पवन सैनी
पवन सैनी Nov 26, 2021

Om shanti...

Om shanti...

+12 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 50 शेयर

कामेंट्स

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

+10 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 14 शेयर
radha Jan 26, 2022

*मां-बाप के निरादर के लिए बहु नहीं, बेटा होता है जिम्मेदार* *एक वृद्ध माँ रात को 11:30 बजे रसोई में बर्तन साफ कर रही है, घर में दो बहुएँ हैं, जो बर्तनों की आवाज से परेशान होकर अपने पतियों को सास को उल्हाना देने को कहती हैं |* *वो कहती हैं आप माँ को मना करो इतनी रात को बर्तन धोने के लिये हमारी नींद खराब होती है | साथ ही सुबह 4 बजे उठ कर फिर खट्टर पट्टर शुरू कर देती हैं सुबह 5 बजे पूजा |* *आरती करके हमें सोने नहीं देती ना रात को ना ही सुबह | जाओ सोच क्या रहे हो, जाकर माँ को मना करो |* *बड़ा बेटा खड़ा होता है और रसोई की तरफ जाता है | रास्ते में छोटे भाई के कमरे में से भी वो ही बातें सुनाई पड़ती हैं जो उसके कमरे में हो रही थी | वो छोटे भाई के कमरे को खटखटा देता है | छोटा भाई बाहर आता है |* *दोनों भाई रसोई में जाते हैं, और माँ को बर्तन साफ करने में मदद करने लगते हैं, माँ मना करती है पर वो नहीं मानते, बर्तन साफ हो जाने के बाद दोनों भाई माँ को बड़े प्यार से उसके कमरे में ले जाते हैं, तो देखते हैं पिताजी भी जागे हुए हैं |* *दोनो भाई माँ को बिस्तर पर बैठा कर कहते हैं, माँ सुबह जल्दी उठा देना, हमें भी पूजा करनी है, और सुबह पिताजी के साथ योगा भी करेंगे |* *माँ बोली ठीक है बच्चो, दोनों बेटे सुबह जल्दी उठने लगे, रात को 9:30 पर ही बर्तन मांजने लगे, तो पत्नियां बोलीं माता जी करती तो हैं आप क्यों कर रहे हो बर्तन साफ ? तो बेटे बोले हम लोगों की शादी करने के पीछे एक कारण यह भी था कि माँ की सहायता हो जायेगी। पर तुम लोग ये कार्य नहीं कर रही हो कोई बात नहीं हम अपनी माँ की सहायता कर देते हैं।* *हमारी तो माँ है इसमें क्या बुराई है, अगले तीन दिनों में घर में पूरा बदलाव आ गया | बहुएँ जल्दी बर्तन इसलिये साफ करने लगीं कि नहीं तो उनके पति बर्तन साफ करने लगेंगे | साथ ही सुबह वो भी पतियों के साथ ही उठने लगीं और पूजा आरती में शामिल होने लगीं |* *कुछ दिनों में पूरे घर के वातावरण में पूरा बदलाव आ गया | बहुएँ सास ससुर को पूरा सम्मान देने लगीं |* *माँ का सम्मान तब कम नहीं होता जब बहुऐं उनका सम्मान नहीं करतीं | माँ का सम्मान तब कम होता है जब बेटे माँ का सम्मान नहीं करते या माँ के कार्य में सहयोग ना करें ।* *जन्म का रिश्ता है। माता पिता पहले आपके हैं।*

+3 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 23 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Ramesh agrawal Jan 26, 2022

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Ramesh agrawal Jan 26, 2022

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 8 शेयर
Pritam Chhabariy Jan 26, 2022

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 2 शेयर

20 डिग्री में हमें ठंड लगनें लगती है.. 16 डिग्री में हम गर्म कपड़े पहनते हैं.. 12 डिग्री में हम मफलर आदी लगाते हैं.. 8 डिग्री में हम उसके बाद भी कंपनें लगते हैं. 4/5 डिग्री में रजाई से बाहर नहीं निकलते.. 1/2 डिग्री में घरों में अलाव जलनें लगते हैं.. 0 डिग्री पर पानीं जम जाता है.. -1/2 डिग्री पर हमारी जबान लड़खड़ानें लगती है.. -5/8 डिग्री पर ... -10/12 डिग्री पर... -15/18 डिग्री पर सोचिये... -20 डिग्री पर सियाचीन में भारतीय सैनिक भारत की सीमाओं की रक्षा करते हैं.... पूरी मुस्तैदी के साथ 7-12 किलों की बंदूक और करीब 20 किलो की रसद अपनें कंधों पर उठाये... घुटनें तक बर्फ में - ताकी हम अपनीं स्वतंत्रता का आनंद उठा सकें..........!! ताकी हम अपनें परिवारों के साथ क्रिकेट मैच का आनंद उठा सकें........... .!!!!!!!!! ताकी हमारे बच्चे शांती के साथ स्कूल जा सके....! देश के वीर जवानो को कोटि कोटि प्रणाम और गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ। *जय हिन्द जय हिन्द की सेना वंदे मातरम जय हिन्द जय भारत*

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
raj kamal sharma Jan 26, 2022

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 8 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB