙏🙏🌹🌹💐🌹 Har Har Mahadev 🙏🙏🌹💐🌹💐🌹 Jay Bholenath Ki Kripa Dristi Aap Our Aapke Priwar Per Hamesha Sada Bhni Rahe ji 🙏 Aapka Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹.

GOVIND CHOUHAN Dec 20, 2021
Har Har Mahadev 🌷🌷🌷🙏🙏 Jai Baba Bholenath 🌷🌷🌷🙏🙏 Shubh Dopahar Vandan Jiii 🙏🙏

Thakur Dec 20, 2021
jai shree radhe Krishna ji beautiful good Afternon ji my sweet sister

ILA SINHA Dec 20, 2021
🌺🥀Har har Mahadev🥀🌺 🌺🥀Om Namah Shivay🥀🌺 🌺🥀 Happy Monday 🥀🌺 🌺🥀 Good evening🥀🌺

Runa Sinha Dec 20, 2021
Om Namah Shivay 🌹🙏🌹 Good evening. Bhagwan Bholenath ki kripa aap sapariwar par bani rahe,bahan 🙏

Saumya sharma Dec 20, 2021
ॐ नमः शिवाय 🙏🌹🙏सोमवार की साँझ में, बाबा मैं माँगू कर जोड़, अपने भक्तों पर कृपा करो, कर दो आनंद चहुँ ओर 🙏☺🌹सुख समृद्धि की मंगलकामना के साथ शुभ संध्या वंदन प्यारी बहना जी 🙏☺🌹आप सपरिवार स्वस्थ रहें और हँसते मुस्कुराते रहें 🙏☺🌹

GOVIND CHOUHAN Dec 20, 2021
Om Namah Shivay 🌹🌹🌹🙏🙏 Har Har Mahadev 🌹🌹🌹🙏🙏 Shubh Sandhiya Vandan Jiii 🙏🙏

Anup Kumar Sinha Dec 20, 2021
ऊँ नमः शिवाय 🙏🙏 शुभ रात्रि वंदन ,बहना ।आनेवाला कल आपके लिए ढेर सारी खुशियाँ लाये 🙏🌺

Anilkumar Marathe Dec 20, 2021
जय श्री कृष्ण नमस्कार खुशियों की सदाबहार आदरणीय प्यारी सीमा जी !! 🌹हम दुआ करते हैं कि आपके सारे दुःख, दर्द आपसे दूर हों और ईश्वर का हाथ सदा आप और आपके परिवार पर बना रहे, पूरी कायनात को खुश रखने वाला वो रब आपकी हर एक ख़ुशी का ख्याल रखे और कान्हा जी आपकी ज़िन्दगी में इतनी खुशियाँ दे कि आपसे बढ़कर कोई खुशनसीब ना हो यही है दिल से दुआ मेरी !! 🌹शुभ रात्री स्नेह वंदन जी !!

Ravi Kumar Taneja Dec 20, 2021
*🌹राम राम बहना जी 🌹* *नमस्कार, शुभ प्रभात स्नेह वंदन जी, आपका जीवन मंगलमय हो🙏💐🙏* जय जय जय बजरंग बली 🙏🌺🙏 जय श्री राम 🙏💐🙏 प्रभु श्रीराम आपको और आपके परिवार को शांति, सुख-समृद्धि,मान-सन्मान, यश-कीर्ति, वैभव-ऐश्वर्य प्रदान करें,प्रभु श्रीराम जी से हमारी यही प्रार्थना है !!!🙏🌹🙏 *🦋ज्यादातर लोग खुशी पाने के लिए दूसरों पर निर्भर रहते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि यह हमेशा "भीतर" से आती है।🦋* *‼️सदैव प्रसन्न रहिये!* *जो प्राप्त है,पर्याप्त है‼️* 🕉🦚🦢🙏🌹🙏🦢🦚🕉

+41 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 34 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB