R S Sharma
R S Sharma Dec 8, 2021

+18 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 149 शेयर

कामेंट्स

Sunita Dec 8, 2021
जय श्री राम

Gopal Jalan Jan 24, 2022

+35 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 106 शेयर

+18 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 50 शेयर
Gopal Jalan Jan 24, 2022

+15 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 58 शेयर
Shuchi Singhal Jan 24, 2022

+44 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 79 शेयर
Gopal Jalan Jan 24, 2022

+13 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 39 शेयर

. " मानव सेवा ही सच्ची सेवा है " "रसायनशास्त्री नागार्जुन एक राज्य के राज वैद्य थे।एक दिन उन्होंने राजा से कहा, ‘मुझे एक सहायक की जरूरत है।राजा ने उनके पास दो कुशल युवकों को भेजा और कहा कि उनमें से जो ज्यादा योग्य लगे उसे रख लें। " "नागार्जुन ने दोनों की कई तरह से परीक्षा ली पर दोनों की योग्यता एक जैसी थी। नागार्जुन दुविधा में पड़ गए कि आखिर किसे रखें।अंत में उन्होंने दोनों युवकों को एक पदार्थ दिया और कहा, ‘इसे पहचान कर कोई भी एक रसायन अपनी इच्छानुसार बनाकर ले आओ। " " हां, तुम दोनों सीधे न जाकर राजमार्ग के रास्ते से जाना।दोनों राजमार्ग से होकर अपने-अपने घर चले गए। दूसरे दिन दोनों युवक आए। उनमें से एक युवक रसायन बना कर लाया था जबकि दूसरा खाली हाथ आया था। "आचार्य ने रसायन की जांच की। उसे बनाने वाले युवक से उसके गुण-दोष पूछे। रसायन में कोई कमी नहीं थी। " "आचार्य ने दूसरे युवक से पूछा, ‘तुम रसायन क्यों नहीं लाए?’ " "उस युवक ने कहा, ‘मैं पहचान तो गया था मगर उसका कोई रसायन मैं तैयार नहीं कर सका। " "जब मैं राजमार्ग से जा रहा था तो देखा कि एक पेड़ के नीचे एक बीमार और अशक्त आदमी दर्द से तड़प रहा है। मैं उसे अपने घर ले आया और उसी की सेवा में इतना उलझ गया कि रसायन तैयार करने का समय ही नहीं मिला।" " नागार्जुन ने उसे अपना सहायक रख लिया।दूसरे दिन राजा ने नागार्जुन से पूछा, ‘आचार्य। जिसने रसायन नहीं बनाया उसे ही आपने रख लिया। ऐसा क्यों?’ "नागार्जुन ने कहा, ‘महाराज दोनों एक रास्ते से गए थे। एक ने बीमार को देखा और दूसरे ने उसे अनदेखा कर दिया। रसायन बनाना कोई जटिल नहीं था। मुझे तो यह जानना था कि दोनों में कौन मानव सेवा करने में समर्थ है।" "बीमार व्यक्ति चिकित्सक की दवा से ज्यादा उसके स्नेह और सेवा भावना से ठीक होता है, इसलिए मेरे काम का व्यक्ति वही है जिसे मैंने चुना है।’ ~~~०~~~ "जय जय श्री राधे" " कुमार रौनक कश्यप " *************************************************

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर

+71 प्रतिक्रिया 20 कॉमेंट्स • 65 शेयर

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 9 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB