prakash patel
prakash patel Dec 7, 2021

आर्थिक तंगी दूर करने के लिए पीपल के पत्तों का उपाय 〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️ शास्त्रों के अनुसार हनुमानजी शीघ्र प्रसन्न होने वाले देवी-देवताओं में से एक हैं। गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित श्रीरामचरित मानस के अनुसार माता सीता द्वारा पवनपुत्र हनुमानजी को अमरता का वरदान दिया गया है। इसी वरदान के प्रभाव से इन्हें भी अष्टचिरंजीवी में शामिल किया जाता है। कलयुग में हनुमानजी भक्तों की सभी मनोकामनाएं तुरंत ही पूर्ण करते हैं। बजरंगबली को प्रसन्न करने के लिए कई प्रकार के उपाय बताए गए हैं। इन्हीं उपायों में से एक उपाय यहां बताया जा रहा है। इस उपाय को विधिवत किया जाए तो बहुत जल्दी सकारात्मक फल प्राप्त होते हैं। यह उपाय पीपल के पत्तों से किया जाता है। श्रीराम के अनन्य भक्त हनुमानजी की कृपा प्राप्त होते ही भक्तों के सभी दुख दूर हो जाते हैं। पैसों से जुड़ी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं। कोई रोग हो तो वह भी नष्ट हो जाता है। इसके साथ ही यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में कोई ग्रह दोष हो तो पवनपुत्र की पूजा से वह भी दूर हो जाता है। हनुमानजी की पूजा में पवित्र का पूरा ध्यान रखना चाहिए। यदि कोई व्यक्ति पैसों की तंगी का सामना करना रहा है तो उसे प्रति मंगलवार और शनिवार को पीपल के 11 पत्तों का यह उपाय अपनाना चाहिए। उपाय इस प्रकार है👉 प्रत्येक मंगलवार और शनिवार को ब्रह्म मुहूर्त में उठें। इसके बाद नित्य कर्मों से निवृत्त होकर किसी पीपल के पेड़ से 11 पत्ते तोड़ लें। ध्यान रखें पत्ते पूरे होने चाहिए, कहीं से टूटे या खंडित नहीं होने चाहिए। इन 11 पत्तों पर स्वच्छ जल में कुमकुम या अष्टगंध या चंदन मिलाकर इससे पूरे पत्ते पर आगे पीछे सभी तरफ अधिक से अधिक संख्या में श्रीराम का नाम लिखें। नाम लिखते समय हनुमान चालीसा का पाठ अवश्य करते रहें। जब सभी पत्तों पर श्रीराम नाम लिख लें, उसके बाद राम नाम लिखे हुए इन पत्तों की एक माला बनाएं। इस माला को किसी भी हनुमानजी के मंदिर जाकर वहां बजरंगबली को अर्पित करें। इस प्रकार यह उपाय करते रहें। कुछ समय में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। ध्यान रखें उपाय करने वाला भक्त किसी भी प्रकार के अधार्मिक कार्य न करें। अन्यथा इस उपाय का प्रभाव निष्फल हो जाएगा। उचित लाभ प्राप्त नहीं हो सकेगा। साथ ही अपने कार्य और कर्तव्य के प्रति ईमानदार रहें। हनुमान जी को प्रसन्न करने के अन्य उपाय! 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ 👉 किसी भी हनुमान मंदिर जाएं और अपने साथ नारियल लेकर जाएं। मंदिर में नारियल को अपने सिर पर सात बार वार लें। इसके बाद यह नारियल हनुमानजी के सामने फोड़ दें। इस उपाय से आपकी सभी बाधाएं दूर हो जाएंगी। 👉 शनिवार को हनुमानजी के मंदिर में 1 नारियल पर स्वस्तिक बनाएं और हनुमानजी को अर्पित करें। हनुमान चालीसा का पाठ करें। 👉 हनुमानजी को सिंदूर और तेल अर्पित करें। जिस प्रकार विवाहित स्त्रियां अपने पति या स्वामी की लंबी उम्र के लिए मांग में सिंदूर लगाती हैं, ठीक उसी प्रकार हनुमानजी भी अपने स्वामी श्रीराम के लिए पूरे शरीर पर सिंदूर लगाते हैं। जो भी व्यक्ति शनिवार को हनुमानजी को सिंदूर अर्पित करता है उसकी सभी इच्छाएं पूरी हो जाती हैं। 👉 अपनी श्रद्धा के अनुसार किसी हनुमान मंदिर में बजरंग बली की प्रतिमा पर चोला चढ़वाएं। ऐसा करने पर आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाएंगी। 👉 हनुमानजी के सामने शनिवार की रात को चौमुखा दीपक लगाएं। यह एक बहुत ही छोटा लेकिन चमत्कारी उपाय है। ऐसा नियमित रूप से करने पर आपके घर-परिवार की सभी परेशानियां समाप्त हो जाती हैं। 👉 किसी पीपल पेड़ को जल चढ़ाएं और सात परिक्रमा करें। इसके बाद पीपल के नीचे बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करें। https://www.facebook.com/groups/367351564605027/ 🌹जय श्री कृष्ण🙏🐚🏹जय श्री राम🙏 उपाय करते समय धैर्य का परिचय दें कोई भी उपाय तुरंत लाभ नही दे सकता पहले प्रारब्ध कमजोर करेगा उसके बाद ही लाभ होगा। 〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️

आर्थिक तंगी दूर करने के लिए पीपल के पत्तों का उपाय 
〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️
शास्त्रों के अनुसार हनुमानजी शीघ्र प्रसन्न होने वाले देवी-देवताओं में से एक हैं। गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित श्रीरामचरित मानस के अनुसार माता सीता द्वारा पवनपुत्र हनुमानजी को अमरता का वरदान दिया गया है। इसी वरदान के प्रभाव से इन्हें भी अष्टचिरंजीवी में शामिल किया जाता है। कलयुग में हनुमानजी भक्तों की सभी मनोकामनाएं तुरंत ही पूर्ण करते हैं।

बजरंगबली को प्रसन्न करने के लिए कई प्रकार के उपाय बताए गए हैं। इन्हीं उपायों में से एक उपाय यहां बताया जा रहा है। इस उपाय को विधिवत किया जाए तो बहुत जल्दी सकारात्मक फल प्राप्त होते हैं। यह उपाय पीपल के पत्तों से किया जाता है।

श्रीराम के अनन्य भक्त हनुमानजी की कृपा प्राप्त होते ही भक्तों के सभी दुख दूर हो जाते हैं। पैसों से जुड़ी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं। कोई रोग हो तो वह भी नष्ट हो जाता है। इसके साथ ही यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में कोई ग्रह दोष हो तो पवनपुत्र की पूजा से वह भी दूर हो जाता है। हनुमानजी की पूजा में पवित्र का पूरा ध्यान रखना चाहिए।

यदि कोई व्यक्ति पैसों की तंगी का सामना करना रहा है तो उसे प्रति मंगलवार और शनिवार को पीपल के 11 पत्तों का यह उपाय अपनाना चाहिए।

उपाय इस प्रकार है👉 प्रत्येक मंगलवार और शनिवार को ब्रह्म मुहूर्त में उठें। इसके बाद नित्य कर्मों से निवृत्त होकर किसी पीपल के पेड़ से 11 पत्ते तोड़ लें। ध्यान रखें पत्ते पूरे होने चाहिए, कहीं से टूटे या खंडित नहीं होने चाहिए। इन 11 पत्तों पर स्वच्छ जल में कुमकुम या अष्टगंध या चंदन मिलाकर इससे पूरे पत्ते पर आगे पीछे सभी तरफ अधिक से अधिक संख्या में श्रीराम का नाम लिखें। नाम लिखते समय हनुमान चालीसा का पाठ अवश्य करते रहें।
 
जब सभी पत्तों पर श्रीराम नाम लिख लें, उसके बाद राम नाम लिखे हुए इन पत्तों की एक माला बनाएं। इस माला को किसी भी हनुमानजी के मंदिर जाकर वहां बजरंगबली को अर्पित करें। इस प्रकार यह उपाय करते रहें। कुछ समय में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे।

ध्यान रखें उपाय करने वाला भक्त किसी भी प्रकार के अधार्मिक कार्य न करें। अन्यथा इस उपाय का प्रभाव निष्फल हो जाएगा। उचित लाभ प्राप्त नहीं हो सकेगा। साथ ही अपने कार्य और कर्तव्य के प्रति ईमानदार रहें।

हनुमान जी को प्रसन्न करने के अन्य उपाय!
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
👉 किसी भी हनुमान मंदिर जाएं और अपने साथ नारियल लेकर जाएं। मंदिर में नारियल को अपने सिर पर सात बार वार लें। इसके बाद यह नारियल हनुमानजी के सामने फोड़ दें। इस उपाय से आपकी सभी बाधाएं दूर हो जाएंगी।

👉 शनिवार को हनुमानजी के मंदिर में 1 नारियल पर स्वस्तिक बनाएं और हनुमानजी को अर्पित करें। हनुमान चालीसा का पाठ करें।

👉 हनुमानजी को सिंदूर और तेल अर्पित करें। जिस प्रकार विवाहित स्त्रियां अपने पति या स्वामी की लंबी उम्र के लिए मांग में सिंदूर लगाती हैं, ठीक उसी प्रकार हनुमानजी भी अपने स्वामी श्रीराम के लिए पूरे शरीर पर सिंदूर लगाते हैं। जो भी व्यक्ति शनिवार को हनुमानजी को सिंदूर अर्पित करता है उसकी सभी इच्छाएं पूरी हो जाती हैं।

👉 अपनी श्रद्धा के अनुसार किसी हनुमान मंदिर में बजरंग बली की प्रतिमा पर चोला चढ़वाएं। ऐसा करने पर आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाएंगी।

👉 हनुमानजी के सामने शनिवार की रात को चौमुखा दीपक लगाएं। यह एक बहुत ही छोटा लेकिन चमत्कारी उपाय है। ऐसा नियमित रूप से करने पर आपके घर-परिवार की सभी परेशानियां समाप्त हो जाती हैं।

 👉 किसी पीपल पेड़ को जल चढ़ाएं और सात परिक्रमा करें। इसके बाद पीपल के नीचे बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करें।
https://www.facebook.com/groups/367351564605027/

🌹जय श्री कृष्ण🙏🐚🏹जय श्री राम🙏
उपाय करते समय धैर्य का परिचय दें कोई भी उपाय तुरंत लाभ नही दे सकता पहले प्रारब्ध कमजोर करेगा उसके बाद ही लाभ होगा।
〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️

+18 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 35 शेयर
Acharya Rajesh Jan 27, 2022

☀️ *ज्योतिषीय लेख:- अयन तथा गोल विचार तथा फल* सौरमास का आरम्भ सूर्य की संक्रांति से होता है। सूर्य की एक संक्रांति से दूसरी संक्रांति का समय एक सौरमास कहलाता है। सौर-वर्ष के दो भाग हैं- उत्तरायण छह माह का और दक्षिणायन भी छह मास का होता है। अयन का अर्थ होता है परिवर्तन। भारतीय वैदिक पंचांग के अनुसार एक वर्ष में दो अयन होते हैं। साल में दो बार सूर्य की स्थिति में परिवर्तन होता है। सूर्य छः महीने उत्तरायण और छः महीने दक्षिणायन में रहते हैं। सूर्य के इसी परिवर्तन या अयन को ‘उत्तरायण और दक्षिणायन’ कहा जाता है। मकर इत्यादि छः राशियो (मकर, कुंभ, मीन, मेष, वृष, मिथुन) पर सूर्य रहने से उत्तरायण होता है, और कर्क आदि छः राशियो (कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु) पर सूर्य के रहने से दक्षिणायन होता है। शिशिर आदि तीन ऋतु में उत्तर अयन कहते हैं, तब देवताओं का दिन होता है, शेष तीन ऋतु में दक्षिण अयन कहते हैं वह देवताओं की रात्रि होती है। *अयन फल विचार:-* *उत्तरायण:-* उत्तरायण में जो मनुष्य जन्म लेता है, वह मनुष्य सब शास्त्रों में चतुर और धर्मार्थ काम विषय में कुशल, अनेक गुण सम्पन्न और बडा रूपवान होता है।॥ १ ॥ *दक्षिणायन:-* जो मनुष्य दक्षिणायन में जन्म लेता है वह सदा झूठी गवाही देने वाला, झूठ बोलने वाला, बडा अधर्मी, रोग युक्त और अनेक प्रकार की व्याधियों से युक्त होता है ॥ २ ॥ *अथ गोल स्वरूप* जब मेष आदि छः राशिगत (मेष, वृष, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या) सूर्य होता है, तब "उत्तरगोल" कहते हैं और तुला आदि छः राशिगत (तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुंभ, मीन) सूर्य होता है, तब दक्षिण गोल कहते हैं ॥ १ ॥ *गोलफल* *उत्तर गोल मे जन्म:-* जो मनुष्य उत्तर गोल में जन्म लेता है वह मनुष्य धनवान्, विद्यावान, पुत्र पौत्रादि सुखो से युक्त, तथा राजमान्य होता है ॥ १ ॥ *दक्षिण गोल मे जन्म:-* जो मनुष्य दक्षिण गोल में जन्म लेता है, वह मनुष्य सदा सुख से रहित, झूठी गवाही देने वाला, बडा दुराचारी अंगहीन और धनरहित होता है ॥ २ ॥ *(समाप्त)* _________________________ *आगामी लेख:-* *1. 29 जन० से "माघ-मौनी अमावस्या" पर धारावाहिक लेख* *2. 1 फर० को ज्योतिषीय विषय "विभिन्न 'ऋतुओ' तथा 'मासो' मे जन्म लेने का फल"पर लेख* _________________________ ☀️ *जय श्री राम* *आज का पंचांग,दिल्ली 🌹🌹🌹* *शुक्रवार,28.1.2022* *श्री संवत 2078* *शक संवत् 1943* *सूर्य अयन- उतरायण, गोल-दक्षिण गोल* *ऋतुः- शिशिर ऋतुः ।* *मास- माघ मास।* *पक्ष- कृष्ण पक्ष ।* *तिथि- एकादशी तिथि 11:38 pm* *चंद्रराशि- चंद्र वृश्चिक राशि मे अगले दिन 5:08 am तक तदोपरान्त धनु राशि।* *नक्षत्र- ज्येष्ठा नक्षत्र अगले दिन 8:08 am तक* *योग- ध्रुव योग 9:39 pm तक (अशुभ है)* *करण- बव करण 1:01 pm तक* *सूर्योदय 7:11 am, सूर्यास्त 5:56 pm* *अभिजित् नक्षत्र- 12:12 pm से 12:55 pm* *राहुकाल - 11:13 am से 12:34 pm* (शुभ कार्य वर्जित,दिल्ली )* *दिशाशूल- पश्चिम दिशा । *जनवरी 2022-शुभ दिन:-* 29 *जनवरी 2022-अशुभ दिन:-* 28, 30, 31 *गण्ड मूल आरम्भ:- ज्येष्ठा नक्षत्र, 28 जन० 7:10 am से 30 जन० 2:49 am तक मूल नक्षत्र तक गंडमूल रहेगें।* गंडमूल नक्षत्रों मे जन्म लेने वाले बच्चो का मूलशांति पूजन आवश्यक है। _________________________ *आगामी व्रत तथा त्यौहार:-* 28 जन०-षटतिला एकादशी। 30 जन०- प्रदोष व्रत/मासिक शिवरात्रि। ______________________ *विशेष:- जो व्यक्ति दिल्ली से बाहर अथवा देश से बाहर रहते हो, वह ज्योतिषीय परामर्श हेतु paytm या Bank transfer द्वारा परामर्श फीस अदा करके, फोन द्वारा ज्योतिषीय परामर्श प्राप्त कर सकतें है* ________________________ आपका दिन मंगलमय हो . 💐💐💐 *आचार्य राजेश (रोहिणी, दिल्ली)* *9810449333, 7982803848*

+12 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 15 शेयर

🌹🌹जय सियाराम🌹🌹 28 जनवरी 2022 का राशिफल सम्वत :- 2078 मास :- माघ तिथि :- एकादशी 11:38 पी एम पक्ष :- कृष्ण पक्ष नक्षत्र :- जेष्ठा नक्षत्र स्वामी बुध वार :- शुक्रवार पंचक :- नही चन्द्र :- वृश्चिक अभिजीत मुहर्त :- 12:26 पी एम से 01:09 पी एम राहुकाल :- 11:26 पी एम से 12:48 पी एम दिशाशूल :- पश्चिम आज का विशेष :- एकादशी व्रत मेष राशि :- आज दफ्तर में किसी से विरोध हो सकता है।अप्रिय स्थिति निर्मित हो सकती हैं।संतान के कैरियर को लेकर चिंतित हो सकते हैं।गैस की समस्या हो सकती है।अपने क्रोध पर नियंत्रण रखना होगा।कारोबार में कुछ नुकसान हो सकता है।वाणी को नियन्त्रण में रखें।जीवनसाथी की सेहत बिगड़ सकती है। वृषभ राशि :- आज आप अपनी दिनचर्या में बदलाव कर सकते हैं।दफ्तर में आपको उच्चाधिकारियों का साथ मिलेगा।किसी मित्र की मदद से अपने कार्य पूरे कर पाएंगे।धार्मिक कार्यों में आज आपकी रूचि रहेगी।कारोबार में नये सौदे से लाभ होगा।कोई खुशखबरी मिलेगी।वाहन सावधानी से चलाए। मिथुन राशि :- किसी से उधार के लेनदेन में गड़बड़ी होने की आशंका है।आपका विवाद होगा।सामाजिक स्तर को बढ़ाने का प्रयास करेंगे।झगड़ालू प्रवृत्ति के लोगों से सावधान रहें।जमीन जायदाद को लेकर कलह हो सकता है।आपके दैनिक खर्च में बढ़ोतरी होगी।आज अपने जीवन साथी के साथ सम्बन्ध खराब न करें। कर्क राशि :- आज का दिन बेहद शानदार रहेगा।समाज में आपका कद ऊंचा होगा।धन संबंधी स्थिति मजबूत होगी।जरूरतमंदों की मदद कर पाएंगे। पूर्व से लंबित कार्य को पूरा कर सकते हैं।कारोबार में लाभ हो सकता है।पारिवारिक जीवन बहुत सुखद रहेगा।छात्र पढ़ाई के साथ अनुसन्धान में रुचि लेंगे।ॐ नमः शिवाय का जाप करे। सिंह राशि :- नौकरी में अस्थिरता रहेगी।भविष्य को लेकर चिंतित हो सकते हैं।सेहत खराब रहेगी।कर्ज लेन-देन से आज आपको दूर रहना चाहिये।अपनी परेशानी को घरवालों से साझा कर सकते हैं।परिवार के बुजुर्गों के साथ समय बिताने का प्रयास करें।फेफड़ों में इंफेक्श की समस्या हो सकती है।विरोधियों से सावधान रहें। कन्या राशि :-आपको आज बड़ा लाभ हो सकता है।आपका छिपा हुआ कौशल सामने आएगा।लोग आपसे प्रभावित रहेंगे।साक्षात्कार में सफलता मिलेगी। राइटिंग और मीडिया से जुड़े लोगों की सराहना हो सकती है।कैरियर को लेकर जरूरी निर्णय ले सकते हैं।निजी जीवन सुख-चैन भरा रहेगा।अनजान लोगों से सावधान रहें।यात्रा करते समय किसी से विवाद न करें। तुला राशि :- आज का दिन सामान्य रहेगा।नौकरी में आपके प्रभाव में वृद्धि होगी।जरूरी संसाधनों पर आपको रकम खर्च करना पड़ सकता है।गैरजरूरी बातों को ज्यादा तूल न दें।किसी की आलोचना का शिकार होना पड़ सकता है।वित्तीय गतिविधियों के लिए आज का दिन अच्छा रहेगा।पदोन्नति मिल सकती है।युवाओं को नौकरी मिलने की संभावना है। वृश्चिक राशि :- आज आप बेहद भावुक रहेंगे।जीवनसाथी के साथ अधिक समय व्यतीत कर सकते हैं।किसी करीबी व्यक्ति के साथ नहीं होने से आपका मन किसी काम में नहीं लगेगा।मकान की मरम्मत में धन खर्च कर सकते हैं।कुछ कार्य प्रभावित होने की सम्भावना है।आत्मविश्वास में आज कमी रहेगी।बातचीत सावधानी पूर्वक करें। धनु राशि :- अपने भविष्य को लेकर को लेकर आप आशान्वित रहेंगे।शेयर मार्केट में ध्यान से निवेश करें।नौकरी में कुछ रूके हुए काम आज बनने की सम्भावना है।वैवाहिक जीवन में रोमांस रहेगा।अपने जीवनसाथी के साथ घूमने का प्लान बनाएंगे।किसी रिश्तेदार से पूर्व का विवाद दूर होने की संभावना है। मकर राशि :- आपको अपनी धन संपत्ति की सुरक्षा के लिए पर्याप्त उपाय करने चाहिए।किसी भी अनजान व्यक्ति पर भरोसा न करें।आपका व्यक्तित्व निखरेगा।उधार की रकम वापस मिलने से आपको मानसिक शांति मिलेगी।अपनी काबिलियत पर भरोसा रखें।साहित्य या मीडिया से जुड़े लोगों के लिए आज का दिन असमंजस भरा रहेगा।आमदनी के नए अवसर प्राप्त होंगे। कुम्भ राशि :- आज बेहद सक्रिय रहेंगे।सामाजिक,धार्मिक कार्यों में आपके सहयोग की सभी सराहना करेंगे।अपने कार्य तेज गति से पूरे करें।आपको धन लाभ हो सकता है।भविष्य को लेकर कोई बड़ा निर्णय कर सकते हैं।नौकरी में आपको अधिक अधिकार मिलेगा।अपनी दिनचर्या को अनुशासित रखने का प्रयास करें। मीन राशि :- आपकी मदद से कई लोगों के काम पूरे होंगे।धन संपत्ति को लेकर चिंता दूर होगी।पुरानी गलतियों से सबक लेंगे।अनुभवों का लाभ मिलेगा।किसी के प्रति आकर्षण होगा।कारोबार में आ रही परेशानियों का समाधान निकाल लेंगे।साझेदारी वाले कार्य में आपको फायदा हो सकता है।सेहत को लेकर लापरवाही न करें। 🌹🌹जय सियाराम🌹🌹 🌹जय श्री गुरुदेव🌹

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 16 शेयर
ASHOK Verma Jan 27, 2022

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Acharya Rajesh Jan 26, 2022

☀️ *लेख:- षटतिला एकादशी व्रत (28.01.2022)* *एकादशी तिथि प्रारम्भ- 28 जनवरी, 2:19 am* *एकादशी तिथि समाप्त- 28 फरवरी, 11:38 pm* *एकादशी व्रत पारणा मुहूर्त- 29 जन०, 7:11am से 9:20 am तक ।* *अवधि : 2 घंटे 9 मिनट* षटतिला एकादशी का व्रत माघ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी के दिन किया जाता है। कष्टों, दरिद्रता तथा दुर्भाग्य से मुक्ति पाने हेतु षटतिला एकादशी का व्रत किया जाता है, इसके अतिरिक्त षटतिला एकादशी को पूजने से व्यक्ति को स्वर्ग लोक की प्राप्ति होती है । षटतिला एकादशी का व्रत करने से कष्टों, दरिद्रता तथा दुर्भाग्य से मुक्ति मिलती है, तथा मृत्युपरांत बैकुण्ठ मे वास होता है, इस दिन भगवान विष्णु जी की विशेष पूजा की जाती है, भक्ति भाव से पूजन आदि करके भोग लगाया जाता है । षटतिला का संधिविछेदन करे तो "षट अर्थात छ:" तथा "तिला अर्थात तिल" तात्पर्य यह है कि इस दिन छहः प्रकार से तिलों का प्रयोग परम फलदायी है । अतः इस दिन तिल का विशेष महत्त्व है। पद्म पुराण के अनुसार इस दिन उपवास करके तिलों से ही स्नान, दान, तर्पण और पूजा की जाती है। इस दिन तिल का इस्तेमाल तिल के तेल का लेपन, स्नान, प्रसाद, भोजन, दान, तर्पण आदि सभी चीजों में किया जाता है। *षटतिला एकादशी के दिन तिल से किये जाने वाले कर्म:-* *1. तिल के तेल से मालिश* *2. तिल मिश्रित जल से स्नान* *3. तिलो से हवन* *4. तिलो वाले पानी का सेवन* *5. तिलो का दान* *6. तिल से बनी चीजो का सेवन तथा दान (रेवड़ी, गज्जक इत्यादि)* *7. तिल के साथ तर्पण* *षटतिला एकादशी व्रत विधि:-* पुरातन परंपरा के अनुसार माघ माह के कृष्ण पक्ष की दशमी को भगवान विष्णु का स्मरण करते हुए गोबर में तिल मिलाकर 108 उपले बनाने चाहिए। इसके बाद दशमी के दिन मात्र एक समय भोजन करना चाहिए और भगवान का स्मरण करना चाहिए षटतिला एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा का दिन है । पद्म पुराण के अनुसार चन्दन, अरगजा, कपूर, नैवेद्य आदि से भगवान विष्णु का पूजन करना चाहिए। उसके बाद श्रीकृष्ण नाम का उच्चारण करते हुए कुम्हड़ा, नारियल अथवा बिजौरे के फल से विधि विधान से पूजन कर अर्घ्य देना चाहिए। एकादशी की रात को भगवान का भजन- कीर्तन करना चाहिए। एकादशी की रात्रि को 108 बार *"ऊं नमो भगवते वासुदेवाय"* मंत्र द्वारा तिल निर्मित उपलों से हवन में आहुति देनी चाहिए । इसके बाद ब्राह्मण की पूजा कर उसे घड़ा, छाता, जूता, तिल से भरा बर्तन व वस्त्र दान देना चाहिए। *एकादशी व्रत का पारण:-* एकादशी के व्रत को सम्पूर्ण करने को पारण कहते हैं। एकादशी व्रत के अगले दिन सूर्योदय के बाद पारण किया जाता है। एकादशी व्रत का पारण द्वादशी तिथि समाप्त होने से पहले करना अति आवश्यक है। यदि द्वादशी तिथि सूर्योदय से पहले समाप्त हो गयी हो तो एकादशी व्रत का पारण सूर्योदय के बाद ही होता है। द्वादशी तिथि के भीतर पारण न करना पाप करने के समान होता है। एकादशी व्रत का पारण हरि वासर के दौरान भी नहीं करना चाहिए। जो श्रद्धालु व्रत कर रहे हैं उन्हें व्रत खोलने से पहले हरि वासर समाप्त होने की प्रतिक्षा करनी चाहिए। (हरि वासर द्वादशी तिथि की पहली एक चौथाई अवधि है। ) व्रत खोलने के लिए सबसे उपयुक्त समय प्रातःकाल होता है। व्रत करने वाले श्रद्धालुओं को मध्यान्ह के दौरान व्रत तोड़ने से बचना चाहिए। किसी कारण से अगर कोई प्रातःकाल पारण करने में सक्षम नहीं है तो उसे मध्यान्ह के बाद पारण करना चाहिए। कभी कभी एकादशी व्रत लगातार दो दिनों के लिए हो जाता है। जब एकादशी व्रत दो दिन होता है तब स्मार्तो को पहले दिन एकादशी व्रत करना चाहिए। दूसरे दिन वाली एकादशी को दूजी एकादशी कहते हैं। सन्यासियों, विधवाओं और मोक्ष प्राप्ति के इच्छुक श्रद्धालुओं को दूजी एकादशी के दिन व्रत करना चाहिए। जब-जब एकादशी व्रत दो दिन होता है तब-तब दूजी एकादशी और वैष्णव एकादशी एक ही दिन होती हैं। *षटतिला एकादशी मे निषिद्ध भोज्य पदार्थ तथा कर्म:-* षटतिला एकादशी के व्रती तथा सामान्य जनो को भी कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो सभी को एकदशी के दिन नहीं खाना चाहिए जैसे :- अनाज, चावल और दालें। इसके अतिरिक्त किसी भी प्रकार का राजसिक तथा तामसिक कार्य व्रत के दौरान नही करना चाहिए मनुष्य को अपनी इंद्रियों को काबू में रखते हुए काम, क्रोध,लोभ, मोह, अहंकार, व चुगली-बुराई तथा अपशब्दो आदि का परित्याग करना चाहिए, तथा व्रती को केवल भगवत भक्ति, दान और पुण्य की ओर ही मन लगाना चाहिए । *षटतिला एकादशी मे दानादि शुभ कर्मो का फल:-* इस दिन काली गाय का दान सुयोग्य ब्राहमण को करना अत्यंत शुभ फलदायी है । 'षटतिला एकादशी' के व्रत से जहाँ शारीरिक शुद्धि और आरोग्यता प्राप्त होती है, वहीं अन्न, तिल आदि दान करने से धन-धान्य में वृद्धि होती है। षटतिला एकादशी का व्रत करने से जीवन के तमाम कष्टों, दरिद्रता तथा दुर्भाग्य से मुक्ति मिलती है, तथा मृत्युपरांत बैकुण्ठ मे वास होता है। इससे यह भी ज्ञात होता है कि प्राणी जो-जो और जैसा दान करता है, शरीर त्यागने के बाद उसे वैसा ही प्राप्त होता है। अतः धार्मिक कृत्यों के साथ-साथ दान आदि अवश्य करना चाहिए। शास्त्रों में वर्णन है कि बिना दान आदि के कोई भी धार्मिक कार्य सम्पन्न नहीं माना जाता। *षटतिला एकादशी व्रत की पौराणिक कथा:-* प्राचीन काल में एक बार देवर्षि नारद, भगवान विष्णु के दरबार में जा पंहुचे और बोले भगवन माघ मास की कृष्ण एकादशी का क्या महत्व है, इसकी कहानी क्या हैं, मार्गदर्शन करें। भगवान श्री हरि, नारद के अनुरोध पर कहने लगे हे देवर्षि इस एकादशी का नाम षटतिला एकादशी है। पृथ्वीलोक पर एक निर्धन ब्राह्मणी मुझे बहुत मानती थी। दान पुण्य करने के लिये उसके पास कुछ नहीं था लेकिन मेरी पूजा, व्रत आदि वह श्रद्धापूर्वक करती थी। एक बार मैं स्वंय उसके भिक्षा के लिये जा पंहुचा ताकि उसका उद्धार हो सके अब उसके पास कुछ देने के लिये कुछ था नहीं तो क्या करती है कि मुझे मिट्टी का एक पिंड दे दिया। कुछ समय पश्चात जब उसकी मृत्यु हुई तो अपने को एक मिट्टी के खाली झोपड़े में पाती है जहां केवल एक आम का पेड़ ही उसके साथ था। वह मुझसे पूछती है कि हे भगवन मैनें तो हमेशा आपकी पूजा की है फिर मेरे साथ यहां स्वर्ग में भी ऐसा क्यों हो रहा है। तब मैनें उसे भिक्षा वाला वाकया सुना दिया, ब्राह्मणी पश्चाताप करते हुए विलाप करने लगी। अब मैने उससे कहा कि जब देव कन्याएं आपके पास आयें तो दरवाजा तब तक न खोलना जब तक कि वह आपको षटतिला एकादशी की व्रत विधि न बता दें। उसने वैसा ही किया। फिर व्रत का पारण करते ही उसकी कुटिया अन्न धन से भरपूर हो गई और वह बैकुंठ में अपना जीवन हंसी खुशी बिताने लगी। इसलिये हे नारद जो कोई भी इस दिन तिलों से स्नान दान करता है। उसके भंडार अन्न-धन से भर जाते हैं। इस दिन जितने प्रकार से तिलों का व्यवहार व्रती करते हैं उतने हजार साल तक बैकुंठ में उनका स्थान सुनिश्चित हो जाता है। *( समाप्त )* _________________________ *आगामी लेख* *1. 27 जन० को "षटतिला एकादशी" पर लेख* *2. 28 जन० को ज्योतिषीय विषय "विभिन्न 'अयन' तथा 'गोल' मे जन्म लेने का फल" पर लेख* *3. 29 जन० से "माघ-मौनी अमावस्या" पर धारावाहिक लेख* *4. 1 फर० को ज्योतिषीय विषय "विभिन्न 'ऋतुओ' तथा 'मासो' मे जन्म लेने का फल"पर लेख* _________________________ ☀️ *जय श्री राम* *आज का पंचांग,दिल्ली 🌹🌹🌹* *वृहस्पतिवार,27.1.2022* *श्री संवत 2078* *शक संवत् 1943* *सूर्य अयन- उतरायण, गोल-दक्षिण गोल* *ऋतुः- शिशिर ऋतुः ।* *मास- माघ मास।* *पक्ष- कृष्ण पक्ष ।* *तिथि- दशमी तिथि अगले दिन 2:19 am* *चंद्रराशि- चंद्र वृश्चिक राशि मे।* *नक्षत्र- विशाखा नक्षत्र 8:51 am तक* *योग- वृद्धि योग अगले दिन 1:02 am तक (अशुभ है)* *करण- वणिज करण 3:31 pm तक* *सूर्योदय 7:12 am, सूर्यास्त 5:55 pm* *अभिजित् नक्षत्र- 12:12 pm से 12:55 pm* *राहुकाल - 1:54 pm से 3:14 pm* (शुभ कार्य वर्जित,दिल्ली )* *दिशाशूल- दक्षिण दिशा । *जनवरी 2022-शुभ दिन:-* 29 *जनवरी 2022-अशुभ दिन:-* 27, 28, 30, 31 *भद्रा:-* 27 जन० 3:29 pm to 27/28 जन० मध्यरात्रि 2:17 am तक ( भद्रा मे मुण्डन, गृहारंभ, गृहप्रवेश, विवाह, रक्षाबंधन आदि शुभ काम नही करने चाहिये , लेकिन भद्रा मे स्त्री प्रसंग, यज्ञ, तीर्थस्नान, आपरेशन, मुकद्दमा, आग लगाना, काटना, जानवर संबंधी काम किए जा सकतें है। *सर्वार्थ सिद्ध योग :- 27 जन० 8:51 am से 28 जन० 7:10 am तक* (यह एक शुभयोग है, इसमे कोई व्यापारिक या कि राजकीय अनुबन्ध (कान्ट्रेक्ट) करना, परीक्षा, नौकरी अथवा चुनाव आदि के लिए आवेदन करना, क्रय-विक्रय करना, यात्रा या मुकद्दमा करना, भूमि , सवारी, वस्त्र आभूषणादि का क्रय करने के लिए शीघ्रतावश गुरु-शुक्रास्त, अधिमास एवं वेधादि का विचार सम्भव न हो, तो ये सर्वार्थसिद्धि योग ग्रहण किए जा सकते हैं। _________________________ *आगामी व्रत तथा त्यौहार:-* 28 जन०-षटतिला एकादशी। 30 जन०- प्रदोष व्रत/मासिक शिवरात्रि। ______________________ *विशेष:- जो व्यक्ति दिल्ली से बाहर अथवा देश से बाहर रहते हो, वह ज्योतिषीय परामर्श हेतु paytm या Bank transfer द्वारा परामर्श फीस अदा करके, फोन द्वारा ज्योतिषीय परामर्श प्राप्त कर सकतें है* ________________________ आपका दिन मंगलमय हो . 💐💐💐 *आचार्य राजेश (रोहिणी, दिल्ली)* *9810449333, 7982803848*

+20 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 35 शेयर

✴️विजय श्री हिंदू पंचांग-27.01.2022✴️ 🕉️शुभ गुरुवार✴️✴️शुभ प्रभात् 🕉️ श्री ज्योतिष सेवा संस्थान भीलवाड़ा (राज.) 74.30✴️मध्यमान✴️75.30 जन्मकुंडली वर्षफल राशि रत्न वास्तु विश्लेषण शिक्षा नौकरी आजीविका विवाह दांपत्य सुख विद्या सिद्धि,व्यापार वृद्धि,पदोन्नति (सटीक जानकारी✴️प्रभावी समाधान) ✴️♒♒♒✴️♒♒♒✴️ (प्रस्तुत कर्त्ता-पं.रामपाल भट्ट.भीलवाड़ा(राज.) ✴️संपर्क-वाट्स एप्प-97996-70464✴️ Subscribe-https://t.me/jsbrp ___________________________________ -विभिन्न शहरों के लिये रेखांतर(समय) संस्कार- (लगभग-वास्तविक समय के समीप) दिल्ली +10मिनट--------- जोधपुर -6 मिनट जयपुर +5 मिनट------ अहमदाबाद-8 मिनट कोटा +5 मिनट------------- मुंबई-7 मिनट लखनऊ +25 मिनट-------बीकानेर-5 मिनट कोलकाता +54----------जैसलमेर -15 मिनट ___________________________________ _____________आज विशेष_____________ प्रचलित मान्यताओं के अनुसार अंग स्फुरण के विविध प्रभाव एवं संभावित परिणाम ___________________________________ __________दैनिक पंचांग विवरण_________ ✴️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️✴️ आज दिनांक......................27.01.2022 कलियुग संवत्..............................5123 विक्रम संवत................................ 2078 शक संवत...................................1943 संवत्सर.................................. श्री राक्षस अयन........................................... उत्तर गोल...........................................दक्षिण ऋतु.......................................... शिशिर मास..............................................माघ पक्ष............................................. कृष्ण तिथि....।.दशमी. रात्रि. 2.16* तक / एकादशी वार............................................गुरुवार नक्षत्र..................।विशाखा. प्रातः 8.50 तक नक्षत्र...... अनुराधा. रात्रि. 7.09* तक / ज्येष्ठा चंद्र राशि............... वृश्चिक. संपूर्ण (अहोरात्र) योग............... वृद्धि. रात्रि. 1.02* तक / ध्रुव करण................. वणिज. अपरा. 3.28 तक विष्टिप(भद्रा)............. रात्रि. 2.16* तक / बव ____________________________________ ✴️✴️✴️✴️✴️ नोट-जिस रात्रि समय के ऊपर(*) लगा हुआ हो वह समय अर्द्ध रात्रि बाद सूर्योदय तक का है ********************************** ____________________________________ सूर्योंदयास्त दिनमानादि अन्य आवश्यक सूचना ✴️🏵️🏵️🏵️🌞🏵️🏵️🏵️✴️ सूर्योदय.............................. 7.17.58 पर सूर्यास्त.............................. 6.10.42 पर दिनमान................................ 10.52.43 रात्रिमान...............................।13.06.55 चंद्रास्त........................ .1.16.37 PM पर चंद्रोदय...................... ..3.14.34 AM पर राहुकाल.. अपरा. 2.06 से 3.28 तक(अशुभ) यमघंट....... प्रातः 7.18 से 8.40 तक(अशुभ) अभिजित.........।मध्या. 12.23 से 1.06 तक पंचक..................................आज नहीं है शुभ हवन मुहूर्त(अग्निवास)............. आज है दिशाशूल............................ .दक्षिण दिशा दोष निवारण......दही का सेवन कर यात्रा करें ____________________________________ 🌞✴️भद्रा वास शुभाशुभ विचार✴️🌞 भद्रा मेष, वृष, मिथुन, वृश्चिक के चंद्रमा में स्वर्ग में व कन्या, तुला, धनु, मकर के चंद्रमा में पाताल लोक में और कुंभ, मीन, कर्क, सिंह के चंद्रमा में मृत्युलोक में मानी जाती है यहां स्वर्ग और पाताल लोक की भद्रा शुभ मानी जाती हैं और मृत्युलोक की भद्रा काल में शुभ कार्य वर्जित होते हैं इसी तरह भद्रा फल विचार करें.. ___________________________________ ________सूर्योदय कालीन ग्रह स्थिति______ 🕉️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️🕉️ ग्रह राशि. अंश. कला. नक्षत्र चरणाक्षर सूर्य...............मकर 12°55' श्रवण, 1 खी चन्द्र............. वृश्चिक 2°25' विशाखा, 4 तो बुध............ मकर 4°46' उत्तराषाढा, 3 जा शुक्र.................धनु 17°3' पूर्वाषाढा, 2 धा मंगल......................धनु 7°42' मूल, 3 भा गुरु.............. कुम्भ 11°54' शतभिष, 2 सा शनि ...............मकर 20°48' श्रवण, 4 खो राहु....................वृषभ 4°4' कृत्तिका, 3 उ केतु................ वृश्चिक 4°4' अनुराधा, 1 ना ____________________________________ चौघड़िया (दिन-रात)******केवल शुभ कारक ✴️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️✴️ ✴️🏵️दिन का चौघड़िया🏵️✴️. शुभ.................. प्रातः 7.18 से 8.40 तक चंचल............। पूर्वा. 11.23 से 12.44 तक लाभ............. अपरा. 12.44 से 2.06 तक अमृत.............. अपरा. 2.06 से 3.28 तक शुभ.................. सायं. 4.49 से 6.11 तक ✴️🏵️रात्रि का चौघड़िया🏵️✴️ अमृत..........सायं-रात्रि. 6.11 से 7.49 तक चंचल.................रात्रि. 7.49 से 9.27 तक लाभ...रात्रि..12.44 AM से 2.23 AM तक शुभ ..... रात्रि. 4.01 AM से 5.39 AM तक अमृत....रात्रि. 5.39 AM से 7.18 AM तक (विशेष - ज्योतिष शास्त्र में एक शुभ योग और एक अशुभ योग जब भी साथ साथ आते हैं तो शुभ योग की स्वीकार्यता मानी गई है ) __________________________________ 🔱🔱🔱🔱🌞🔱🔱🔱🔱 *शुभ शिववास की तिथियां* शुक्ल पक्ष-2-----5-----6---- 9-------12----13. कृष्ण पक्ष-1---4----5----8---11----12----30. ___________________________________ ✴️🏵️🏵️🏵️✴️🏵️🏵️🏵️✴️ दिन नक्षत्र एवं चरणाक्षर संबंधी संपूर्ण विवरण जानकारी विशेष -यदि किसी बालक का जन्म गंड मूल(रेवती, अश्विनी, अश्लेषा, मघा, ज्येष्ठा और मूल) नक्षत्रों में होता है तो नक्षत्र शांति को आवश्यक माना गया है.. आज जन्मे बालकों का नक्षत्र के चरण अनुसार राशिगत् नामाक्षर. 08.50 AM तक--विशाखा--4------(तो) 02.27 PM तक--अनुराधा --1----- (ना) 08.03 PM तक--अनुराधा--2------(नी) 02.37 AM तक--अनुराधा--3-------(नू) 07.09 AM तक--अनुराधा--4-------(ने) उपरांत रात्रि तक-----ज्येष्ठा--1------(नो) _________राशि वृश्चिक -पाया ताम्र________ ___________________________________ ____________आज का दिन_____________ ✴️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️✴️ व्रत विशेष............ पवित्र माघ स्नान व्रत जारी व्रत विशेष.................................... नहीं है दिन विशेष...................................... नहीं विष्टि(भद्रा)...अपरा. 3.28 से रात्रि 2.16* तक खगोलीय..................................... नहीं है सर्वा.सि.योग. प्रातः 8.50 से रात्रि.7.09* तक अमृत.सि.योग............................... नहीं है सिद्ध रवियोग............................... .नहीं है ____________________________________ ___अगले दिन की प्रतीकात्मक जानकारी_____ ✴️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️✴️ कल दिनांक.......................28.01.2022 तिथि............. माघ कृष्णा एकादशी शुक्रवार व्रत विशेष............पवित्र माघ स्नान व्रत जारी व्रत विशेष.. षट्तिला एकादशी (स्मार्त्त-वैष्णव) दिन विशेष.................................. नहीं है विष्टि(भद्रा)..................................... नहीं है खगोलीय.....................................नहीं है सर्वा.सि.योग................................ नहीं है अमृत.सि.योग...............................नहीं है सिद्ध रवियोग................................नहीं है ____________________________________ _____________आज विशेष _____________ ✴️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️✴️ प्रचलित मान्यता अनुसार अंग के फड़कने से भी शकुन अपशकुन का विचार किया जाता है। हालांकि निम्न बातों में कितनी सचाई है यह बताना मुश्किल है। इसे लोग अंधविश्वास के अंतर्गत मानते हैं। यहां सिर्फ जानकारी हेतु यह लेख है पाठक अपने विवेक का उपयोग करें। * पुरुष के शरीर का अगर बायां भाग फड़कता है तो भविष्य में उसे कोई दुखद घटना झेलनी पड़ सकती है। वहीं अगर उसके शरीर के दाएं भाग में हलचल रहती है तो उसे जल्द ही कोई बड़ी खुशखबरी सुनने को मिल सकती है। जबकि महिलाओं के मामले में यह उलटा है। * किसी व्यक्ति के माथे पर अगर हलचल होती है तो भौतिक सुख * कनपटी के पास फड़कन पर धन लाभ होता है। * मस्तक फड़के तो भू-लाभ मिलता है। * ललाट का फड़कना स्नान लाभ दिलाता है। * नेत्र का फड़कना धन लाभ दिलाता है। * यदि दाईं आंख फड़कती है तो सारी इच्छाएं पूरी होने वाली हैं * बाईं आंख में हलचल रहती है तो अच्छी खबर मिल सकती है। * अगर दाईं आंख बहुत देर या दिनों तक फड़कती है तो यह लंबी बीमारी। * यदि कंधे फड़के तो भोग-विलास में वृद्धि होती है। * दोनों भौंहों के मध्य फड़कन सुख देने वाली होती है। * कपोल फड़के तो शुभ कार्य होते हैं। * नेत्रकोण फड़के तो आर्थिक उन्नति होती है। * आंखों के पास फड़कन हो तो प्रिय का मिलन होता है। * होंठ फड़क रहे हैं तो वन में नया दोस्त आने वाला है। * हाथों का फड़कना उत्तम कार्य से धन मिलने का सूचक है। * वक्षःस्थल का फड़कना विजय दिलाने वाला होता है। * हृदय फड़के तो इष्ट सिद्धी दिलाती है। * नाभि का फड़कना स्त्री को हानि पहुंचाता है। * उदर का फड़कना कोषवृद्धि होती है, * गुदा का फड़कना वाहन सुख देता है। * कण्ठ के फड़कने से ऐश्वर्यलाभ होता है। * ऐसे ही मुख के फड़कने से मित्र लाभ होता है और होठों का फड़कना प्रिय वस्तु की प्राप्ति का संकेत देता है। ___________🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️__________ विशेष-प्रदत्त जानकारी व परामर्श शास्त्र सम्मत् दृष्टिकोण की अभिव्यक्ति मात्र है कोई भी कार्य किसी विशेषज्ञ से परामर्श लेकर ही करें... ___________________________________ 🌸✴️🌸🌸✴️🌸🌸✴️🌸 ✴️🕉️✴️आज का राशिफल✴️🕉️✴️ ✴️✴️🌞✴️✴️ मेष-(चू चे चो ला ली लू ले लो अ) आज आपको अपने मनोरंजन में बाहर की गतिविधियों और खेल-कूद को शामिल करें । रुका हुआ धन मिलेगा और आर्थिक हालात में सुधार आएगा। घरेलू काम-काज निपटाने में बच्चे मदद करेंगे। खाली वक़्त में उन्हें ऐसे काम करने के लिए उत्साहित करें। अपने प्रिय की बेजा मांग के आगे न झुकें। कामकाज के सिलसिले में आपके ऊपर ज़िम्मेदारियों का बोझ बढ़ सकता है। अगर आपको लगता है कि कुछ लोगों की संगति करना आपके लिए ठीक नहीं है और उनके साथ रहकर आपका समय बर्बाद होता है तो उनका साथ आपको छोड़ देना चाहिए। कोई व्यक्ति आपके जीवनसाथी में काफ़ी दिलचस्पी दिखा सकता है, लेकिन दिन के आख़िर तक आपको एहसास होगा कि इसमें कुछ ग़लत नहीं है। वृषभ-(इ उ एओ वा वी वू वे वो) आज आप अपना तनाव दूर करने के लिए परिवार वालों की मदद लें। उनकी सहयता को खुले दिल से स्वीकारें। अपनी भावनाओं को दबाएँ और छुपाएँ नहीं। अपने जज़्बात दूसरों के साथ साझा करने से फ़ायदा मिलेगा। निश्चित तौर पर वित्तीय स्थिति में सुधार आएगा- लेकिन साथ ही ख़र्चों में भी इज़ाफ़ा होगा।आज परिवार के सदस्य कई चीज़ों की मांग कर सकते हैं। अपने साथी को भावनात्मक तौर पर ब्लैकमेल करने से बचें। काम में आपको पेशेवर उपलब्धियाँ और फ़ायदा मिलेगा। आपका प्रेमी आपको पर्याप्त समय नहीं देता यह शिकायत आज आप खुलकर उनके सामने कर सकते हैं। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। मिथुन- (क की कू घ ङ छ के को ह) आज आप अपना धैर्य बनाए रखें, क्योंकि आपकी समझदारी और प्रयास आपको सफलता ज़रूर दिलाएंगे। अपने धन का संचय कैसे करना है यह हुनर आज आप सीख सकते हैं और इस हुनर को सीख कर आप अपना धन बचा सकते हैं। आपकी परेशानी आपके लिए ख़ासी बड़ी हो सकती है, लेकिन आस-पास के लोग आपके दर्द को नहीं समझेंगे। शायद उन्हें लगता हो कि इससे उन्हें कोई लेना-देना नहीं है। ज़िन्दगी की भाग-दौड़ में आप ख़ुद को ख़ुशनसीब पाएंगे, क्योंकि आपका साथी वाक़ई सबसे बेहतरीन है। यदि कोई समस्या है तो उसे टालें नहीं, बल्कि जल्दी-से-जल्दी उसका समाधान ढूंढने की कोशिश करें। पैसा, प्यार, परिवार से दूर होकर आज आप आनंद की तलाश में किसी आध्यात्मिक गुरु से मिलने जा सकते हैं। जीवनसाथी की मासूमियत आपके दिन को ख़ास बना सकती है। कर्क- (ही हू हे हो डा डी डू डे डो) आज के दिन आपके चेहरे पर मुस्कान बिखरी रहेगी और अजनबी भी जाने-पहचाने से महसूस होंगे। ख़र्चों पर क़ाबू रखने की कोशिश करें और सिर्फ़ ज़रूरी चीज़ें ही ख़रीदें। अपने स्वभाव को अस्थिर न होने दें- ख़ासतौर पर अपनी पत्नी/पति के साथ- नहीं तो यह घर की शांति पर असर डाल सकता है। आज आप अपने प्रिय से अपने जज़्बात का इज़हार करने में मुश्किल महसूस करेंगे। अन्य दिनों की अपेक्षा आज आपके सहकर्मी आपको अधिक समझने की कोशिश करेंगे। खाली समय का पूरा आनंद उठाने के लिए आपको लोगों से दूर होकर अपने पसंदीदा काम करने चाहिए। ऐसा करके आपमें सकारात्मक बदलाव भी आएंगे। आपके और आपके जीवनसाथी के दरमियान कोई अजनबी नोंकझोंक की वजह बन सकता है। सिंह- (मा मी मू मे मो टा टी टू टे) आज आप अपने विचार और ऊर्जा को उन कामों में लगाएँ, जिनसे आपके सपने हक़ीक़त का रूप ले सकते हैं। सिर्फ़ ख़याली पुलाव पकाने से कुछ नहीं होता है। अभी तक आपके साथ समस्या यह है कि आप कोशिश करने की बजाय केवल इच्छा करते हैं। आपके पास आज पैसा भी पर्याप्त मात्रा में होगा और इसके साथ ही मन में शांति भी होगी। ऐसा लगता है कि पारिवारिक-मोर्चे पर आप ज़्यादा ख़ुश नहीं हैं और कुछ अड़चनों का सामना कर रहे हैं। ज़िन्दगी की भाग-दौड़ में आप ख़ुद को ख़ुशनसीब पाएंगे, क्योंकि आपका जीवनसाथी वाक़ई सबसे बेहतरीन है। आज का दिन समझ-बूझ के क़दम उठाने का है, इसलिए तब तक अपने विचार व्यक्त न करें जब तक आप उनकी सफलता के लिए आश्वस्त न हों। एकांत में वक्त बिताना अच्छा है लेकिन आपके दिमाग में कुछ चल रहा है तो लोगों से दूर रहकर आप और ज्यादा परेशान हो सकते हैं। इसलिए आपको हमारी सलाह है कि लोगों से दूर रहने से बेहतर होगा किसी अनुभवी शख्स से अपनी परेशानी के बारे में बात करें। प्यार, नज़दीकी, जीवनसाथी के साथ यह एक अच्छा दिन रहेगा। कन्या- (टो प पी पू ष ण ठ पे पो) आज भले ही आप उत्साह से भरपूर हों, फिर भी आज आप किसी ऐसे की कमी महसूस करेंगे जो आज आपके साथ नहीं है। अगर आप यात्रा पर जाने वाले हैं तो अपने कीमती सामान का ध्यान रखें उसके चोरी होने की संभावना है। खासकर अपने पर्स को आज बहुत संभालकर रखें। आपके व्यक्तिगत जीवन में कुछ महत्वपूर्ण घटित होगा, जो आपके और आपके परिवार के लिए प्रसन्नता लेकर आएगा। प्यार के मामले में आज आप ग़लत समझे जा सकते हैं। भागीदार आपकी योजनाओं और व्यावसायिक ख़यालों के प्रति उत्साही होंगे। इस राशि के छात्र आज मोबाइल पर सारा दिन बर्बाद कर सकते हैं। आपको और आपके जीवनसाथी को वैवाहिक जीवन में कुछ निजता की ज़रूरत है। तुला- (रा री रू रे रो ता ती तू ते) आज आपके लिए ख़ुशी से भरा अच्छा दिन है। माता-पिता की मदद से आप आर्थिक तंगी से बाहर निकलने में क़ामयाब रहेंगे। जिन्हें आप चाहते हैं, उनके साथ उपहारों का लेन-देन करने के लिए अच्छा दिन है। अपने प्रिय की पुरानी बातों को माफ़ करके आप अपनी ज़िंदगी में सुधार ला सकते हैं। दफ़्तर में जिसके साथ आपकी सबसे कम बनती है, उससे अच्छी बातचीत हो सकती है। अपनी कमियों पर आपको काम करने की जरुरत है इसके लिए आपको अपने लिए समय निकालना चाहिए। यह शादीशुदा ज़िन्दगी के सबसे ख़ास दिनों में से एक है। आपको प्रेम की गहराई का अनुभव करेंगे। वृश्चिक- (तो ना नी नू ने नो या यी यू) आज आप अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें और सभी चीज़ों को व्यवस्थित करें। आज सिर्फ़ बैठने की बजाय कुछ ऐसा कीजिए जो आपकी कमाई में इज़ाफ़ा कर सके। अगर आप दफ़्तर में अतिरिक्त समय लगाएंगे, तो आपकी घरेलू ज़िंदगी पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। अपने प्रिय के बिना समय बिताने में दिक़्क़त महसूस करेंगे। सेमिनार और गोष्ठियों में हिस्सा लेकर आज आप कई नए विचार पा सकते हैं। परिवार की जरुरतों को पूरा करते-करते आप कई बार खुद को वक्त देना भूल जाते हैं। लेकिन आज आप सबसे दूर होकर अपने आप के लिए वक्त निकाल पाएंगे। आपका जीवनसाथी आपसे नाराज़ हो सकता है, क्योंकि आप उनसे कोई बात साझा करना भूल गए थे। धनु-ये यो भा भी भू धा फा ढ़ा भे) आज आप हर इंसान की बात को ग़ौर से सुनें, हो सकता है आपको अपनी समस्या का समाधान मिल जाए। भविष्य में अगर आपको आर्थिक रुप से मजबूत बनना है तो आज से ही धन की बचत करें। कुछ लोग जितना कर सकते हैं, उससे कई ज़्यादा करने का वादा कर देते हैं। ऐसे लोगों को भूल जाएँ जो सिर्फ़ गाल बजाना जानते हैं और कोई परिणाम नहीं देते। जो भी बोलें, सोच-समझकर बोलें। क्योंकि कड़वे शब्द शांति को नष्ट करके आपके और आपके प्रिय के बीच दरार पैदा कर सकते हैं। खुदरा और थोक व्यापारियों के लिए अच्छा दिन है। आज लोग आपकी वह प्रशंसा करेंगे, जिसे आप हमेशा से सुनना चाहते थे। जीवनसाथी की ओर से जानबूझ कर भावनात्मक चोट मिल सकती है, जिसके चलते आप उदास हो सकते हैं। मकर- (भो जा जी खी खू खे खो गा गी) आपके द्वारा माता-पिता को अनदेखा करना आपके भविष्य की संभावनाओं को ख़त्म कर सकता है। अच्छा समय बहुत ज़्यादा दिनों तक नहीं रहता है। इंसान के कर्म ध्वनि की तरंगों की तरह हैं। साथ मिलकर ये संगीत बनाते हैं और आपस में टकराकर खटपट का रूप । हम जो बोते हैं, वही पाते हैं। बोलते समय और वित्तीय लेन-देन करते समय सावधानी बरतने की ज़रूरत है। आपको परिवार के सदस्यों और दोस्तों के साथ बिताने के लिए पर्याप्त समय मिलेगा। कार्यक्षेत्र में किसी विशेष व्यक्ति से आपकी मिलाक़ात हो सकती है। घर से बाहर निकलकर आज आप खुली हवाओं में टहलना पसंद करेंगे। आज आपका मन शांत होगा जिसका फायदा आपको पूरे दिन मिलेगा। आपको अपने जीवनसाथी की ओर से ख़ास तोहफ़ा मिल सकता है। कुंभ- (गू गे गो सा सी सू से सो द) आप आज धार्मिक भावनाओं के चलते आप किसी तीर्थस्थल की यात्रा करेंगे और किसी संत से कुछ दैवीय ज्ञान प्राप्त करेंगे। संदिग्ध आर्थिक लेन-देन में फँसने से सावधान रहें। रिश्तेदारों और दोस्तों से अचानक उपहार मिलेगा। आपको पहली नज़र में किसी से प्यार हो सकता है। दफ़्तर में आपके दुश्मन भी आज आपके दोस्त बन जाएंगे - आपके सिर्फ़ एक छोटे-से अच्छे काम की बदौलत। आज के दिन में आप बहुत व्यस्त रहेंगे लेकिन शाम के वक्त अपने मनपसंद कामों को करने के लिए भी आपके पास पर्याप्त समय होगा। आज आप अपने जीवनसाथी के साथ कुछ बेहतरीन पल गुज़ार सकेंगे। मीन- (दी दू थ झ ञ दे दो च ची) आज का दिन आपके मौज-मस्ती और आनन्द से भरा रहेगा- क्योंकि आप ज़िन्दगी को पूरी तरह जिएंगे। आपका बचाया धन आज आपके काम आ सकता लेकिन इसके साथ ही इसके जाने का आपको दुख भी होगा। अपनी जीवन में एक संगीत पैदा करें, समर्पण का मूल्य समझें और हृदय में प्रेम व कृतज्ञता के फूल खिलने दें। आप अनुभव करेंगे कि आपका जीवन अधिक अर्थपूर्ण हो रहा है। आज अपने ख़ूबसूरत कामों को दिखाने के लिए आपका प्रेम पूरी तरह खिलेगा। नौकरों और सहकर्मियों से परेशानी होने की संभावना को ख़ारिज नहीं किया जा सकता है। इस राशि के उम्रदराज जातक आज के दिन अपने पूराने मित्रों से खाली समय में मिलने जा सकते हैं। ऐसा लगता है कि आपके जीवनसाथी आज आपके ऊपर ख़ास ध्यान देंगे। ___________________________________ ✴️🏵️🏵️🏵️🌞🏵️🏵️🏵️✴️ ✴️संकलनकर्त्ता✴️ ज्योतिर्विद् पं. रामपाल भट्ट श्री ज्योतिष सेवा संस्थान भीलवाड़ा (राज.) ✴️🏵️🏵️🏵️✴️🏵️🏵️🏵️✴️ ___________________________________

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 35 शेयर
Acharya Rajesh Jan 25, 2022

☀️ *धारावाहिक लेख:-विभिन्न "युग" मे जन्म लेने का फल* भारतीय ज्योतिष के अनुसार प्रत्येक हिन्दु वर्ष का एक नाम होता है, और इन हिन्दु वर्षों को "संवत्सर" कहा जाता है। कुल मिलाकर साठ संवत्सर का वर्णन किया गया हैं। इसी क्रम में आगे "युग" बतलाये गये है, पाँच वर्ष का एक "युग" होता है इस क्रम से साठ वर्ष मे कुल बारह "युग" होते हैं। अतः प्रत्येक मनुष्य का जन्म किसी न किसी युग में होता है। नीचे क्रमानुसार प्रत्येक युग में जन्म लेने के फल बतलायें गए हैं। *पहले युग मे जन्म* पहले युग में पैदा हुआ पुरुष मद्य पीने तथा मांस खाने वाला, नित्य परस्त्रियों के साथ गमन करने वाला, बडा कवि और अत्यन्त कारीगर तथा बडा बुद्धिमान होता है ॥ १ ॥ *दूसरे युग मे जन्म* दूसरे युग में पैदा हुआ मनुष्य वणिज व्यवहार करने वाला, बडा धर्मात्मा, सत्यवादी, द्रव्य (धन) के लिये अत्यन्त लोभ करने वाला, और अत्यन्त पापी होता है *तीसरे युग मे जन्म* तीसरे युग में जन्म लेने वाला मनुष्य भोक्ता, दानी, ब्राह्मण और देवताओं की पूजा करने वाला बडा तेजस्वी और धन से युक्त होता है॥ ३ ॥ *चौथे युग मे जन्म* चौथे युग में जन्म लेने वाले मनुष्य को बगीचा या खेत की अवश्य प्राप्ति होती है, और दवाई सेवन करने का प्रेमी, मनुष्यों को प्रिय होता है, और धातु विषयक कामों में धन का नाश करने वाला होता है ॥ *पांचवें युग मे जन्म* पांचवें युग में जन्म लेने वाला मनुष्य सदा पुत्र संतति उत्पन्न करने वाला, धनवान, इन्द्रियों को जीतने वाला और माता पिता का प्रिय होता है ॥ ५ ॥ *छठे युग मे जन्म* छटठे युग में जन्म लेने वाला मनुष्य हमेशा अनेक शत्रु वाला, बडा नीच, सदा भैंस की सेवा करने से अपने को प्रसन्न करने वाला, पत्थर द्वारा आघात पाने वाला और बडा भयभीत होता है ॥ ६ ॥ *सातवे युग मे जन्म* सप्तम युग का जन्म लेने वाला पुरुष अनेक मनुष्यों से मित्रता करने वाला, अनेक मनुष्यों को प्यारा, व्यापार में कुटिल बुद्धि रखने वाला, शीघ्रता से चलने वाला और अत्यन्त कामी होता है ॥ ७ ॥ *आठवे युग मे जन्म* आठवें युग में जन्म लेने वाला मनुष्य पाप करने वाला, संतोप से युक्त, व्याधि और दुःख से युक्त अनेक जीवों की हिंसा करने वाला होता है ॥ ८ ॥ *नवें  युग मे जन्म* जो पुरुष नवम युग में जन्म लेता हैं वह मनुष्य बावडी, कुआं, तालाब बनाने वाला, देव और अतिथि इनसे प्रेम करने वाला, इन्द्र के समान प्रतापी राजा होता है ।।६।। *दसवें युग मे जन्म* दशम युग में जन्म लेने वाला राजाधिराज का मन्त्री, स्थान प्राप्ति के महा सुख से संपन्न, सुन्दर रूप वोला, तथा सुन्दर वेश को धारण करने वाला, एवं दानी मनुष्य होता है। *ग्यारहवें युग मे जन्म* ग्यारहवें युग में जन्म लेने वाला मनुष्य बडा बुद्धिमान और बडा सुशील, देवताओं में भक्ति करने वाला और युद्ध में वडा शूरवीर होता है ॥ ११ ॥ *बारहवें युग मे जन्म* जो मनुष्य बारहवें युग में जन्म लेता है वह मनुष्य बडा प्रतापी, सदा प्रसन्न रहने वाला, मनुष्यों में श्रेष्ठ, खेती और व्यापार का करने वाला होता है ।।१२।। *(समाप्त)* _________________________ *आगामी लेख* *1. 27  जन० को "षटतिला एकादशी" पर लेख* *2. 28  जन० को ज्योतिषीय विषय "विभिन्न 'अयन' तथा 'गोल' मे जन्म लेने का फल" पर लेख* *3. 29  जन० को ज्योतिषीय विषय "विभिन्न 'ऋतुओ' तथा 'मासो' मे जन्म लेने का फल"पर लेख* _________________________ ☀️ *जय श्री राम* *आज का पंचांग,दिल्ली 🌹🌹🌹* *बुधवार,26.1.2022* *श्री संवत 2078* *शक संवत् 1943* *सूर्य अयन- उतरायण, गोल-दक्षिण गोल* *ऋतुः- शिशिर ऋतुः ।* *मास- माघ मास।* *पक्ष- कृष्ण पक्ष ।* *तिथि- नवमी तिथि अगले दिन 4:36 am,(अष्टमी तिथि का क्षय)* *चंद्रराशि- चंद्र तुला राशि मे अगले दिन 3:14 am तक तदोपरान्त वृश्चिक राशि।* *नक्षत्र- स्वाति नक्षत्र 10:07 am तक* *योग- गंड योग अगले दिन 4:07 am तक (अशुभ है)* *करण- तैतिल करण 5:36 pm तक* *सूर्योदय 7:12 am, सूर्यास्त 5:55 pm* *अभिजित् नक्षत्र- कोई नहीं* *राहुकाल - 12:33 pm से 1:54 pm* (शुभ कार्य वर्जित,दिल्ली )* *दिशाशूल- उत्तर दिशा । *जनवरी 2022-शुभ दिन:-*  26, 29 *जनवरी 2022-अशुभ दिन:-* 27, 28, 30, 31 _________________________ *आगामी व्रत तथा त्यौहार:-* 28 जन०-षटतिला एकादशी। 30 जन०- प्रदोष व्रत/मासिक शिवरात्रि। ______________________ *विशेष:- जो व्यक्ति दिल्ली से बाहर अथवा देश से बाहर रहते हो, वह ज्योतिषीय परामर्श हेतु paytm या Bank transfer द्वारा परामर्श फीस अदा करके, फोन द्वारा ज्योतिषीय परामर्श प्राप्त कर सकतें है* ________________________ आपका दिन मंगलमय हो . 💐💐💐 *आचार्य राजेश (रोहिणी, दिल्ली)* *9810449333, 7982803848*

+18 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 49 शेयर

🌹🌹जय सियाराम🌹🌹 27 जनवरी 2022 का राशिफल सम्वत :- 2078 मास :- माघ तिथि :- दशमी पक्ष :- कृष्ण पक्ष नक्षत्र :- विशाखा 08:51 ए एम नक्षत्र स्वामी गुरु वार :- गुरुवार पंचक :- नही चन्द्र :- वृश्चिक अभिजीत मुहर्त :- 12:26 पी एम से 01:09 पी एम राहुकाल :- 02:09 पी एम से 03:30 पी एम दिशाशूल। :- दक्षिण मेष राशि :- आज का दिन अच्छा रहेगा।कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी और भाग्यवृद्धि के योग रहेंगे।कारोबार में आर्थिक लाभ रहेगा और सभी कार्य सफल होगे।कार्य विस्तार की योजनाएं शुरू कर सकते हैं।परिवार का माहौल भी अच्छा रहेगा।पुराने मित्रों से मुकालात होने की संभावना है।भाई-बहनों के साथ अच्छी तरह समय व्यतीत होगा। वृषभ राशि :- आज का दिन सामान्य रहेगा।कारोबार में आर्थिक लाभ की स्थिति रहेगी,लेकिन परिश्रम अधिक करना पड़ेगा।कार्यों में आशानुरूप सफलता नहीं मिलने से मन उदास हो सकता है और मानसिक स्थिति दुविधापूर्ण रहेगी।महत्वपूर्ण निर्णय लेते समय बुजुर्गों की सलाह लेना न भूलें और नए कार्य की शुरुआत करने से बचें।वाणी पर संयम रखें।स्वास्थ्य का ध्यान रखें। मिथुन राशि :- आज का दिन शुभ फलदायी रहेगा।कार्यक्षेत्र में परिश्रम की अधिकता रहेगी,लेकिन सभी कार्य सफल होंगे।आकस्मिक धनलाभ के योग बन रहे हैं।बेरोजगारों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।परिवारजनों के साथ दिन आमोद-प्रमोद में व्यतीत होगा।शारीरिक और मानसिक प्रसन्नता रहेगी।प्रिय व्यक्तियों के साथ मुलाकात सफल और आनंददायक रहेगी। कर्क राशि :- आज का दिन मिला-जुला रहेगा।कार्यक्षेत्र में परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।अनावश्यक धन खर्च होने से आर्थिक स्थिति कमजोर हो सकती है।क्रोध पर नियंत्रण एवं वाणी पर संयम रखें,अन्यथा विवाद होने की संभावना रहेगी।पारिवारिक सदस्यों के साथ भी मनमुटाव हो सकता है।स्वभाव में क्रोध और आवेश रहेगा।दाम्पत्य जीवन खुशहाल रहेगा। सिंह राशि :- आज का दिन शुभ फलदायक रहने के योग बन रहे हैं।नौकरी-व्यवसाय के लिए दिन अच्छा है।आकस्मिक धनलाभ प्राप्त हो सकता है,जिससे आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।शेयर बाजार और प्रॉपर्टी में निवेश से अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।परिवार का माहौल अच्छा रहेगा।सामाजिक कार्यों में हिस्सा लेंगे,जिससे समाज में प्रतिष्ठा बढ़ेगी। कन्या राशि :- आज का दिन सामान्य रहेगा।कार्यक्षेत्र में माहौल अच्छा रहेगा और सहकर्मियों के सहयोग से सभी कार्यों में सफलता प्राप्त होगी।हालांकि,परिश्रम की अधिकता रहेगी,जिससे शारीरिक-मानसिक थकान का अनुभव कर सकते हैं।नौकरीपेशा लोगों पर उच्च अधिकारी मेहरबान रहेंगे और अपनी कार्यशैली से उन्हें प्रभावित कर सकेंगे।बिना कारण किसी से विवाद में न पड़ें। तुला राशि :- आज का दिन मिला-जुला रहेगा।कार्यक्षेत्र में आशा के अनुरूप सफलता मिलेगी,लेकिन कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी।कामकाज की भी अधिकता रहेगी,जिससे तन-मन से थकान तथा बेचैनी का अनुभव करेंगे।संतान की समस्या आपको चिंतित करेगी।नौकरी में उच्च पदाधिकारियों के साथ वाद-विवाद होने से उनकी नाराजगी झेलनी पड़ेगी।परिवार का माहौल अच्छा रहेगा। वृश्चिक राशि :- आज का दिन मिला-जुला रहेगा।कारोबार में कुछ अड़चनें आ सकती हैं।कार्यक्षेत्र में कामकाज की अधिकता रहेगी और कठिन परिश्रम से सफलता मिलेगी,जिससे मानसिक और शारीरिक रूप से थकान का अनुभव करेंगे।धार्मिक और सामाजिक कार्यों में अधिक रूचि लेंगे,जिससे समाज में प्रतिष्ठा बढ़ेगी।अनावश्यक धन खर्च रहेगा क्रोध और वाणी पर संयम रखें। धनु राशि :- आज का दिन अच्छा रहेगा।कारोबार में आर्थिक लाभ और नौकरी में तरक्की के योग रहेंगे।परिवार का माहौल अच्छा रहेगा और दांपत्य जीवन का विशेष आनंद मिलेगा।आप सहकुटुंब किसी सामाजिक स्थान पर घूमने अथवा लघु प्रवास पर जाकर आनंद में दिन व्यतीत करेंगे।पुराने मित्रों से मुकालात हो सकती है,जो लाभदायक रहेगी।सेहत भी अच्छी रहेगी। मकर राशि :- आज का दिन शुभ फलदायी रहेगी।कार्यक्षेत्र में आकस्मिक धनलाभ के योग रहेंगे और सभी कार्य आसानी से सफल होंगे।सामाजिक कार्यों में बढ़-चढक़र हिस्सा लेंगे,जिससे सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।घर में सुख-शांति का वातावरण बना रहेगा।शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ्य रहेंगे।प्रॉपर्टी और शेयर बाजार में निवेश लाभदायक रहेगा। कुम्भ राशि :- आज का दिन सामान्य रहेगा।कारोबार में लाभ की स्थिति रहेगी,लेकिन अनावश्यक खर्च की भी अधिकता रहेगी।क्रोध पर नियंत्रण एवं वाणी पर संयम रखें,अन्यथा बेवजह विवाद में फंस सकते हैं।शारीरिक और मानसिक अस्वस्थता आपको बेचैन बनाएंगे।पुराने मित्रों से मुकालात हो सकती है।प्रेमीजनों के बीच वाद-विवाद के कारण मनमुटाव होने की संभावना रहेगी। मीन राशि :- आज का दिन मिला-जुला रहेगा।कारोबार में छोटी-छोटी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।कार्यक्षेत्र में आशानुरूप सफलता नहीं मिलने से मन में नकारात्मक विचार आ सकते हैं और क्रोध की अधिकता से नौकरी खतरे में पड़ सकती है।हालांकि,परिजनों का पूरा सहयोग मिलेगा,लेकिन कटु वचन से परिवार में कलह होने की संभावना रहेगी। 🌹🌹जय सियाराम🌹🌹 🌹जय श्री गुरुदेव🌹

+4 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 11 शेयर
Madan Kaushik Jan 27, 2022

***अपना पोस्ट*** **नक्षत्रवाणी** *༺⊰०║|। ॐ ।|║०⊱༻*  गजाननं भूतगनादि सेवितम, कपित्थजम्बू फलचारु भक्षणम। उमासुतं शोकविनाशकारकम, नमामि विघ्नेश्वर पादपंकजम।। श्रीमते रघुवीराय सेतूल्लङ्घितसिन्धवे। जितराक्षसराजाय रणधीराय मङ्गलम्।। भुजगतल्पगतं घनसुन्दरं गरुडवाहनमम्बुजलोचनम् । नलिनचक्रगदाकरमव्ययं भजत रे मनुजाः कमलापतिम् ।। 🌤 **सुप्रभात** न चोरहार्य न राजहार्य भ्रतृभाज्यं न च भारकारि। व्यये कृते वर्धति एव नित्यं विद्याधनं सर्वधनप्रधानम्।। क्यों भटके मन बावरा, दर-दर ठोकर खाये...! शरण श्याम की ले ले प्यारे, जनम सफल हो जाये...!! 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~ मित्रों...! सबसे पहले तो नित्यप्रति आपकी प्रिय पोस्ट "नक्षत्रवाणी" की पोस्टिंग में होने वाले विलंब के लिए आप सभी से हृदयपूर्वक क्षमा प्रार्थना सहित...🙏🙏 आप सभी परम प्रिय धर्मपारायण, ज्योतिषविद्या प्रेमी विद्वतजनों को आचार्य/पं.मदन तुलसीराम जी कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले) की ओर से सादर-सप्रेम 🌸 जय गणेश 🌸 जय अंबे 🌸 *जय श्री कृष्ण🌷मंगल प्रभात🌷इसी के साथ आप सभी सनातनी, धर्म-उत्सवप्रेमी, राम-कृष्ण-हरि-शिवभक्त, शक्ति उपासक, मातृपितृभक्त व राष्ट्रप्रेमियों को आज **माघ कृष्ण/बदी दशमी/दसमी की एवं पुनः एकबार भारतीय गणतंत्र दिवस महोत्सव/महापर्व** की भी बहुत-२ हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं...!!!** ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ आइये...! अब चलें आपके प्रिय पोस्ट 'नक्षत्रवाणी' अंतर्गत आज कुछ विशेष महत्वपूर्ण जानकारी, दृकपंचांग, चन्द्र राशिफल' एवं 'आरोग्य मंत्र' की ज्ञानयात्रा पर...🙏 ```༺⊰🕉⊱༻ ``` *༺⊰०║|। ॐ ।|║०⊱༻* ☘️🌸!! ॐ श्री गणेशाय नमः!! 🌸☘️ ****************************** 𴀽𴀊🕉श्री हरिहरौविजयतेतराम्🕉 🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :- आज दिनांक *२७ जनवरी ई. सन-२०२२* *27.01.2022 - गुरुवार/थर्सडे** **🇮🇳 *राष्ट्रीय सौर पौष, दिनांक ०७* *युगाब्द (तपमास)* !** प्रस्तुत है ««« *आज का दृकपंचांग* 👉 ध्यान दें **यहाँ दिये गए तिथि, नक्षत्र, योग व करण आदि के समय इनके समाप्ति काल हैं और सूर्योदयास्त व चंद्रोदय का गणना स्थल मुंबई हैं।** कलियुगाब्द......५१२३/5123 विक्रम संवत्.....२०७८/2078 (आंनद नाम) शक संवत्........१९४३/1943 मास...माघ (सं./हिंदी), मा/मग्गर (मारवाड़ी/पं.) पक्ष....कृष्ण/बदी/लागतो माघ/अंधेरपछ **तिथि....(१०/10) दशमी/दसमी** *26.16 यानि रात्रि 02.16 पर्यंत/एकादशी* वार/दिन...गुरुवासर/गुरुवार/थर्सडे* **नक्षत्र......विशाखा/गुरु🌠** *प्रातः...08.51 पर्यंत/ज्येष्ठा 31.10/अनुराधा **योग...........वृद्धि** रात्रि 25.05 पर्यंत पश्चात ध्रुव **करण........वणिज** 15.28 यानि दिन 03.28/विष्टि (भद्रा) 26.16 सूर्योदय.......प्रातः 07.14.00 पर सूर्यास्त........सांय 18.29.00 पर चंद्रोदय........रात्रि 27.09.00 पर रवि(अयन-दृक)...उत्तरायण रवि(अयन-वै.).....उत्तरायण **ऋतु (दृक).......शिशिर** **ऋतु (वैदिक)....शिशिर** **सूर्य राशि.........मकर** **चन्द्र राशि........वृश्चिक** **गुरु राशि........कुम्भ** ☸ शुभ अंक......9 🔯 शुभ रंग..... पीत/पीला/केसरिया/सुनहरा ⚜️ *अभिजीत मुहूर्त :-* **मध्याह्न: 12.29 से 13.14 तक।** 🌚👁‍🗨*राहुकाल (😢सावधान/अशुभ):-* **अपराह्न: 14.16 से 15.40 तक । ।** 🌚👁‍🗨*गुलिक काल :-* **पूर्वाह्न: 10.03 से 11.27 तक** **🚦🚗🚊दिशाशूल :-** **दक्षिण दिशा - यदि अति आवश्यक हो तो बेसन के लड्डू/दही/केसर या जीरा का सेवनकर निम्नमंत्र का उच्चारण करते हुए अपनी यात्रा प्रारंभ करें।**👇 *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* ******************************* 🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-* *मकर* 06:22:22 08:09:38 *कुम्भ* 08:09:38 09:43:00 *मीन* 09:43:00 11:14:14 *मेष* 11:14:14 12:54:58 *वृषभ* 12:54:58 14:53:36 *मिथुन* 14:53:36 17:07:18 *कर्क* 17:07:18 19:23:28 *सिंह* 19:23:28 21:35:17 *कन्या* 21:35:17 23:45:56 *तुला* 23:45:56 26:00:34 *वृश्चिक* 26:00:34 28:16:44 *धनु* 28:16:44 30:22:22. ✡ *चौघडिया :-* प्रात: 11.16 से 12.38 तक चंचल दोप. 12.38 से 02.00 तक लाभ दोप. 02.00 से 03.22 तक अमृत सायं 04.44 से 06.06 तक शुभ सायं 06.06 से 07.44 तक अमृत रात्रि 07.44 से 09.22 तक चंचल अमृत में काम सभी करो, सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन, मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार, सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें। लाभ में व्यापार करें। रोग में जब रोगी रोगमुक्त हो जय तो स्नान करें। काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है। अमृत में सभी शुभ कार्य करें। *************************** आज के विशेष योगायोग/युति संयोग, वेध, ग्रहचार (ग्रहचाल), व्रत/पर्व/प्रकटोत्सव, जयंती/जन्मोत्सव व मोक्षदिवस/स्मृतिदिवस/पुण्यतिथि आदि 🙏👇:- 👉 **आज माघ/बदी गुरुवार/थर्सडे को विक्रमी संवत्/हिंदुवर्ष का 290 वाँ दिन/दो सौ नब्बेवां दिन, माघ कृष्ण/बदी दशमी/दसमी 26.16 तक पश्चात् एकादशी शुरु, भद्रा प्रारंभ 15:29 से 26:16 तक (स्वर्गलोक-शुभ वायव्य), बिछुड़ो, बुधोदय 26:00 पर।** *****†*****†*****†*****†*****†*****† **📿 आज का आराधना मंत्र 🎪🚩** **🕉️ ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरुवे नमः।।🚩* **🕉️ ॐ गरुड़वाहनाय नमः।। 🎪🚩* 📿 *आज का उपासना मंत्र :- **🕉️ ॐ पुंडरीकाक्षाय नम: ।। आज का विशेष उपासना मंत्र**🎪🚩* **🕉 ॐ श्रीवत्साय नमः ॥** ⚜ 👉🙏☸*आज की तिथि विशेष :*🚩 **माघ कृष्ण/बदी दशमी/दसमी।** 🙏👉💥 **विशेष ध्यातव्य 👉 दशमी/दसमी को परवल/कलम्बी का सेवन करना धन व बुद्धिनाशक होने से पूर्णतः वर्जित है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)**। 🙏🌷👉 **ध्यान दें मित्रों....!!! कल एकादशी (ग्यारस) है। ➡ *28 जनवरी 2021 रात्रि 02:17 AM से 28 जनवरी रात्रि 11:35 PM तक (यानी 28 जनवरी, शुक्रवार को पूरा दिन) एकादशी है।** 💥 *विशेष - 28 जनवरी, शुक्रवार को एकादशी का व्रत (उपवास/व्रत) रखें।* 🙏🏻 *एकादशी व्रत के पुण्य के समान और कोई पुण्य नहीं है ।* 🙏🏻 *जो पुण्य सूर्यग्रहण में दान से होता है, उससे कई गुना अधिक पुण्य एकादशी के उपवास/व्रत से होता है ।* 🙏🏻 *जो पुण्य गौ-दान सुवर्ण-दान, अश्वमेघ यज्ञ से होता है, उससे अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है।* 🙏🏻 *एकादशी करनेवालों के पितर नीच योनि से मुक्त होते हैं और अपने परिवारवालों पर प्रसन्नता बरसाते हैं।इसलिए यह व्रत करने वालों के घर में सुख-शांति बनी रहती है ।* 🙏🏻 *धन-धान्य, पुत्रादि की वृद्धि होती है ।* 🙏🏻 *कीर्ति बढ़ती है, श्रद्धा-भक्ति बढ़ती है, जिससे जीवन रसमय बनता है ।* 🙏🏻 *परमात्मा की प्रसन्नता प्राप्त होती है। पूर्वकाल में राजा नहुष, अंबरीष, राजा गाधी आदि जिन्होंने भी एकादशी का व्रत किया, उन्हें इस पृथ्वी का समस्त ऐश्वर्य प्राप्त हुआ। भगवान शिव ने नारद से कहा है : एकादशी का व्रत करने से मनुष्य के सात जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं, इसमे कोई संदेह नहीं है। एकादशी के दिन किये हुए व्रत, गौ-दान आदि का अनंत गुना पुण्य होता है ।* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *एकादशी के दिन करने योग्य* 🌷👇 🙏🏻 *एकादशी को दिया जलाकर विष्णु सहस्त्रनाम पढ सकें तो उत्तम रहेगा। विष्णु सहस्त्रनाम नहीं हो तो १० माला गुरुमंत्र का जप कर लें l अगर घर में झगडे होते हों, तो झगड़े शांत हों जायें ऐसा संकल्प करके विष्णु सहस्त्रनाम पढ़ें तो घर के झगड़े भी शांत होंगे।* 🙏🏻 *Sureshanandji Haridwar 11.02.2010* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *एकादशी के दिन ये सावधानी रहे* 🌷 🙏🏻 *महीने में १५-१५ दिन में एकादशी आती है एकादशी का व्रत पाप और रोगों को स्वाहा कर देता है लेकिन वृद्ध, बालक और बीमार व्यक्ति एकादशी न रख सकें, तो भी उनको चावल का तो त्याग तो करना ही चाहिए। एकादशी के दिन जो चावल खाता है... तो शास्त्रों के अनुसार एक- एक चावल के सेवन से एक- एक कीड़ा खाने का पाप लगता है...! ऐसा डोंगरे जी महाराज के भागवत में डोंगरे जी महाराज ने कहा है।* साभार: 🙏🏻 *- पूज्य बापूजी मुंबई 1/1/2012* 🏡 *वास्तु टिप्स*🏡 1) **घर में यथासंभव गोल किनारे वाले फर्नीचर ही लगाएं।** 2) गृहवास्तु के अनुसार यथासंभव शयनकक्ष में दर्पण न लगाएँ। इससे घर के सदस्यों के विचारों में मतभेद और कलह की स्थिति उत्पन्न होती रहती है।** 3) यदि आपके घर से अगर अकारण ही बरकत जा रही है या आपको नेगेटिव एनर्जी दिख रही है या परिवार में निरंतर कलह रहता है, तो कपूर और फिटकरी को पीस के गौझारण (गौमूत्र) जो बहुत ही आसानी से मिल जाता है (अन्यथा पतंजलि आदि का ले लें), इससे घर मे पोछा लगाने वाले क्लीनर या पानी मे मिला लें और रोज़ सुबह-शाम घर मे पोछा लगाये और गंगाजल का पूजा-आरती के बाद छिड़काव भी करें फिर चमत्कारिक परिवर्तन देखें। 4) **घर की मुख्य सीढ़ियाँ सदैव दक्षिण या पश्चिम की ओर होनी चाहिए। ईशान में कभी भी होनी चाहिए। विशेष परस्थिति में वायव्य तथा आग्नेय कोण में बना सकते हैं। *****""""""******"""*******"""******** *सुविचार👏* **अगर आप भी सफलता का आनंद लेना चाहते हैं, तो अपने जीवन में कठिनाइयों का भी आगमन करवाइए।**👍🏻 📢 *सुभाषितानि :-* बोधयन्ति न याचन्ते भिक्षाद्वारा गृहे गृहे । दीयतां दीयतां नित्यमदातुः फलमीदृशम् ॥ अर्थात :- **घर घर जानेवाले याचक, भिक्षा नहीं मांग रहे बल्कि यह उपदेश दे रहे हैं कि नित्य दान देते रहो, (अन्यथा) अदातृत्व का परिणाम हम को देख लो !** 🍃*💊💉 **आज का आरोग्यमंत्र** 🌿* *पीपल के पेड़ और पत्तों के आयुर्वेदिक फायदे :-* *2. पीलिया रोग में :-* **पीलिया रोग से छुटकारा पाना चाहते हैं तो नियमित रूप से पीपल के पत्तों का शरबत बनाकर और मिश्री मिलाकर पीने से अति शीघ्र लाभ होता है।** ⚜🐑🐂🦔 **आज का संभावित चन्द्र राशिफल**🦂🐊🐟 👉 किंतु पहले सबसे एक करबद्ध निवेदन🙏 मित्रों सर्वप्रथम तो कुछ तकनीकी कारणों से आपको आपकी प्रिय पोस्ट नक्षत्रवानी विलंब से मिल पाती है इसके लिए मैं आप सभी से क्षमाप्रार्थी हूँ। तत्पश्चात मैं निवेदन करना चाहता हूँ कि आपकी इस परमप्रिय ज्ञानवर्धक 'अपना पोस्ट' *नक्षत्रवाणी* को आप जितना हो सकता हो उतना लाइक-शेयर तथा फॉरवर्ड तो करें ही, आलस्य त्याग कर कृपया इसपर अपनी बुद्धि व विवेक के अनुसार अपने सही-सही कमैंट्स भी अवश्य करें। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप मुझे निराश नहीं करेंगे और अपने फीडबैक से व लाइक/सराहना करके भी अवश्य ही मेरा उत्साहवर्धन करेंगे। नक्षत्रवाणी के संदर्भ में आप सभी के बहुमूल्य सुझाव भी सदैव सादर आमंत्रित हैं। जिनका नक्षत्र वाणी का यह 'फेसबुक लिंक' नहीं ओपन हो रहा हो वे इसके लिए मेरा यह व्हाट्सएप नंबर 9987815015 अपने मोबाईल में save/सेव करें और फिर इस FB लिंक को ओपन करें। मेरा यह नंबर (9987815015 आचार्य मदन तुलसीराम जी कौशिक मुंबई या 'कौशिक गुरूजी मुंबई' के नाम से सेव/सेव) करने के बाद नक्षत्रवाणी का यह 'FB लिंक' निश्चित रूप से ओपन हो जाएगा किंतु आपको इस संदर्भ में फिर भी कोई दिक्कत आ रही हो तो हमें सूचित करें...!!! धन्यवाद...!!! **ख़ुशख़बर।। सबसे बड़ी ख़ुशख़बर।।**👇 Free। फ्री।। निःशुल्क।।। बिना मूल्य।।। फ्री।।। 🙏👉 किसी भी जन्मलग्न या जन्मराशि या अपनी प्रसिद्ध राशि के लिए भाग्यशाली रत्न-रुद्राक्ष हमसे जानें फ्री ऑफ Charge यानि पूर्णतः निःशुल्क व निःसंकोच। इसके अलावा लैब टेस्टेड उच्चतम क्वालिटी के रत्न-रुद्राक्ष प्राप्त करने के लिए भी हमसे संपर्क करें :👇 9987815015 या 9991610514 पर। 🙏👉 प्रियवरों शिवकृपा प्राप्ति के सबसे बड़े शुभावसर 'महाशिरात्रि' के पावन पर्व पर (यानि कि 11 मार्च को) भगवान महाकालेश्वर शिव जो कि एकादश रुद्र रूपों में भी तीनों लोकों में प्रस्फुटित होते हैं, उनके साक्षात स्वरूप व कृपाप्रसाद *पंचमुखी 'रुद्राक्ष रत्न*" जिसे रुद्र के अक्ष या भगवान शिव के अक्ष के रूप में भी जाना जाता है, को इसबार फिर से इस परम शुभ अवसर पर विधिवत् *अभिमंत्रित* करके आपको आपके सभी दैहिक-दैविक-भौतिक कष्टों से मुक्ति दिलाने हेतु, विशेषतः इस **कोरोना काल** में बहुत अधिक बढ़ चुके मानसिक संताप (Mental stress/depression) तथा आर्थिक संताप को पूर्ण रूप से दूर करने के लिए, इस समय आपकी आर्थिक तँगीं की स्थिति को समझते हुए **केवल मात्र 111₹** में आप शिवभक्त सुधि पाठकों के लिए उपलब्ध करवाना प्रारंभ किया हैं। जिसे भी यह दिव्य सर्वसिद्ध **रुद्राक्ष रत्न** चाहिए, वे कृपया हमें इसी नम्बर पर व्हाट्सएप्प करें। ध्यान रखें यह योजना सीमित समय के लिए ही है, इसलिए इस सुनहरे अवसर को आप चूकें नहीं। 🙏 👉 **एक विशेष व अति शुभ सूचना:** **मित्रों हमारे 'ऐस्ट्रो वर्ल्ड' के दिव्य कोष में शुद्ध केसर (काश्मीरी व ईरानी A तथा B दोनों ग्रेड की), पारिजात, चम्पा, अनन्त, पुन्नाग, श्वेत/सफ़ेद ऊद, केसर, खस, भीना गुलाब व असली चंदन जैसे दिव्य इत्रों की पूरी रेंज, भीमसेनी कर्पूर, उत्तम क्वालिटी की शुद्ध गुग्गल व शुद्ध लोबान, शुद्ध राशि रत्न-उपरत्न, असली नेपाली रुद्राक्ष रत्न व गण्डकी नदी से प्राप्त असली शालिग्राम जी भी उपलब्ध हैं। इसके अलावा हमारे इस संग्रहालय में और भी कई दिव्य व चमत्कारिक वस्तुएं उपलब्ध हैं। ये सभी दिव्य वस्तुएं हम अपने ज्योतिष-वास्तु एवं वैदिक पूजा-अनुष्ठानों के नियमित यजमानों के लिए बहुत ही सही कीमत/रेट पर और बहुत ही कम मार्जिन पर आपको देते हैं तथा इनके असली होने की मनीबैक गारंटी भी। तो आप 'नक्षत्रवाणी' के सभी पाठक भी हमारे परमप्रिय होने से इसका लाभ निःसन्देह ले सकते हैं। इसके लिए आप हमें इसी नम्बर पर व्हाट्सएप्प करें। जल्दी रिप्लाई ना मिलने पर आप कॉल भी कर सकते हैं। धन्यवाद...!!!** 🙏ध्यान दें मित्रों 👉 **जिनका भी 'FB यानि फ़ेसबुक' अकाउंट नहीं है और जो पाठकगण हमारे द्वारा भेजे जा रहे 'FB लिंक' के माध्यम से 'नक्षत्रवाणी पोस्ट' नहीं देख या पढ़ पा रहे हों वे इसके बारे में हमें अविलंब बताएं ताकि उन्हें बिना FB लिंक वाली 'पूरी पोस्ट' भेजी जा सके। इसके अलावा जिन पाठक गणों को नक्षत्रवाणी पोस्ट एक से अधिक बार प्राप्त हो रही हो, वे भी हमें तुरंत सूचित करने की कृपा करें ताकि उन्हें हमारी एक से अधिक ब्रॉडकास्ट लिस्ट्स/BCLs से उन्हें रिमूव किया जा सके। आप हमें प्रतिक्रिया नहीं देते हैं तो हमें तो यही लगेगा कि आप को नक्षत्रवाणी केवल एक ही बार प्राप्त हो रही है। इसलिए हमें सूचित अवश्य करें। धन्यवाद...!!! *****""""""******"""*******"""******** ⚜ **अब आपका चंद्र राशिफल** ⚜ देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐐 *राशि फलादेश मेष :-* *(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)* वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। व्यापार में वृद्धि होगी। स्त्री वर्ग से समयानुकूल सहायता प्राप्त होगी। नौकरी में उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। निवेश शुभ रहेगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। वाणी में शब्दों का प्रयोग सोच-समझकर करें। प्रतिद्वंद्विता में कमी होगी। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। 🐂 *राशि फलादेश वृष :-* *(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)* आवश्यक वस्तुएं गुम हो सकती हैं। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। किसी व्यक्ति की बातों में न आएं। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। चिंता तथा तनाव बने रहेंगे। वाहन, मशीनरी व अग्नि के प्रयोग में सावधानी रखें। विशेषकर गृहिणियां लापरवाही न करें। 👫🏻 *राशि फलादेश मिथुन :-* *(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)* दूसरों के झगड़ों में न पड़ें। लेन-देन में सावधानी रखें। लाभ होगा। किसी मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। स्वादिष्ट व्यंजनों का लुत्फ उठा पाएंगे। यात्रा लाभदायक रहेगी। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। किसी प्रबुद्ध व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रह सकता है। 🦀 *राशि फलादेश कर्क :-* *(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)* कार्यप्रणाली में सुधार होगा। तत्काल लाभ नहीं होगा। बिगड़े काम बनेंगे। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। विरोध होगा। आर्थिक नीति में परिवर्तन होगा। निवेश मनोनुकूल लाभ देगा। नौकरी में प्रभाव वृद्धि होगी। कोई पुराना रोग बाधा का कारण हो सकता है। सामाजिक कार्य करने का अवसर प्राप्त होगा। 🦁 *राशि फलादेश सिंह :-* *(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)* स्थायी संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। मनपसंद रोजगार मिलेगा। बैंक-बैलेंस बढ़ेगा। आर्थिक उन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। कर्ज समय पर चुका पाएंगे। नौकरी में चैन रहेगा। व्यापार में वृद्धि के योग हैं। शेयर मार्केट से लाभ होगा। घर-परिवार की चिंता बनी रहेगी। तनाव रहेगा। 🙎🏻‍♀️ *राशि फलादेश कन्या :-* *(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)* कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। वाणी पर नियंत्रण रखें। व्यवसाय की गति धीमी रहेगी। आय बनी रहेगी। नौकरी में कार्यभार रहेगा। थकान महसूस होगी। सहकर्मी सहयोग नहीं करेंगे। चिंता रहेगी। आंखों का विशेष ध्यान रखें। चोट व रोग से बचाएं। पुराना रोग उभर सकता है। ⚖ *राशि फलादेश तुला :-* *(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)* नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। कारोबार में वृद्धि होगी। निवेश लाभ देगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। जल्दबाजी से हानि संभव है। धार्मिक अनुष्ठान में भाग लेने का अवसर प्राप्त हो सकता है। सत्संग का लाभ मिलेगा। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। 🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-* *(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)* बुरी खबर मिल सकती है, धैर्य रखें। दौड़धूप की अधिकता का स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ेगा। थकान व कमजोरी रह सकती है। वाणी में कड़े शब्दों के इस्तेमाल से बचें। दूसरों की बातों में नहीं आएं। आय में निश्चितता रहेगी। शत्रु शांत रहेंगे। व्यापार-व्यवसाय से लाभ होगा। 🏹 *राशि फलादेश धनु :-* *(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)* वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। थोड़े प्रयास से ही कार्यसिद्धि होने से प्रसन्नता रहेगी। निवेश से लाभ होगा। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेंगे। आवश्यक वस्तु समय पर नहीं मिलने से खिन्नता रहेगी। बनते कामों में बाधा उत्पन्न होगी। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। काम में मन नहीं लगेगा। 🐊 *राशि फलादेश मकर :-* *(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)* रुका हुआ धन प्राप्त होगा। प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा मनोनुकूल रहेगी। कारोबार से संतुष्टि रहेगी। बुद्धि का प्रयोग करें। प्रमाद न करें। निवेश से लाभ होगा। नौकरी में प्रभाव क्षेत्र बढ़ेगा। व्यापार-व्यवसाय में उत्साह से काम कर पाएंगे। भाग्य अनुकूल है, जल्दबाजी न करें। प्रसन्नता रहेगी। 🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-* *(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)* शुभ समाचार प्राप्त होंगे। प्रसन्नता रहेगी। बिछड़े मित्र व संबंधी मिलेंगे। विरोधी सक्रिय रहेंगे। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। व्यापार मनोनुकूल चलेगा। नौकरी में सहकर्मी सहयोग करेंगे। लाभ होगा। जल्दबाजी व लापरवाही से हानि होगी। राजकीय कोप भुगतना पड़ सकता है। विवाद न करें। 🐋 *राशि फलादेश मीन :-* *(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)* व्यावसायिक यात्रा लाभदायक रहेगी। रोजगार मिलेगा। आय में वृद्धि होगी। कारोबार में वृद्धि होगी। शेयर मार्केट मनोनुकूल लाभ देगा। बुद्धि का प्रयोग करें। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण बनेगा। भाग्य का साथ मिलेगा। कोई अनहोनी होने की आशंका रहेगी। काम में मन नहीं लगेगा। ☯ध्यान दें...!!! 🙏👉 **आज मंगलवार है मित्रों। संभव हो तो कोरोना प्रोटकॉल का पालन करते हुए अपने नजदीक के मंदिर में संध्या ०७.०० बजे सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ में सपरिवार अवश्य सम्मिलित होवें !** *🎊🎉🎁 आज जिनका जन्मदिवस या जिनके विवाह की वर्षगांठ है, उन सभी मित्रो को कोटिशः शुभकामनाएं...!!! 🎁🎊🎉* ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ *😍आपका दिन शुभ हो😍* *🚩जयतु जयतु हिन्दुराष्ट्रम🚩* _*👧🏻बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ👸🏻*_ ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ और ज़रा इन बातों पर भी ज़रूर ध्यान दें मित्रों...! अगर...??? 1) खूब मेहनत के बाद भी या व्यापार-व्यवसाय में पर्याप्त इन्वेस्टमेंट करने के बाद भी आप अकारण आर्थिक दृष्टी से निरंतर पिछड़ते ही जा रहे हैं....? 2) एक ही नौकरी में लम्बे समय तक कार्य नहीं कर पाते हैं या वहां दिल से काम करते हुए भी आपको कोई पूछता ही नहीं है...? आपकी प्रमोशन ड्यू है कब से लेकिन आप बस दूसरों को आगे बढ़ते देख कर अपने नसीब को कोस रहे हैं...? आपके प्रतिद्वंदी अलग से परेशान करते रहते हैं...? 3) आपस में निरंतर अकारण क्लेश होता रहता है..? 4) शेयर मार्किट से कमाना चाहते हैं पर हर बार नुकसान उठा बैठते हैं...? 5) बीमारी आपको छोड़ ही नहीं रही है...? घर का हर एक व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से त्रस्त है...? आमदनी का एक बड़ा हिस्सा हमेशां इसी पर खर्च हो जाता है...? 6) अकारण ही विवाह योग्य बच्चों के विवाह में दिक्कतें आ रही हैं...? 7) शत्रुओं ने आपकी रात की नींद और दिन का चैन हराम किया हुआ है...? 8) पैतृक सम्पति विवाद सुलझ ही नहीं रहा है...? और संपति केवास्तविक हकदार आप हैं तथा आप इसे अपने हक में सुलझना चाहते हैं...? 9) विदेश यात्रा या विदेश में सेटलमेंट को लेकर बहुत समय से परेशान हैं...? 10) आपको डरावने सपने आते हैं..? सपने में सांप या भूत-प्रेत या ऐसे ही नींद उड़ाने वाले दृश्य दीखते हैं...? 11) फिल्म या मीडिया में बहुत समय से संघर्ष के बाद भी सफलता​ नहीं मिल रही...? 12) राजनीति को ही आप अपना कैरियर बनाना चाहते हैं पर आपको कुछ भी समझ नहीं आ रहा...? यदि हाँ...??? तो यह सब अकारण ही नहीं है...! इसके पीछे बहुत ठोस कारण हैं जो कि आपकी जन्म कुंडली या आपके घर-आफिस का वास्तु देखकर या आपकी जन्मकुंडली भी ना होने की स्थिति में हमारे दीर्घ अध्ययन और प्रैक्टिकल ज्योतिषीय अनुभव के आधार पर अन्य विधियों से जाने जा सकते हैं...? तो अब आप और देरी ना करें और तुरंत हमें फोन करें...! आपकी उन्नति निश्चित है और आपकी मंजिल अब दूर नहीं...! ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ प्रस्तुति: आचार्य मदन टी.कौशिक मुंबई "डबल गोल्ड मेडलिस्ट'' 'TV 9 एवं सहारा मुंबई चैनल्स फेम' (सिरसा-हरियाणा वाले, मूल निकास: गौड़ बंगाल/पश्चिमी बंगाल एवं तत्पश्चात ढाणी भालोट-झुंझनूँ-राज.)' (चयनित/Appointed/) ज्योतिष एवं वास्तु शोध वैज्ञानिक एवं पूर्व विभागाध्यक्ष: TARF, Dadar-Mumbai साभार: बाँके बिहारी/श्रीजी सेवा वॉट्सएप ग्रुप (धुरंधर वैदिक विद्वानों एवं वैष्णव गणों का अद्वितीय वैश्विकमंच) कार्यकारी अध्यक्ष: एस्ट्रो-वर्ल्ड मुंबई व सिरसा (सभी दैहिक दैविक भौतिक समस्याओं का एक ही जगह सटीक निदान व स्थायी समाधान) अध्यक्ष: सातफेरे डॉट कॉम मुंबई व सिरसा (आपके अपनों के दिव्य एवं सुसंस्कारी वैवाहिक जीवन की झटपट शुरूआत हेतु अनूठा संस्थान) नोट: हमारी या हमारे संस्थान 'एस्ट्रो-वर्ल्ड' तथा आपके अपनों के वैवाहिक जीवन सम्बन्धी सभी समस्याओं का एकमात्र हल एवं विश्व के इस सबसे अनूठे मंच 'सातफेरे can डॉट कॉम' मुंबई या सिरसा की किसी भी प्रकार की गरिमापूर्ण सेवा जैसे वैज्ञानिकतापूर्ण ज्योतिष-वास्तु मार्गदर्शन, सभी प्रकार के मुहूर्त शोधन, नामकरण संस्कार, विवाह संस्कार या अन्य कोई भी वैदिक पूजा-अनुष्ठान आयोजित करवाने, रत्न अभिमन्त्रण, सभी राशिरत्न-उपरत्न, मणि-माणिक्य, दक्षिणावर्ती शँख (जो कि घर में विधिवत रखने मात्र से ही बदल दे आपका भाग्य हमेशां-2 के लिए...!), सियारसिंगी, भुजयुग्म (हत्थाजोड़ी, जो तिज़ोरी आपकी कभी ख़ाली ना होने दे), नागकेसर, विविध प्रकार के वास्तु पिरामिडज एवं अन्य कई प्रकार की सौभाग्यवर्धक वस्तुओं की प्राप्ति हेतु हमारे सम्पर्क सूत्र: 9987815015 / 9991610514 ईमेल आई डी: [email protected] 🌺 **आपका दिन आदिवैद्य (प्रभु धन्वंतरि जी) की कृपा से परम मंगलमय हो मित्रो!** *🚩जयतु जयतु हिन्दुराष्ट्रम🚩* 🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩 ।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।। ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Anupam Mohanta Jan 26, 2022

लाल किताब लेख 10 मन्दिर किसे नहीं जाना चाहिए : अगर किसी को मन्दिर में कुछ वस्तु दान करने को कहा गया है और आसपास धर्म स्थान नहीं है तो किसी भी चौराहे पर रखनी चाहिए अगर चौराहा भी नहीं है तो उस स्तिथि में बहता हुआ पानी ही धर्म स्थान माना जायेगा क्योंकि लास्ट में हर चीज नदी या समुद्र में जाकर मिलती है जैसे मंदिर में चढ़े हुए फूल डस्टबिन तथा नाले से होते हुए समुद्र में जाकर मिलते हैं मृत्यु होने पर अस्थियां भी गंगा जी में जा मिलती हैं अगर खाना नंबर 8 में कोई मंदा। ग्रह है और खाना नंबर 2 खाली है तो मन्दिर नहीं जाना चाहिए और नाही कोई तीर्थ यात्रा करनी चाहिए अगर तीर्थ यात्रा करनी पड़ जाय जैसे परिवार के साथ वैष्णो देवी मंदिर गए तो तीर्थ यात्रा ना मान कर पिकनिक स्पॉट / घूमने फिरने के हिसाब से जाना चाहिए यदि खाना नंबर 8 और 12 में आपस में शत्रु ग्रह हों और खाना नंबर 2 खाली है तो भी उपरोक्त बातें ही माननी पड़ेगी जैसे खाना नंबर 8 में शनि देव हैं और खाना नंबर 12 में चंद्र है तथा खाना नंबर 2 खाली है अगर खाना नंबर 2 में बुध है या खाना नंबर 4/7/10 में बृहस्पति है तो भी मन्दिर और तीर्थ यात्रा से दूर रहना नेक फल देगा खाना नंबर 2 का बुध या खाना नंबर 7 के ब्रहस्पति वाले जातक को तो घर में मन्दिर ही नहीं रखना चाहिए अर्थात् भगवान इनको समय पर सब कुछ देता है लेकिन जब तक मांगेगे तब तक कटौती रहेगी एक बात और जितने भी ग्रहों की स्तिथि के बारे में ऊपर लिखा गया है उनके साथ और ग्रह हैं या नहीं इससे कोई मतलब नहीं है

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

✴️विजय श्री हिंदू पंचांग-26.01.2022✴️ 🕉️शुभ बुधवार✴️✴️शुभ प्रभात् 🕉️ श्री ज्योतिष सेवा संस्थान भीलवाड़ा (राज.) 74.30✴️मध्यमान✴️75.30 जन्मकुंडली वर्षफल राशि रत्न वास्तु विश्लेषण शिक्षा नौकरी आजीविका विवाह दांपत्य सुख विद्या सिद्धि,व्यापार वृद्धि,पदोन्नति (सटीक जानकारी✴️प्रभावी समाधान) ✴️♒♒♒✴️♒♒♒✴️ ___________________________________ -विभिन्न शहरों के लिये रेखांतर(समय) संस्कार- (लगभग-वास्तविक समय के समीप) दिल्ली +10मिनट--------- जोधपुर -6 मिनट जयपुर +5 मिनट------ अहमदाबाद-8 मिनट कोटा +5 मिनट------------- मुंबई-7 मिनट लखनऊ +25 मिनट-------बीकानेर-5 मिनट कोलकाता +54----------जैसलमेर -15 मिनट ___________________________________ _____________आज विशेष_____________ किसी भी शुभ कार्य के लिये प्रस्थान करते वक्त महत्वपूर्ण होते हैं निम्न शगुन ___________________________________ __________दैनिक पंचांग विवरण_________ ✴️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️✴️ आज दिनांक...................... 26.01.2022 कलियुग संवत्.............................. 5123 विक्रम संवत................................ 2078 शक संवत................................... 1943 संवत्सर.................................. श्री राक्षस अयन...........................................उत्तर गोल......................................... .दक्षिण ऋतु.......................................... शिशिर मास............................................ .माघ पक्ष.............................................कृष्ण तिथि.........नवमी. रात्रि. 4.34* तक / दशमी वार...........................................बुधवार नक्षत्र......स्वाति. प्रातः 10.05 तक / विशाखा चंद्र राशि......तुला. रात्रि. 3.11* तक / वृश्चिक योग...............गंड. रात्रि. 4.07* तक / वृद्धि करण....................तैत्तिल. सायं. 5.33 तक करण.......... गर. रात्रि. 4.34* तक / वणिज ____________________________________ ✴️✴️✴️✴️✴️ नोट-जिस रात्रि समय के ऊपर(*) लगा हुआ हो वह समय अर्द्ध रात्रि बाद सूर्योदय तक का है ********************************** ____________________________________ सूर्योंदयास्त दिनमानादि अन्य आवश्यक सूचना ✴️🏵️🏵️🏵️🌞🏵️🏵️🏵️✴️ सूर्योदय..............................7.18.18 पर सूर्यास्त.............................. 6.09.57 पर दिनमान................................ 10.51.39 रात्रिमान............................... .13.08.01 चंद्रास्त....................... 12.33.15 PM पर चंद्रोदय........................ 2.07.54 AM पर राहुकाल. अपरा.12.44 से 2.06 तक(अशुभ) यमघंट......प्रातः 8.40 से 10.01 तक(अशुभ) अभिजित..... मध्या. 12.22 से 1.06 (अशुभ) पंचक.................................. आज नहीं है शुभ हवन मुहूर्त(अग्निवास)......... आज नहीं है दिशाशूल................................ उत्तर दिशा दोष निवारण...... तिल का सेवन कर यात्रा करें _____________________________________ 🌞✴️भद्रा वास शुभाशुभ विचार✴️🌞 भद्रा मेष, वृष, मिथुन, वृश्चिक के चंद्रमा में स्वर्ग में व कन्या, तुला, धनु, मकर के चंद्रमा में पाताल लोक में और कुंभ, मीन, कर्क, सिंह के चंद्रमा में मृत्युलोक में मानी जाती है यहां स्वर्ग और पाताल लोक की भद्रा शुभ मानी जाती हैं और मृत्युलोक की भद्रा काल में शुभ कार्य वर्जित होते हैं इसी तरह भद्रा फल विचार करें.. ___________________________________ ________सूर्योदय कालीन ग्रह स्थिति______ 🕉️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️🕉️ ग्रह राशि. अंश. कला. नक्षत्र चरणाक्षर सूर्य..............मकर 11°54' श्रवण, 1 खी चन्द्र...............तुला 18°23' स्वाति, 4 ता बुध...........मकर 5°55' उत्तराषाढा, 3 जा शुक्र ............धनु 17°10' पूर्वाषाढा, 2 धा मंगल...................धनु 6°59' मूल, 3 भा गुरु............कुम्भ 11°40' शतभिष, 2 सा शनि .............मकर 20°41' श्रवण, 4 खो राहु.................वृषभ 4°7' कृत्तिका, 3 उ केतु............. वृश्चिक 4°7' अनुराधा, 1 ना ___________________________________ चौघड़िया (दिन-रात)******केवल शुभ कारक ✴️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️✴️ ✴️🏵️दिन का चौघड़िया🏵️✴️. लाभ.................. प्रातः 7.18 से 8.40 तक अमृत............... प्रातः 8.40 से 10.01 तक शुभ............... पूर्वा. 11.23 से 12.44 तक चंचल............... अपरा. 3.27 से 4.48 तक लाभ..................सायं. 4.48 से 6.10 तक ✴️🏵️रात्रि का चौघड़िया🏵️✴️ शुभ....................रात्रि. 7.48 से 9.27 तक अमृत............... .रात्रि. 9.27 से 11.05 तक चंचल........रात्रि..11.05 से 12.44 AM तक लाभ.......रात्रि. 4.01 AM से 5.39 AM तक (विशेष - ज्योतिष शास्त्र में एक शुभ योग और एक अशुभ योग जब भी साथ साथ आते हैं तो शुभ योग की स्वीकार्यता मानी गई है ) __________________________________ 🔱🔱🔱🔱🌞🔱🔱🔱🔱 *शुभ शिववास की तिथियां* शुक्ल पक्ष-2-----5-----6---- 9-------12----13. कृष्ण पक्ष-1---4----5----8---11----12----30. ___________________________________ ✴️🏵️🏵️🏵️✴️🏵️🏵️🏵️✴️ दिन नक्षत्र एवं चरणाक्षर संबंधी संपूर्ण विवरण जानकारी विशेष -यदि किसी बालक का जन्म गंड मूल(रेवती, अश्विनी, अश्लेषा, मघा, ज्येष्ठा और मूल) नक्षत्रों में होता है तो नक्षत्र शांति को आवश्यक माना गया है.. आज जन्मे बालकों का नक्षत्र के चरण अनुसार राशिगत् नामाक्षर. 10.05 AM तक----स्वाति--4------(ता) _________राशि तुला-पाया रजत्_________ __________________________________ 03.49 PM तक--विशाखा--1----- (ती) 09.31 PM तक--विशाखा--2------(तू) 03.11 AM तक--विशाखा--3------(ते) _________राशि तुला-पाया ताम्र _________ ___________________________________ उपरांत रात्रि तक--विशाखा--4------(तो) _________राशि वृश्चिक -पाया ताम्र________ ___________________________________ ____________आज का दिन____________ ✴️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️✴️ कल दिनांक........................26.01.2022 तिथि...................माघ कृष्णा नवमी बुधवार व्रत विशेष............पवित्र माघ स्नान व्रत जारी व्रत विशेष....................................नहीं है दिन विशेष..................राष्ट्रीय गणतंत्र दिवस विष्टि(भद्रा)...................................... नहीं है खगोलीय.....................................नहीं है सर्वा.सि.योग.................................नहीं है अमृत.सि.योग...............................नहीं है सिद्ध रवियोग................................नहीं है ____________________________________ ___अगले दिन की प्रतीकात्मक जानकारी____ ✴️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️✴️ कल दिनांक....................... 27.01.2022 तिथि...................माघ कृष्णा दशमी गुरुवार व्रत विशेष............पवित्र माघ स्नान व्रत जारी व्रत विशेष................................... नहीं है दिन विशेष...................................नहीं है विष्टि(भद्रा). अपरा. 3.28 से रात्रि 2.16* तक खगोलीय.....................................नहीं है सर्वा.सि.योग..प्रातः 8.50 से रात्रि.7.09* तक अमृत.सि.योग...............................नहीं है सिद्ध रवियोग................................नहीं है ____________________________________ _____________आज विशेष _____________ ✴️✴️✴️✴️🌞✴️✴️✴️✴️. अगर किसी की भी शुभ कार्य के लिये प्रस्थान कर रहे हैं तो काफी महत्वपूर्ण होते हैं निम्न शगुन.. दैनिक जीवन में कुछ संकेतों को शुभ और अशुभ माना जाता है। अक्सर हम देखते है कि कुछ संकेत ऐसे भी हैं, जो हमें बताते हैं कि अच्छा समय आने वाला है। प्राचीन ग्रंथ और ज्योतिषशास्त्र कहता है कि प्रकृति हमें कुछ ऐसे शुभ संकेत देती है, जो हमें बताते हैं कि जीवन में कुछ अच्छा होने वाला है। अक्सर बहुत बार ऐसा होता है लोग किसी अच्छे कार्य के निकलते और कोई छींक दे तो वो वहीं रूक जाते है। ऐसा माना जाता है कि छींक आना एक अशुभ संकेत माना जाता है, लेकिन इसमें भी शुभ संकेत छिपा होता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार, यदि सुबह नाश्ता करने बैठे हैं और छींक आ जाए, तो यह संकेत है कि कुछ अच्छा होने वाला है। अगर आप सपने में साफ पानी को देखते हैं, तो यह संकेत है कि आपको जल्द ही बड़ा धन लाभ होने वाला है। इसी तरह कपड़े उतारते समय पैसों का गिरना भी लाभ का संकेत होता है। सुबह किसी काम के लिए तैयार हो रहे हैं और घर में लगे मकड़ी के जाले में मकड़ी घूमती दिखाई दे, तो यह संकेत होता है कि आपका काम बन जाएगा। किसी नौकरी के लिए इंटरव्यू देते जाते समय यदि कोई गाय या नारियल सामने पड़ जाए, तो यह संकेत होता है कि नौकरी आपको मिल जाएगी। जब भी कभी आप पूजा करते हैं और भगवान की प्रतिमा पर रखा फूल या पत्ता आपके सामने गिर जाए, तो यह संकेत होता कि भगवान आपसे प्रसन्न हैं और जल्द ही आपकी मनोकामना पूरी होगी। शादी की बात चल रही हो और जीवनसाथी को देखने जाते समय यदि कोई स्त्री लाल साड़ी में पूरा श्रृंगार किए हुए नजर आए, तो यह संकेत होता है कि आपको श्रेष्ठ जीवनसाथी मिलने वाला है। परीक्षा के लिए जाते समय राह में कोई पुष्प पड़ा मिले, तो यह सफलता का संकेत है। सुबह उठते ही दूध या दही जैसे पदार्थ दिखना भी अच्छी किस्मत का संकेत होता है। आप रास्ते पर चल रहे हैं और रास्ते में आपको कोई सिक्का पड़ा मिलता है, तो यह संकेत होता है कि उधार दिया हुआ पैसा आपको जल्द मिलने वाला है। यह आर्थिक स्थिति मजबूत होने, धन लाभ होने का भी संकेत होता है। आप किसी जरूरी यात्रा पर जाने वाले हैं और घर से निकलते ही, आपको याद आए कि आप कुछ सामान भूल रहे हैं, तो यह बुरा समय टलने का संकेत है। ___________🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️__________ विशेष-प्रदत्त जानकारी व परामर्श शास्त्र सम्मत् दृष्टिकोण की अभिव्यक्ति मात्र है कोई भी कार्य किसी विशेषज्ञ से परामर्श लेकर ही करें... ___________________________________ 🌸✴️🌸🌸✴️🌸🌸✴️🌸 ✴️🕉️✴️आज का राशिफल✴️🕉️✴️ ✴️✴️🌞✴️✴️ मेष-(चू चे चो ला ली लू ले लो अ) आज आपकी सेहत बढ़िया रहेगी। किसी करीबी दोस्त की मदद से आज कुछ करोबारियों को अच्छा-खासा धन लाभ होने की संभावना है। यह धन आपकी कई परेशानियों को दूर कर सकता है। ग्लानि और पछतावे में वक़्त बर्बाद न करें, बल्कि ज़िन्दगी से सीखने की कोशिश करें। प्रेमी एक-दूसरे की पारिवारिक भावनाओं को समझेंगे। कार्यक्षेत्र में आप ख़ुद को ख़ास महसूस करेंगे। अपनी ख़ासियत और भविष्य की योजनाओं पर फिर से सोचने का समय। मुमकिन है कि आज आपका जीवनसाथी ख़ूबसूरत शब्दों में यह बताए कि आप उनके लिए कितने क़ीमती हैं। वृषभ-(इ उ एओ वा वी वू वे वो) आज आप नशे से दूर रहें, क्योंकि इससे आपकी नींद में खलल पड़ेगा और आप गहरे आराम से वंचित रह सकते हैं। आज आपको किसी अज्ञात स्रोत से पैसा प्राप्त हो सकता है जिससे आपकी कई आर्थिक परेशानियां दूर हो जाएंगी। ऐसे दोस्तों के साथ बाहर जाएँ, जो सकारात्मक और मददगार स्वभाव के हैं। आपका प्रिय दिन भर आपको याद करने में समय बिताएगा। अगर आप अपना नज़रिया आस-पास के ऐसे लोगों को बताएँ जो महत्वपूर्ण निर्णय लेते हों, तो आपको लाभ होगा। साथ ही आपको काम के प्रति अपने समर्पण और निष्ठा के लिए शाबाशी भी मिलने की संभावना है। तनाव से भरा दिन, जब नज़दीकी लोगों से कई मतभेद उभर सकते हैं। आपका जीवनसाथी आपको प्यार का एहसास देना चाहता है, उसकी मदद करें। मिथुन- (क की कू घ ङ छ के को ह) आज आपके पास अपनी सेहत से जुड़ी चीज़ों को सुधारने के लिए पर्याप्त समय होगा। लम्बे समय से अटके मुआवज़े और कर्ज़ आदि आख़िरकार आपको मिल जाएंगे। पुराने परिचितों से मिलने-जुलने और पुराने रिश्तों को फिर से तरोताज़ा करने के लिए अच्छा दिन है। आपके प्रिय को आपसे भरोसे और वादे की ज़रूरत है। किसी साझीदारी वाले व्यवसाय में जाने से बचें - क्योंकि मुमकिन है कि भागीदार आपका बेजा फ़ायदा उठाने की कोशिश करें। लोगों के साथ बात करने में आज आप अपना बहुमूल्य समय बर्बाद कर सकते हैं। आपको ऐसा करने से बचना चाहिए। किसी बच्चे या बूढ़े के स्वास्थ को लेकर हुई परेशानी अप्रत्यक्ष रूप से आपके वैवाहिक जीवन को प्रभावित कर सकती है। कर्क- (ही हू हे हो डा डी डू डे डो) आज के मनोरंजन में आपको बाहर की गतिविधियों और खेल-कूद को शामिल किया जाना चाहिए। धन का आगमन आज आपको कई आर्थिक परेशानियों से दूर कर सकता है। जिन्हें आप चाहते हैं, उनके साथ उपहारों का लेन-देन करने के लिए अच्छा दिन है। किसी की दख़लअंदाज़ी के चलते आपके और आपके प्रिय के रिश्ते में दूरियाँ आ सकती हैं। दूसरों को ऐसा काम करने के लिए बाध्य न करें, जो आप स्वयं न करना चाहें। दूसरों की राय को ग़ौर से सुनें- अगर आप आज वाक़ई फ़ायदा चाहते हैं तो। वैवाहिक जीवन में चीज़ें हाथ से निकलती हुई मालूम होंगी। सिंह- (मा मी मू मे मो टा टी टू टे) आज आप अपनी बीमारी के बारे में चर्चा करने से बचें। ख़राब तबियत से ध्यान हटाने के लिए कोई और दिलचस्प काम करें। क्योंकि इस बारे में आप जितनी ज़्यादा बातें करेंगे, उतनी ही ज़्यादा तकलीफ़ आपको होगी। आज आप अपने घर केे सदस्यों को कहीं घुमाने ले जा सकते हैं और आपका काफी धन खर्च हो सकता है। दोस्त शाम के लिए कोई बढ़िया योजना बनाकर आपका दिन ख़ुशनुमा कर देंगे। प्यार-मोहब्बत के मामले में जल्दबाज़ी में क़दम उठाने से बचें। आज आपके पास अपनी धनार्जन की क्षमता को बढ़ाने के लिए ताक़त और समझ दोनों ही होंगे। कार्यक्षेत्र के किसी काम में खराबी की वजह से आज आप परेशान रह सकते हैं और इस बारे में सोचकर अपना कीमती वक्त बर्बाद कर सकते हैं। आपके और आपके जीवनसाथी के दरमियान कोई अजनबी नोंकझोंक की वजह बन सकता है। कन्या- (टो प पी पू ष ण ठ पे पो) आज आपकी दूसरों के प्रति नफ़रत की भावना महंगी पड़ सकती है। यह न केवल आपकी सहन-शक्ति घटाती है, बल्कि आपके विवेक को भी ज़ंग लगा देती है और रिश्तों में हमेशा के लिए दरार डाल देती है। दीर्घावधि मुनाफ़े के नज़रिए से स्टॉक और म्यूचुअल फ़ंड में निवेश करना फ़ायदेमंद रहेगा। अपने परिवार की भलाई के लिए मेहनत करें। आपके कामों के पीछे प्यार और दूरदृष्टि की भावना होनी चाहिए, न कि लालच का ज़हर। आपके प्रिय के कड़वे शब्दों के कारण आपका मूड ख़राब हो सकता है। भले ही छोटी-मोटी बाधाओं का सामना करना पड़े, लेकिन कुल मिलाकर यह दिन कई उपलब्धियाँ दे सकता है। उन सहकर्मियों का ख़ास ध्यान रखें, जो उम्मीद के मुताबिक़ चीज़ न मिलने पर जल्दी ही बुरा मान जाते हैं। दिन को कैसे अच्छा बनाया जाए इसके लिए आपको अपने लिए भी समय निकालना सीखना होगा। अपने जीवनसाथी के किसी छोटी बात को लेकर बोेले गए झूठ से आप आहत महसूस कर सकते हैं। तुला- (रा री रू रे रो ता ती तू ते) आज आपके जीवन-साथी की सेहत को ठीक तरह से ध्यान दिए जाने और देखभाल की ज़रूरत है। धन का आगमन आज आपको कई आर्थिक परेशानियों से दूर कर सकता है। पारिवारिक सदस्य या जीवन-साथी तनाव की वजह बन सकते हैं। सिर्फ़ स्पष्ट समझ के माध्यम से आप अपनी पत्नी/पति को भावनात्मक सहारा दे सकते हैं। व्यवसायियों के लिए अच्छा दिन है, क्योंकि उन्हें अचानक बड़ा फ़ायदा हो सकता है। लोग आपके बारे में क्या सोचते हैं आज आपको इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। बल्कि आज आप खाली समय में किसी से मिलना जुलना भी पसंद नहीं करेंगे और एकांत में आनंदित रहेंगे। आपका जीवनसाथी आपको पाकर ख़ुद को ख़ुशनसीब समझता है; इन पलों का भरपूर उपयोग करें। वृश्चिक- (तो ना नी नू ने नो या यी यू) अपने मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान दें, जो आध्यात्मिक जीवन के लिए आवश्यक है। मस्तिष्क जीवन का द्वार है, क्योंकि अच्छा-बुरा सब-कुछ इसी के माध्यम से आता है। यही ज़िंदगी की समस्याएँ दूर करने में सहायक सिद्ध होता है और सही सोच से इंसान को आलोकित करता है। जिन लोगों ने किसी से उधार लिया है उन्हें आज किसी भी हालत में उधार चुकाना पड़ सकता है जिससे आर्थिक स्थिति थोड़ी कमजोर हो जाएगी। कुछ लोग आपकी झुंझुलाहट की वजह बन सकते हैं, उन्हें नज़रअंदाज़ करें। काम में धीमी प्रगति हल्का-सा मानसिक तनाव दे सकती है। आज के दिन घटनाएँ अच्छी तो होंगी, लेकिन तनाव भी देंगी - जिसके चलते आप थकान और दुविधा महसूस करेंगे। लंबे वक़्त के बाद आप अपने जीवनसाथी के साथ नज़दीकी महसूस कर पाएंगे। धनु-ये यो भा भी भू धा फा ढ़ा भे) आज आपकी जी-तोड़ मेहनत और परिवार का सहयोग इच्छित परिणाम देने में क़ामयाब रहेंगे। लेकिन तरक़्क़ी की रफ़्तार बरक़रार रखने के लिए मेहनत इसी तरह जारी रखें। जो लोग लघु उद्योग करते हैं उन्हें आज के दिन अपने किसी करीबी की कोई सलाह मिल सकती है जिससे उन्हें आर्थिक लाभ होने की संभावना है। आज का दिन ख़ुशियों से भरा रहेगा, क्योंकि आपका जीवन-साथी आपको ख़ुशी देने का हर प्रयास करेगा। शाम के लिए कोई ख़ास योजना बनाएँ और जितना हो सके, इसे उतना रुमानी बनाने की कोशिश करें। अपने घर में बिखरी चीजों को संभालने का आज आप प्लान करेंगे लेकिन आपको इसके लिए आज खाली समय नहीं मिल पाएगा। यह शादीशुदा ज़िन्दगी के सबसे ख़ास दिनों में से एक है। आप आज प्रेम की गहराई का अनुभव करेंगे। मकर- (भो जा जी खी खू खे खो गा गी) आज आप कॉफ़ी पीना छोड़ दें, ख़ास तौर पर दिल के मरीज़। आज के दिन आपको आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता अहि- मुमकिन है कि आप ज़रूरत से ज़्यादा ख़र्च करें या आपका बटुआ खो भी सकता है- ऐसे मामलों में सावधानी की कमी आपको नुक़सान पहुँचा सकती है। आपके बच्चे के पुरुस्कार वितरण समारोह का बुलावा आपके लिए ख़ुशनुमा एहसास रहेगा। वह आपकी उम्मीदों पर खरा उतरेगा और आप उसके ज़रिए अपने सपने साकार होते हुए देखेंगे। प्यार के सकारात्मक संकेत आपको मिलेंगे। काम पर लोगों के साथ मेलजोल में समझ और धैर्य से सावधानी बरतें। यात्रा और शिक्षा से जुड़े काम आपकी जागरुकता में वृद्धि करेंगे। आपका जीवनसाथी आज आपके लिए कुछ बहुत ख़ास करने वाला है। कुंभ- (गू गे गो सा सी सू से सो द) आज आपको कई महत्वपूर्ण निर्णय लेने होंगे, जिसके चलते आपको तनाव और बेचैनी का सामना करना पड़ सकता है। आज घर से बाहर बड़ों का आशीर्वाद लेकर निकलें इससे आपको धन लाभ हो सकता है। आपको अपने घर के माहौल में कुछ सकारात्मक बदलाव करने पड़ेंगे। अचानक हुई रोमांटिक मुलाक़ात आपके लिए उलझन पैदा कर सकती है। आपने भली-भांति काम किया है, इसलिए अब उसके फ़ायदे लेने का समय है। घर के छोटे सदस्यों को साथ लेकर आज आप किसी पार्क या शॉपिंग मॉल में जा सकते हैं। जीवनसाथी के साथ हँसते-खिलखिलाते, हर पल का मज़ा लेते हुए आप महसूस करेंगे कि आप किशोरावस्था में लौट गए हैं। मीन- (दी दू थ झ ञ दे दो च ची) आज हअपनी शारीरिक चुस्ती-फुर्ती को बनाए रखने के लिए आप आज का दिन खेलने में व्यतीत कर सकते हैं। आप ख़ुद को नए रोमांचक हालात में पाएंगे- जो आपको आर्थिक फ़ायदा पहुँचाएंगे। आपके बच्चे के पुरुस्कार वितरण समारोह का बुलावा आपके लिए ख़ुशनुमा एहसास रहेगा। वह आपकी उम्मीदों पर खरा उतरेगा और आप उसके ज़रिए अपने सपने साकार होते हुए देखेंगे। समय, कामकाज, पैसा, यार-दोस्त, नाते-रिश्ते सब एक ओर और आपका प्यार एक तरफ़, दोनों आपस में खोए हुए - कुछ ऐसा मिज़ाज रहेगा आपका आज। अपनी कार्यकुशलता बढ़ाने के लिए नयी तकनीकों का सहारा लें। आपकी शैली और काम करने का नया अन्दाज़ उन लोगों में दिलचस्पी पैदा करेगा, जो आप पर नज़दीकी से ग़ौर करते हैं। टीवी, मोबाईल का इस्तेमाल गलत नहीं है लेकिन आवश्यकता से अधिक इनका उपयोग आपके जरुरी समय को खराब कर सकता है। आपका जीवनसाथी आपको प्यार का एहसास देना चाहता है, उसकी मदद करें। ___________________________________ ✴️🏵️🏵️🏵️🌞🏵️🏵️🏵️✴️ ✴️संकलनकर्त्ता✴️ ज्योतिर्विद् पं. रामपाल भट्ट श्री ज्योतिष सेवा संस्थान भीलवाड़ा (राज.) ✴️🏵️🏵️🏵️✴️🏵️🏵️🏵️✴️ ___________________________________

+16 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 30 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB